फायदे की जगह नुकसान भी कर सकता है तांबे के बर्तन में रखा पानी, यहां समझें क्यों...
topStories1hindi1464194

फायदे की जगह नुकसान भी कर सकता है तांबे के बर्तन में रखा पानी, यहां समझें क्यों...

Copper Vessel Water Side Effects: अधिकतर लोग जानते हैं कि तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीने से सेहत को लाभ मिलते हैं. लेकिन क्या आपको ये पता है कि जरूरत से ज्यादा इसके इस्तेमाल से आपको फायदे की जगह भारी नुकसान भी हो सकता है. आइये जानें...

 

 

फायदे की जगह नुकसान भी कर सकता है तांबे के बर्तन में रखा पानी, यहां समझें क्यों...

Copper Vessel Water Side Effects: आजकल नॉर्मली लोग कांच या स्टील के बर्तन अधिक इस्तेमाल करते हैं. पहले के समय में ज्यादातर लोहा, तांबा, मिट्टी, पीतल के बतर्न इस्तेमाल किए जाते थे. इन बर्तनों को उपयोग में लाने के कई लाभ भी होते थे. लेकिन अधुनिक समय के साथ बदलाव हुआ. हमारे दादा-दादी आज भी ये बात कहते हैं, कि मिट्टी और तांबे में रखा पानी पीने से सेहत को बहुत फायदा पहुंचता है. तांबे के बर्तन में आप चाहें पानी रखकर पिएं या फिर इसमें खाना पकाएं, इससे आपके शरीर को पोषक तत्व मिल जाते हैं. वहीं स्किन और पेट से जुड़ी समस्याओं के लिए भी आप तांबे के बर्तन में पानी रखकर पी सकते हैं. इससे सेहत में काफी सुधार आता है.

हालांकि, तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने के इसते फायदे के बाद भी क्या आपने सोचा है कि ये नुकसान भी कर सकता है? जी हां, जहां एक ओर तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से लाभ मिलते हैं, वहीं दूसरी ओर इसके अधिक इस्तेमाल से आपकओ नुकसान भी पहुंच सकता है. ये कुछ लोगों के लिए ही फायदेमंद हो सकता है. आइये जानते हैं कि किन लोगों को तांबे के बर्तन में रखा पानी नहीं पीना चाहिए...

किन लोगों को नहीं पीना चाहिए तांबे का पानी?
आयुर्वेद ये बताता है, कि अगर कोई दस्त, उल्टी, मतली, गैस, सिरदर्द, जलन या रक्त बहने जैसी किसी गंभीर समस्या से जूझ रहा है, तो उन्हें तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से बचना चाहिए. इससे आपकी स्थिति और खराब हो सकती है.

विदेशों में कुछ हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि आमतौर पर एक वयस्क को दिनभर में दो से तीन ग्लास तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी चाहिए. अगर इससे  अधिक पानी पीते हैं तो दिक्कत हो सकती है. दरअसल, शरीर में तांबे की मात्रा बढ़ने से मतली, उल्टी, दस्त, गैस और सिरदर्द जैसी समस्या हो सकती है. वहीं अगर लोग इसका महीनों और वर्षों तक ज्यादा सेवन करते हैं तो लिवर को नुकसान भी पहुंच सकता है, जिससे व्यक्ति की मौत का खतरा रहता है.

किस तरह पिएं तांबे का पानी ?
तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीने का सही तरीका पता होना बहुत जरूरी है. इसके लिए आप तांबे की बोतल, जग या लोटा लें. इसमें पानी भरकर रातभर के लिए रख दें.फिर सुबह उठकर खाली पेट इस पानी को पिएं. ये ध्यान रखें कि इस बोतल पर सूरज की किरणें न पड़ें और ठंडी जगह पर रखें. अगर आप रातभर के लिए नहीं रख पा रहे तो दिन में तांबे के बर्तन में पानी भरकर 8 से 9 घंटे के लिए रखें. आप इस पानी को दिन के भोजन से पहले भी पी सकते हैं. इस तरह आपको ये पानी नुकसान नहीं करेगा. तांबे के बर्तन में रखा पानी अधिक पीने से आपको दिक्कत हो सकती है, इसलिए इस बात का ध्यान रखें. 

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.  

Trending news