भारत ने गाजा में फौरन हिंसा रोकने की अपील की; कहा- मिले मानवीय मदद
Advertisement

भारत ने गाजा में फौरन हिंसा रोकने की अपील की; कहा- मिले मानवीय मदद

Israel-Hamas War: गाजा में इजरायल के हमले जारी हैं. ऐसे में यहां तबाही हुई है. इस मामले में भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपील की है कि गाजा में हिंसा कम करने के लिए कदम उठाए जाएं.

भारत ने गाजा में फौरन हिंसा रोकने की अपील की; कहा- मिले मानवीय मदद

Israel-Hamas War: भारत ने गाजा में फौरन तनाव कम करने और हिंसा रोकने का आह्वान किया है. भारत की स्थायी प्रतिनिधि रुचिरा कंबोज ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में कहा कि इलाके में तत्काल तनाव कम करने और हिंसा से बचा जाना चाहिए." उन्होंने "सभी बंधकों को रिहा करने, उकसाने वाली और तनाव बढ़ाने वाली कार्रवाइयों से बचने व शांति वार्ता को जल्द से जल्द फिर से शुरू करने का भी आह्वान किया.

भारत की अपील
कंबोज ने कहा, भारत आतंकवाद के सभी रूपों का हर वक्त मुखालफत करता रहा है. उन्होंने कहा, "हिंसा को और बढ़ने व वहां होने होने वाली मौतों को रोकना जरूरी है. हर परिस्थिति में अंतर्राष्ट्रीय कानून का सम्मान होना चाहिए." गाजा स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, संघर्ष में अब तक 30 हजार से ज्यादा लोग मारे गए हैं, इनमें से ज्यादातर बच्चे और महिलाएं हैं. कंबोज ने गाजा संघर्ष के फैलने के खतरों के बारे में चेतावनी दी.

मानवीय संकट गहराया
उन्होंने कहा, "मानवीय संकट गहरा गया है और क्षेत्र अस्थिरता की ओर बढ़ रहा है." इस संघर्ष की गूंज लाल सागर में भी सुनाई दे रही है, जहां हौथियों ने जहाजों पर हमला किया है और अन्य देशों द्वारा जवाबी हमला किया गया है. लेबनान में इजराइली सेना और हिजबुल्लाह के बीच टकराव हुआ है. संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों ने गाजा में अकाल के आसन्न खतरे की चेतावनी दी है, जहां राहत आपूर्ति सीमित कर दी गई है.

गाजा के लोगों को मदद
कंबोज ने कहा, "भारत ने फिलिस्तीन के लोगों को मानवीय सहायता प्रदान की है और आगे भी करता रहेगा." उन्होंने कहा, "यह जरूरी है कि स्थिति को और बिगड़ने से रोकने के लिए गाजा के लोगों को मानवीय सहायता तुरंत बढ़ाई जाए." महासभा के अध्यक्ष डेनिस फ्रांसिस ने कहा कि यह बेहद अफसोसजनक है कि संस्था को गाजा के संदर्भ में सुरक्षा परिषद के वीटो के मुद्दे को उठाना पड़ा. उन्होंने तत्काल युद्धविराम और बंधकों को मुक्त करने का आह्वान किया. उन्होंने कहा, "युद्ध से हुई हर मौत हमारे सामूहिक विवेक पर एक धब्बा है."

इजरायल कर रहा जुल्म
रविवार को, अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने तत्काल युद्धविराम का आह्वान किया. उन्होंने कहा, "कम से कम छह सप्ताह के लिए तत्काल युद्धविराम होना चाहिए." इससे पहले महासभा में फिलिस्तीन के स्थायी पर्यवेक्षक रियाद मंसूर ने भूख से मरने वाले एक बच्चे की तस्वीर दिखाते हुए इज़राइल पर भुखमरी को एक हथियार के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, "इज़राइल फ़िलिस्तीनी लोगों पर बेलगाम अत्याचार कर रहा है."

औरतों के साथ हिंसा
इजराइल के स्थायी प्रतिनिधि गिलाद एर्दान ने संयुक्त राष्ट्र पर तीखा हमला बोलते हुए इसे हमास का सहयोगी बताय. उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने इजराइल पर आतंकवादी हमले के लिए हमास की निंदा नहीं की है. एर्दान ने हमास के इजराइल पर हमले के दौरान महिलाओं के साथ हुए दुर्व्यवहार का एक वीडियो भी दिखाया. उन्होंने कहा कि युद्धविराम हमास को महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार जारी रखने की हरी झंडी देगा.

Trending news