जयपुर में यातायात व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए इंस्टॉल किया जा रहा पब्लिक ऐड्रेसिंग सिस्टम
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1880594

जयपुर में यातायात व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए इंस्टॉल किया जा रहा पब्लिक ऐड्रेसिंग सिस्टम

Jaipur News : राजधानी जयपुर में यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए और वाहन चालकों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए ट्रैफिक पुलिस द्वारा राजधानी के मुख्य चौराहों पर पब्लिक ऐड्रेसिंग सिस्टम को इंस्टॉल किया जा रहा है. 

 

जयपुर में यातायात व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए इंस्टॉल किया जा रहा पब्लिक ऐड्रेसिंग सिस्टम

Jaipur : राजधानी जयपुर में यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए और वाहन चालकों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए ट्रैफिक पुलिस द्वारा राजधानी के मुख्य चौराहों पर पब्लिक ऐड्रेसिंग सिस्टम को इंस्टॉल किया जा रहा है. जयपुर पुलिस कमिश्नर बीजू जार्ज जोसेफ के निर्देश पर पहल करते हुए राजधानी के नारायण सिंह सर्किल, रामबाग सर्किल, जेडीए सर्किल और 200 फीट चौराहे पर सिस्टम को लगाने की कवायत शुरू कर दी गई है.

राजधानी के प्रमुख चौराहों पर जाम की जो स्थिति उत्पन्न होती है उसके पीछे के कुछ कारण वाहन चालकों की लापरवाही, नो पार्किंग में वाहन पार्क करना और गलत लेन में वाहन चलाना आदि हैं. ऐसे में चालकों की उनकी गलती से तुरंत रूबरू कराने और व्यवस्था को ठीक करने के लिए पब्लिक ऐड्रेसिंग सिस्टम को पुख्ता किया जा रहा है. 

लगाया जा रहा  पब्लिक एड्रेसिंग सिस्टम 

एडिशनल पुलिस कमिश्नर ट्रैफिक एंड एडमिनिस्ट्रेशन राहुल प्रकाश ने बताया कि राजधानी के तमाम प्रमुख चौराहों पर माइक से लैस पब्लिक एड्रेसिंग सिस्टम लगाया जा रहा है. जिसके जरिए चालकों को अनाउंस कर किस तरह से पंक्तिबद्ध वाहनों की पार्किंग निर्धारित स्थान पर की जाए, इसके बारे में जानकारी दी जाएगी. इसके साथ ही शहर में निकलने वाली रैली, जुलूस और वीआईपी मूवमेंट के दौरान किस तरह से यातायात का संचालन या डायवर्जन करना है इसकी जानकारी चालकों को दी जाएगी.

चालकों को दी जाएगी जानकारी 

पब्लिक ऐड्रेसिंग सिस्टम के जरिए ऐसे मार्ग जहां पर तिपहिया और बड़े वाहनों का प्रवेश बैन है इसकी जानकारी भी चालकों को दी जाएगी. अगर ऐसे क्षेत्र में कोई वाहन चालक गलती से आ भी जाता है तो उसे कहां से यू टर्न लेना है इसकी जानकारी भी पब्लिक ऐड्रेसिंग सिस्टम के जरिए अनाउंस कर उसको दी जाएगी. फिलहाल राजधानी के प्रमुख चौराहों पर अभी इस सिस्टम को लगाया जा रहा है और भविष्य में इसका विस्तार किया जाएगा. 

जन सहयोग व बजट के आधार पर आगे की प्लानिंग की जाएगी और पूरे शहर को इस सिस्टम से कवर करने का प्रयास किया जाएगा. जयपुर ट्रैफिक पुलिस द्वारा शहर की यातायात व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने की दिशा में पब्लिक ऐड्रेसिंग सिस्टम को इंस्टॉल करने की पहल की जा रही है. देखना होगा जयपुर की जनता के लिए यह सिस्टम कितना कारगर सिद्ध होता और क्या जनता को इसके जरिए राहत मिल पाती है.

Reporter- Vinay Pant

यह भी पढ़ें...

किस उम्र तक पिता बन सकते हैं पुरुष...?

 

Trending news