शिव की नगरी में नंगे पैर चले पांव-पांव वाले भैया, कहा-निमंत्रण देने आया हूं
trendingNow,recommendedStories1/india/madhya-pradesh-chhattisgarh/madhyapradesh1382086

शिव की नगरी में नंगे पैर चले पांव-पांव वाले भैया, कहा-निमंत्रण देने आया हूं

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दशहरा का पर्व उज्जैन में मनाया, इस दौरान सीएम शिवराज ने पत्नी के साथ बाबा महाकाल की विशेष पूजा अर्चना की, जबकि वह बाबा महाकाल की सवारी में भी शामिल हुए, जहां उन्होंने लोगों को पीएम मोदी के कार्यक्रम में शामिल होने का निमंत्रण भी दिया. 

शिव की नगरी में नंगे पैर चले पांव-पांव वाले भैया, कहा-निमंत्रण देने आया हूं

राहुल सिंह राठौड़/उज्जैन। देश भर में विजयदशमी का पर्व धूमधाम से मनाया गया, महाकाल की नगरी उज्जैन में भी विजयदशमी के पर्व पर अलग ही आनंद और उत्साह दिखाई दिया, बरसते पानी में ही बाबा महाकाल की सवारी निकाली गई, जिसमें सीएम शिवराज सिंह चौहान भी सपत्नीक शामिल हुए. उन्होंने पहले महाकाल मंदिर में पूजा की उसके बाद उन्होंने परंपरा का निर्वहन करते हुए शमी वृक्ष का पूजन अर्चन किया. इसके बाद सीएम शिवराज ने लोगों को पीएम मोदी के कार्यक्रम में आने का निमंत्रण भी दिया. इस दौरान सीएम शिवराज सवारी में नंगे पेर ही चलते हुए नजर आए. 

सवारी में पहुंचे लोगों को दिया निमंत्रण 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाबा महाकाल की सवारी में पहुंचे लोगों को 11 अक्टूबर को पीएम मोदी द्वारा ''महाकाल लोक'' लोकार्पण कार्यक्रम में आने का निमंत्रण दिया. इस दौरान सीएम शिवराज ने भगवा ध्वज उठाया और झांझ मंजीर बजाते हुए रावण दहन आयोजन स्थल पहुंचे, जहां बरसते पानी में उन्होंने आयोजन स्थल पर प्रभु राम लक्ष्मण हनुमान को तिलक लगाया उनके चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लिया और अपना वक्तवय दिया 

सीएम ने कहा की असत्य बोलेने की बुराई, दुसरो के अहित की बुराई, नशे से मुख्ति की बुराई पर विजयी पाओ प्रभु राम जरूर आशीर्वाद देंगे. सीएम ने कहा कि गंदगी पर काफी हद तक हमने विजय प्राप्त की है. अब नशे के अवैध कारोबार करने वालो को सरकार छोड़ेगी नहीं, इसलिए आप भी समाज को नशा मुक्त करने की भूमिका निभाओ. सीएम ने सभी लोगों सो पीएम के कार्यक्रम में शामिल होने की अपील भी की. 

पूरे विश्व को आमंत्रित करता हूं 
सीएम शिवराज ने शिप्रा नदी किनारे कार्तिक मैला ग्राउंड में जहां पीएम मोदी की जनसभा होनी है, वहां जाकर भी व्यवस्थाओं का जायजा लिया, सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री 5:30 बजे महाकाल की नगरी में हेलीपेड पर उतरेंगे और बाबा के दर्शन कर लोकार्पण करेंगे, फिर जनसभा को संबोधित करेंगे आप सभी इस आयोजन में शामिल हो, जो नही आ सकते वे घर घर दीप जलाए, मंदिरों में पूजा करे और उत्साह मनाए में तीन लोक से न्यारी इस नगरी से में पूरे विश्व को आमंत्रित करता हूं. बता दें कि पीएम मोदी 11 अक्टूबर को ''महाकाल लोक'' का लोकार्पण करने पहुंच रहे हैं. 

बाबा महाकाल की निकली सवारी 
दशहरा पर्व पर हर साल बाबा महाकाल की सवारी निकलती है, भगवान महाकाल चांदी की पालकी में सवार होकर शमी वृक्ष का पूजन करने उज्जैन के दशहरा मैदान पर शाही ठाठ बाट के साथ आते हैं, आज भी महाकाल मंदिर सभा ग्रह में पूजन के बाद ठीक शाम 4 बजे राजाधिराज की सवारी दशहरा मैदान के लिए रवाना हुई, सर्वप्रथम बाबा महाकाल को पुलिस बल द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया, बाद में सवारी मंदिर से उज्जैन शहर के अलग-अलग मार्गों से होते हुए दशहरा मैदान पहुंची, जहां बाबा ने शमी वृक्ष की पूजा की, इस दौरान उज्जैन के लोगों ने जगह पुष्प वर्षा कर बाबा महाकाल की सवारी का स्वागत करते हुए दर्शन लाभ लिया. 

"पौराणि‍क मान्यताओं में शमी का वृक्ष बड़ा ही मंगलकारी माना गया है" मान्यता है लंका पर विजयी पाने के बाद श्रीराम ने शमी पूजन किया था, नवरात्र में भी मां दुर्गा का पूजन शमी वृक्ष के पत्तों से करने का विधान है, गणेश जी और शनिदेव दोनों को ही शमी बहुत प्रिय है, पुजारी महेश गुरु बताते है कि ये साल भर में पहला संयोग है जब बाबा महाकाल शमी वृक्ष के पूजन के बाद मन्दिर की और लौटते है तब प्रभु राम, लक्षमण हनुमान की सवारी का मिलन होता है, महाकालेश्वर साल में एक बार दशहरा पर्व पर ही नए शहर की और आते है. इस बार भी यह पर्व धूमधाम से मनाया गया.

ये भी पढ़ेंः यहां रावण की अस्थियां घर ले जाते हैं लोग, जानिए क्या है जली लकड़ी घर ले जाने की मान्यता

Trending news