शिवराज को क्यों देना पड़ा विदाई भाषण!! कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने ली प्रेस कॉन्फ्रेंस
trendingNow,recommendedStories1/india/madhya-pradesh-chhattisgarh/madhyapradesh1891749

शिवराज को क्यों देना पड़ा विदाई भाषण!! कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने ली प्रेस कॉन्फ्रेंस

Madhya Pradesh Election 2023: कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता और एमपी कांग्रेस मीडिया विभाग की कोऑर्डिनेटर डॉक्टर रागिनी नायक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया क्यूं सीएम शिवराज सिंह को विदाई भाषण देना पड़ा. उनकी स्थिति पार्टी में सही नहीं है. प्रदेश में बीजेपी की ही सियासी जमीन बची नहीं है. 

शिवराज को क्यों देना पड़ा विदाई भाषण!! कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने ली प्रेस कॉन्फ्रेंस

MP Assembly Election: कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता रागिनी नायक ने बीजेपी पर जमकर हल्ला बोला. साथ ही उन्होंने सूबे के सीएम शिवराज सिंह को लेकर कहा कि बीजेपी में उनकी हालत ठीक नहीं है. कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने शिवराज सिंह पर निशाना साधते हुए कहा प्रदेश में बीजेपी की सियासी जमीन नहीं बची है. भोपाल कार्यकर्ता सम्मेलन में एक बार भी प्रधानमंत्री मोदी ने सीएम का नाम नहीं लिया. बीजेपी में शिवराज सिंह चौहान की फजीहत हो रही है. शिवराज पर अपनी ही पार्टी विश्वास नहीं कर रही, प्रदेश की जनता क्या खाक विश्वास करेगी. 

BJP शिवराज से कन्नी काट रही 
रागिनी ने ताना मारते हुए कहा' बीजेपी की तीन सूची निकालने के बाद भी सूची में शिवराज का नाम नहीं आया.  उनके धुर विरोधियों का नाम आ गया, लेकिन शिवराज सिंह का नाम अभी तक नहीं आया. पता नहीं उनका नाम आएगा भी या नहीं. शिवराज सिंह 18 साल से सीएम हैं, इसके बावजूद भाजपा उन्हें चेहरा बनाने से कन्नी काट रही है. जब भी मीडिया यह सवाल पूछती है कि भाजपा का चेहरा कौन होगा, तो यह कह दिया जाता है कि भाजपा ही चेहरा है.  शिवराज को आखिर क्यों विदाई भाषण देना पड़ा. अफसर के सामने शिवराज सिंह भावुक हो रहे, क्योंकि वह जान गए हैं कि अफसर के मीटिंग लेने का मौका अब नहीं मिलेगा.  इस दौरान उज्जैन के रेप केस मामले को लपेटते हुए उन्होंने कहा कि देश में सबसे अधिक बलात्कार की वारदातें मध्य प्रदेश में हो रही हैं. उज्जैन की घटना का जिक्र करते हुए रागिनी बोलीं महाकाल की नगरी में हुई घटना ने पूरे देश को पीड़ा पहुंचाई. 

नरेन्द्र मोदी पर हमला
रागिनी ने आगे पीएम मोदी को लेकर कहा नरेन्द्र मोदी मप्र आते हैं और उनकी एक खासियत है वो काम से ज्यादा नाम पर विश्वास करते हैं. कांग्रेस की बनाई हर चीज का नाम बदलने में उनको महारथ हासिल है. वो नतीजों में नहीं नजारों में विश्वास करते हैं. इसके बावजूद वे शिवराज सिंह का नाम लेने से तक किनारा कर लेते हैं. एक बार भी सिटिंग चीफ मिनिस्टर का नाम नहीं ले सकते.  काम तो गिनवा नहीं सकते. काम गिनवाएंगे तो वोट कट जाएगा. बता दें कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता रागिनी नायक को कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के लिए कमान दी है. इसी के बाद रागिनी ने भोपाल में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय में पीसी ली. 

Trending news