श्रीगंगानगर प्रशासन मौन क्यों? पानी की डिग्गी बन सकती है 4 गांवों के लिए परेशानी का सबब
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1794905

श्रीगंगानगर प्रशासन मौन क्यों? पानी की डिग्गी बन सकती है 4 गांवों के लिए परेशानी का सबब

Sriganganagar News: श्रीगंगानगर के अनूपगढ़ क्षेत्र में घग्घर नदी का पानी पहुंच चुका है, और घग्घर नदी में पानी का स्तर बढ़ता ही जा रहा है. एक और प्रशासन घग्घर नदी के बहाव क्षेत्र में अवैध बंधों को हटवाने की कार्रवाई कर रहा है, वहीं दूसरी ओर गांव 63 जीबी में घग्घर नदी के बहाव क्षेत्र में बनी पानी की डिग्गी ग्रामीणों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है.

 

श्रीगंगानगर प्रशासन मौन क्यों? पानी की डिग्गी बन सकती है 4 गांवों के लिए परेशानी का सबब

Sriganganagar News:  श्रीगंगानगर के अनूपगढ़ क्षेत्र में  नदी के बहाव क्षेत्र में बनी पानी की डिग्गी जमीनी स्तर से लगभग 2-3 फीट ऊंची है, जिससे घग्घर नदी के पानी के बहाव में समस्या आ रही है.ग्रामीणों के अनुसार अगर इस डिग्गी की दीवारों को नहीं हटाया जाता तो नदी का पानी उनके खेतों में पहुंच जाएगा और 4 गांवों के ग्रामीणों के घरों को भी नुकसान पहुंच सकता है.

जल स्तर बढ़ते ही खेतों में पहुंचाएगा नदी का पानी

घग्घर नदी में पानी का स्तर बढ़ते देख काफी ग्रामीण अपने खेतों की सुरक्षा में जुटे हुए हैं. ग्रामीण बेअंत सिंह ने बताया कि अगर घग्घर नदी का पानी बढ़ जाता है, तो पानी खेतों में घुस जाएगा. जिसमें सैकड़ों बीघा भूमि में खड़ी फसल खराब हो सकती है.

उन्होंने बताया कि कुछ ढाणिया और गांव के कुछ घर भी घग्घर नदी के पानी की चपेट में आ सकते हैं. किसान रघुवीर सिंह ने बताया कि घग्घर नदी के पानी को खेतों में घुसने से रोकने के लिए खुद के स्तर पर ही बांध बनाए जा रहे हैं, ताकि किसानों की फसलों को नुकसान न पहुंचे.

प्रशासन पर लगाए आरोप

बेअंत सिंह ने बताया कि 4 दिन पूर्व प्रशासन को समस्या से अवगत करवाया था तो मौके पर एसडीएम,तहसीलदार तथा सिंचाई विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे थे. मौके पर एसडीएम के द्वारा मौखिक निर्देश दिए गए थे कि जमीनी स्तर से ऊपर बनी डिग्गी की दीवारों को तोड़ दिया जाए. मगर सिंचाई विभाग के अधिकारियों के द्वारा कोई भी कार्रवाई नहीं की गई.

 ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि प्रशासन ने डिग्गी मालिक से मिलीभगत कर डिग्गी की दीवारों को नहीं तोड़ा.एसडीएम ने बताया कि ग्रामीणों के द्वारा सूचना दिए जाने पर मौका मुआयना किया था मौका मुआयना करने के पश्चात सिंचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया था कि नियमानुसार आवश्यक कार्रवाई की जाए. उन्होंने बताया कि मौके पर टीम भेजी जाएगी और आवश्यकता अनुसार कार्रवाई की जाएगी.

जिला रिपोर्टर-कुलदीप गोयल

ये भी पढ़ें- करीना के लाडले तैमूर अली खान ने मांगे गुलाब जामुन, लोग बोले- गजब! इसे हिंदी आती है

 

Trending news