Top Ki Flop: सात साल में बनकर पूरी हुई आमिर खान की यह फिल्म, लेकिन सात दिन चलना हुआ मुश्किल
trendingNow11555450

Top Ki Flop: सात साल में बनकर पूरी हुई आमिर खान की यह फिल्म, लेकिन सात दिन चलना हुआ मुश्किल

Aamir Khan Film: आमिर खान शुरू से इस बात के लिए कुख्यात रहे कि निर्देशक के काम में हस्तक्षेप करते हैं. फिल्म आतंक ही आतंक की शूटिंग के दौरान यह बात आई कि निर्देशक की मर्जी के बिना उन्होंने गेट-अप बदल लिया. आर्थिक वजहों से फिल्म शूट होकर रिलीज में सात साल लगे और तब तक काफी कुछ बदल गया.

 

Top Ki Flop: सात साल में बनकर पूरी हुई आमिर खान की यह फिल्म, लेकिन सात दिन चलना हुआ मुश्किल

Aamir Khan Career: आमिर खान ने अपने लंबे करियर में कई हिट फिल्में दी हैं. लेकिन कुछ ऐसी फिल्में हैं, जिन्हें करके उन्हें मलाल ही हुआ है कि आखिर क्यों इसका हिस्सा बने? ऐसी एक फिल्म थी, आतंक ही आतंक. यह एक्शन क्राइम फिल्म थी और 1995 में रिलीज हुई. फिल्म पूरी तरह से विश्व क्लासिक में गिनी जाने वीली द गॉडफादर पर आधारित थी. आमिर खान, जूही चावला, रजनीकांत, अर्चना जोगलेकर, कबीर बेदी, पूजा बेदी तथा ओम पुरी की फिल्म में मुख्य भूमिकाएं थी. दिलीप शंकर ने फिल्म को डायरेक्ट किया. आतंक ही आतंक बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से फ्लॉप साबित हुई थी. साल 2000 में इस फिल्म को तमिल में डब करके रिलीज किया गया, जिसके लिए कुछ एक्स्ट्रा सीन फिल्म में जोड़े गए.

कभी सनी, कभी शाहरुख

आतंक ही आतंक को 1988 में लॉन्च किया गया था. इसे 1989 में रिलीज किए जाने की योजना थी. लेकिन फाइनेंशियल दिक्कतों के चलते फिल्म को पूरा होने में सात साल का लंबा समय लग गया. फिल्म के लिए पहले सनी देओल तथा रजनीकांत को साइन किया गया था, लेकिन बाद में सनी देओल ने यह फिल्म करने से इंकार कर दिया. शाहरुख खान को भी इस फिल्म के लिए एप्रोच किया गया. जब यह फिल्म अनाउंस हुई तो फिल्म का नाम आतंक रखा गया था लेकिन बाद में नाम बदलकर आतंक ही आतंक कर दिया गया.

शूट, फिर री-शूट
आमिर खान ने बाद में अपने एक इंटरव्यू के दौरान कबूल किया कि यह फिल्म करके उन्होंने बहुत बड़ी गलती की. उनका मानना था कि फिल्म को पूरा होने में सात साल का जो लंबा समय लगा उसके कारण फिल्म ने अपनी चमक खो दी. फिल्म के कई सीन या तो पूरी तरह से हटा दिए गए या फिर उन्हें फ्रेश लुक देने के लिए फिर से शूट किया गया. जिस कारण यह अपने मूल उद्देश्य से भटक गई. वहीं डायरेक्टर का मानना था कि आमिर खान ने फिल्म के लिए खुद ही अपना जो लुक बदला, उस कारण दर्शकों तथा समीक्षकों ने आमिर खान के साथ साथ फिल्म की भी काफी अलोचना की. दरअसल आमिर खान फिल्म में डॉन की भूमिका में थे. उन्होंने अपने रोल में फिट होने के लिए मार्केट से एक विग खरीद ली. निर्देशक दिलीप शंकर, आमिर खान को अपसेट नहीं करना चाहते थे इसलिए उन्होंने आमिर को इस विग में शूटिंग करने की इजाजत दे दी. लेकिन बाद में निर्देशक इस बात के लिए काफी पछताए कि उन्होंने आमिर खान को मनमानी क्यों करने दी. यह फिल्म दिलीप शंकर का ड्रीम प्रोजेक्ट थी लेकिन फिल्म के फ्लॉप होने से दिलीप शंकर का ड्रीम, ड्रीम ही रह गया.

भारत की पहली पसंद ZeeHindi.com - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

 

 

Trending news