Chhattisgarh News: शौच के लिए बाहर गई छात्राएं तो हाथों पर डाला गया गर्म तेल, शिक्षा विभाग ने दिए जांच के आदेश
trendingNow,recommendedStories1/india/madhya-pradesh-chhattisgarh/madhyapradesh2001483

Chhattisgarh News: शौच के लिए बाहर गई छात्राएं तो हाथों पर डाला गया गर्म तेल, शिक्षा विभाग ने दिए जांच के आदेश

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh News) के कोंडागांव में एक स्कूल में छात्राओं के हाथ पर गर्म तेल डालने का मामला सामने आया है. स्कूल से बाहर शौच के लिए जाने पर ऐसा किया गया है. घटना की सूचना शिक्षा विभाग में लगते ही जांच का आदेश दे दिया गया है. 

Chhattisgarh News: शौच के लिए बाहर गई छात्राएं तो हाथों पर डाला गया गर्म तेल, शिक्षा विभाग ने दिए जांच के आदेश

चंपेश जोशी/ कोंडागांव: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh News) के कोंडागांव से एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है. बता दें कि यहां पर स्कूली छात्राओं के हाथ पर बाहर शौच के लिए जाने पर गर्म तेल डाला गया है. घटना के बाद इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसके बाद मामले को संज्ञान में लेकर शिक्षा विभाग ने जांच का आदेश दे दिया है. बता दें कि लगभग 25 छात्राओं के साथ ऐसा काम किया गया है. 

क्या है पूरा मामला 
कोंडागांव जिले के केरावाही स्कूल में अध्ययन कर रहे छात्राओं के पालकों ने बताया की शिक्षकों की उपस्थिति में शौचालय के बाहर शौच करने का स्कूली छात्राओं पर आरोप लगाया गया. इसके बाद देखते ही देखते मध्यान भोजन के किचन से गर्म तेल बच्चों ने एक दूसरे पर डालना शुरू कर दिया. जिसकी वजह से लगभग 25 बच्चों के हाथ में छाले पड़ गए हैं. 

मौजूद थी टीचर 
मिली जानकारी के अनुसार पता चला है कि यह पूरी घटना  स्कूल के शिक्षिकाओं के सामने ही हुई. इसके अलावा कहा जा रहा है कि स्कूल लीडर के द्वारा आदेश जारी किए गए थे कि सभी बच्चों के हाथों में गर्म तेल डाले जाएंगे. जिसके बाद ये कारनामा हुआ और देखते ही देखते 25 बच्चों के हाथों में गर्म तेल डाला गया ताकि वो सच बताए. साथ ही साथ पता चला है कि किसी के द्वारा लगातार शौचालय के सामने ही गंदगी कर दी जाती थी, जिसका आरोप छात्राओं पर लगाया जा रहा था. 

वीडियो हुआ वायरल 
पूरी घटना का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया तब जाकर ये मामला शिक्षा विभाग के संज्ञान में आया. इसके बाद शिक्षा विभाग की तरफ से आनन - फानन में जांच टीम गठित कर दी गई है. अब पूरे मामले की जांच कर इसका प्रतिवेदन जिला शिक्षा अधिकारी को सौंपा जाएगा. जिसके बाद दोषियों के ऊपर कार्रवाई भी की जाएगी. अब देखने वाली बात होगी की जांच में क्या साक्ष्य सामने आते हैं. 

Trending news