UP Nagar Nikay Chunav 2022 : यूपी नगर निकाय चुनाव में जीत के लिए BJP विधानसभा चुनाव के फार्मूले को दोहराएगी
trendingNow,recommendedStories0/india/up-uttarakhand/uputtarakhand1484095

UP Nagar Nikay Chunav 2022 : यूपी नगर निकाय चुनाव में जीत के लिए BJP विधानसभा चुनाव के फार्मूले को दोहराएगी

UP municipal election 2022 : उत्तर प्रदेश नगर निगम, नगरपालिका औऱ नगर पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान 1-2 दिनों के भीतर हो सकता है. बीजेपी नगर निकाय चुनाव रणनीति को धार देने में जुटी है. 

 

UP Nagar Nikay Chunav 2022 : बीजेपी की तैयारियां तेज

UP Nagar Nikay Chunav 2022 : यूपी नगर निकाय चुनाव में बीजेपी विधानसभा चुनाव के फार्मूले को दोहराने की तैयारी कर रही है. भाजपा फरवरी में आयोजित विधानसभा चुनाव 2022 (Vidhansabha Chunav 2022) की तर्ज़ पर अलग अलग मोर्चो के सम्मेलन आयोजित करेगी. पिछड़ा वर्ग (OBC),अल्पसंख्यक, अति पिछड़ा वर्ग,व्यापारी, युवा, किसान और महिला सम्मेलन पार्टी की ओर से आयोजित किए जाएंगे. हर नगर निगम में जाति बाहुल्यता के हिसाब से ये सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे. विधानसभा चुनाव में बीजेपी गठबंधन ने 255 सीटें जीती थीं. जबकि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) तमाम प्रयासों के बावजूद 111 पर सिमट कर रह गई थी. ऐसे सम्मेलनों के जरिये पार्टी काफी हद तक इन वर्गों की नाराजगी दूर करने में कामयाब हुई थी.

यूपी नगर निकाय चुनाव में आरक्षण के सवाल पर सरकार ने मांगी मोहलत, तारीखों का ऐलान नहीं

बीजेपी में निकाय चुनाव में नगर निगम महापौर (Nagar Nigam Mayor) , नगर पालिका अध्यक्ष (Nagar Palika Adhyaksh) , पार्षद के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हो गई है.18 दिसंबर तक प्रदेश कार्यालय में रोजाना बैठकें चलेंगी. बीजेपी सहकारिता प्रकोष्ठ, जिला और संगठन की समितियों की बैठकें हो रही हैं. बीजेपी ने जिला स्तर पर 13 सदस्यीय चयन समिति बनाई है, जो चुनाव उम्मीदवार तय करने में आखिरी फैसला लेगी. पार्टी के लखनऊ मुख्यालय औऱ पार्टी कार्यालयों पर भी भीड़ भी जुटने लगी है. 

BJP बनाएगी स्क्रीनिंग कमेटी,जानें जिले में कौन चुनेगा नगर निगम, नगरपालिका प्रत्याशी

यूपी में योगी आदित्यनाथ और केंद्र में पीएम मोदी की अगुवाई वाली सरकार के डबल इंजन के नारे के साथ भगवा पार्टी मतदाताओं को अपनी ओर खींचने में सफल रही. उसने यूपी में लगातार दो बार किसी भी दल के दोबारा सत्ता में वापसी न करने के 37 साल पुराने मिथक को भी तोड़ दिया था.

बीजेपी की कोशिश है ट्रिपल इंजन सरकार की ताकत को कायम रखने की है. वो शहरी इलाकों में अपनी पकड़ कायम रखना चाहती है. इन सम्मेलनों के जरिये पार्टी लगातार चुनावी चकल्लस से सुस्त हो चुके कार्यकर्ताओं में भी जोश भरने की कोशिश करेगी. सीएम योगी पहले ही नगर निकाय चुनाव के दौरान रोड शो औऱ जनसभाएं करने का संकेत दे चुके हैं. चुनावी घोषणा से पहले ही उन्होंने एक दर्जन से भी ज्यादा जिलों में हजारों करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास या उद्घाटन किया है. साथ ही प्रबुद्ध सम्मेलनों में भी हिस्सा लिया है.

उल्लेखनीय है कि इस बार शाहजहांपुर समेत 17 नगर निगम में मेयर पद के लिए चुनाव होगा. इसमें दो सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित की गई हैं. इसमें से एक सीट महिला के लिए रिजर्व की गई है. उत्तर प्रदेश नगर निगम में 4 सीटें पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित हैं. इसमें दो सीटें महिला के लिए रिजर्व रखी गई हैं.

यूपी में 200 नगर पालिका परिषद की सीटें हैं. इसमें अनुसूचित जाति के लिए 27 सीटें आरक्षित हैं. पिछड़ा वर्ग के लिए 54 रिजर्व हैं, इसमें से 79 सीट अनारक्षित हैं. महिलाओ के लिए 40 सीट आरक्षित रखी गई हैं. 17 नगर निगमों में से फिरोजाबाद, गाजियाबाद, लखनऊ, कानपुर, गोरखपुर, वाराणसी, बरेली, और शाहजहांपुर सीट सामान्य रखी गई है. 

नगर पंचायत अध्यक्ष के लिए 545 सीटों की बात की जाए तो अनुसूचित जाति के लिए 73 सीट सुरक्षित हैं. अनुसूचित जनजाति (महिला) के लिए 1 सीट, पिछड़ा वर्ग के लिए 147 सीटें आरक्षित हैं. अनारक्षित सीटें 217 हैं, जबकि महिला के लिए 107 सीटें आरक्षित रखी गई हैं.

UP Nagar Nikay Chunav 2022: मतदाता ने रखी अनोखी शर्त, वोट पाना है तो पहले 'ये करके दिखाओ'

 

Trending news