चाणक्‍य नीति: इन चीजों के आगे करोड़ों रुपए की संपत्ति भी छोड़ देना बेहतर! वरना मुश्किल होगा जीना
topStories1hindi1449216

चाणक्‍य नीति: इन चीजों के आगे करोड़ों रुपए की संपत्ति भी छोड़ देना बेहतर! वरना मुश्किल होगा जीना

Chanakya Niti for Life: चाणक्य नीति में अमीर बनने के तरीके बताए हैं. साथ ही आचार्य चाणक्‍य ने 4 चीजों को पैसे के आगे बेहद कीमती बताया है. पैसे के लिए इन चीजों का त्‍याग करना जिंदगी को बदतर बना देता है. 

चाणक्‍य नीति: इन चीजों के आगे करोड़ों रुपए की संपत्ति भी छोड़ देना बेहतर! वरना मुश्किल होगा जीना

Chanakya Niti for Money in Hindi: आचार्य चाणक्‍य ने जीवन के हर पहलू को लेकर मार्गदर्शन दिया है. इसमें धन-दौलत भी शामिल है, जो जीवन के लिए बहुत जरूरी है. चाणक्‍य नीति में मां लक्ष्‍मी को प्रसन्‍न करने और अमीर बनने के तरीके बताए गए हैं. साथ ही पैसे कमाने को लेकर कुछ जरूरी नियम भी बताए हैं. आचार्य चाणक्‍य कहते हैं कि जीवन में 4 चीजों का होना इतना ज्‍यादा जरूरी है कि इनके आगे करोड़ों की संपत्ति छोड़ देना भी फायदे का सौदा है. 

इन चीजों के आगे छोड़ दें करोड़ों की संपत्ति 

सेहत: धर्म-शास्‍त्रों से लेकर तमाम मोटिवेशनल किताबों में लिखा है कि सेहत से बड़ी कोई संपत्ति नहीं है. ऐसा पैसा जो आपकी सेहत की कीमत पर मिले उस पैसे को त्‍याग देना ही बेहतर है. चाणक्‍य नीति कहती है कि दुनिया की पूरी दौलत लुटाकर भी सेहत नहीं खरीदी जा सकती है. 
 
धर्म: आचार्य चाणक्‍य कहते हैं कभी भी पैसों की खातिर धर्म को नहीं छोड़ना चाहिए. अधर्म के रास्‍ते पर चलकर कमाया गया पैसा जीवन को बर्बादी की ओर ले जाता है. वह मान-सम्‍मान, रिश्‍ते सब खो देता है. साथ ही अगले जन्‍म में भी बुरे कर्मों का फल भोगता है. 

प्रेम: वो लोग बेहद लकी होते हैं, जिन्‍हें अपने जीवन में सच्‍चा प्‍यार मिलता है. ऐसी स्थिति में प्‍यार की कीमत पर पैसे को स्‍वीकारना घाटे का ही सौदा है. प्रेम का कोई मोल नहीं होता है. प्रेम हमेशा साथ रहता है और पैसा कभी भी साथ छोड़ सकता है. इसलिए जीवन में हमेशा प्रेम और रिश्‍तों को तवज्‍जो दें ना कि धन-दौलत को. 

आत्म-सम्मान: हर व्‍यक्ति में आत्‍म-सम्‍मान का होना बहुत जरूरी है, वरना बिना आत्‍म-सम्‍मान के जीवन जीने वाले व्‍यक्ति की जिंदगी पशु की तरह है. इ‍सलिए पैसे के आगे आत्‍म-सम्‍मान से समझौता करना नुकसान का सौदा है. एक बार सम्‍मान चला जाए तो उसे वापस पाना लगभग नामुमकिन होता है. 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. ZEE NEWS इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

अपनी निःशुल्क कुंडली पाने के लिए यहाँ तुरंत क्लिक करें

Trending news