Petrol Price Hike: क्रूड ऑयल में ग‍िरावट, फ‍िर भी महंगा होगा पेट्रोल-डीजल! इस कारण बढ़ सकते हैं रेट
trendingNow11725167

Petrol Price Hike: क्रूड ऑयल में ग‍िरावट, फ‍िर भी महंगा होगा पेट्रोल-डीजल! इस कारण बढ़ सकते हैं रेट

Latest Crude Oil Price: द‍िल्‍ली में पेट्रोल 96.72 रुपये प्रति लीटर और डीजल 89.62 रुपये प्रति लीटर ब‍िक रहा है. लेक‍िन आने वाले द‍िनों में पेट्रोल-डीजल के रेट बढ़ने की उम्‍मीद की जा रही है. इसका सबसे बड़ा कारण यह है क‍ि एक के बाद एक तेल उत्पादक देश (OPEC) प्रोडक्‍शन में कटौती कर रहा है.

Petrol Price Hike: क्रूड ऑयल में ग‍िरावट, फ‍िर भी महंगा होगा पेट्रोल-डीजल! इस कारण बढ़ सकते हैं रेट

Petrol-Diesel Price Today: देश में पेट्रोल-डीजल के रेट प‍िछले करीब एक साल से स्‍थ‍िर बने हुए हैं. प‍िछले कुछ द‍िनों से क्रूड ऑयल के रेट में लगातार ग‍िरावट दर्ज की जा रही है. ऐसे में जानकार घरेलू बाजार में भी कीमत में ग‍िरावट आने की उम्‍मीद कर रहे थे. न‍िजी कंपन‍ियों ने तो एक रुपये प्रत‍ि लीटर की कटौती भी पेट्रोल-डीजल के रेट में की थी. लेक‍िन अब तेल उत्‍पादक देशों की तरफ से उठाए गए कदम के बाद क्रूड ऑयल के रेट बढ़ने की उम्‍मीद जताई जा रही है. इसका असर आने वाले समय में घरेलू बाजार में भी देखने को म‍िल सकता 

द‍िल्‍ली में 96.72 रुपये ब‍िक रहा पेट्रोल

फ‍िलहाल द‍िल्‍ली में पेट्रोल 96.72 रुपये प्रति लीटर और डीजल 89.62 रुपये प्रति लीटर ब‍िक रहा है. लेक‍िन आने वाले द‍िनों में पेट्रोल-डीजल के रेट बढ़ने की उम्‍मीद की जा रही है. इसका सबसे बड़ा कारण यह है क‍ि एक के बाद एक तेल उत्पादक देश (OPEC) प्रोडक्‍शन में कटौती कर रहा है. ओपेक देशों की तरफ से यह कदम क्रूड ऑयल की कीमत बढ़ाने के मकसद से उठाया जा रहा है.

तेल की कीमत में आएगी बढ़ोतरी!
सऊदी अरब की तरफ से कहा गया क‍ि वैश्‍व‍िक अर्थव्यवस्था को सप्‍लाई क‍िये जाने वाले एक मिलियन बैरल प्रतिदिन (BPD) की सप्‍लाई को कम क‍िया जाएगा. इसका कारण यह है क‍ि तेल उत्पादक देशों के संगठन ओपेक+ को बढ़ती आपूर्त‍ि के कारण तेल की कीमत में गिरावट का सामना करना पड़ रहा है. सऊदी की तरफ से कहा गया क‍ि पहले दो देशों की तरफ से उत्पादन में कटौती के बावजूद भी कीमत में बढ़ोतरी नहीं होने के कारण ओपेक+ की तरफ से जुलाई में उत्पादन में कटौती करने का फैसला क‍िया गया.

2024 के अंत तक आपूर्ति घटाने पर सहमत‍ि
ओपेक+, रूस के नेतृत्व वाले पेट्रोलियम निर्यातक देशों और सहयोगियों का संगठन है. वियना में आयोज‍ित बैठक में उत्पादन नीति पर एक समझौते हुआ. इस समझौते के अनुसार 2024 के अंत तक आपूर्ति घटाने पर सहमत‍ि बनी. 1.4 मिलियन बैरल प्रति दिन. आपको बता दें ओपेक+ देशों की तरफ से से दुन‍ियाभर में करीब 40% क्रूड की आपूर्त‍ि की जाती है. अप्रैल की शुरुआत में संगठन की तरफ से 1.66 मिलियन बैरल प्रतिदिन उत्पादन घटाने की घोषणा की गई थी.

इसके बाद कीमत में तेजी आई थी. लेक‍िन ये कीमतें लंबे समय तक बरकरार नहीं रह सकीं और कुछ द‍िन बाद ही नीचे आ गईं. हफ्ते के पहले कारोबारी दिन क्रूड ऑयल के रेट में तेजी देखी जा रही है. WTI क्रूड 0.86 प्रत‍िशत की तेजी के साथ 72.60 डॉलर प्रत‍ि बैरल और ब्रेंट क्रूड चढ़कर 76.97 डॉलर प्रत‍ि बैरल पर पहुंच गया.

Trending news