Ujjain Rape Case: रेप पीड़िता के पिता का बयान, बोले एग्जाम देने के लिए गई थी बच्ची
trendingNow,recommendedStories0/zeesalaam/zeesalaam1892583

Ujjain Rape Case: रेप पीड़िता के पिता का बयान, बोले एग्जाम देने के लिए गई थी बच्ची

Ujjain Rape Case: उज्जैन रेप केस में पीड़िता के पिता का बयान आया है. उन्होंने जानकारी दी है कि वह 24 सितंबर को एग्जाम देने स्कूल गई थी, लेकिन वापस घर नहीं लौटी. पूरी खबर पढ़ें

Ujjain Rape Case: रेप पीड़िता के पिता का बयान, बोले एग्जाम देने के लिए गई थी बच्ची

Ujjain Rape Case: उज्जैन में 12 साल की बच्ची के साथ हुए रेप के मामले में अब उसके पिता का बयान आया है. जिसके बाद खुलासा हुआ है कि बच्ची 24 सितंबर से लापता थी. ज्ञात हो कि उज्जैन में एक नाबालिग बच्ची के साथ रेप हुआ और वह कई घंटों तक खून में लथपथ सड़क पर भटकती रही. इसके बाद एक पुजारी ने उसकी मदद की और पुलिस को बुलाया.

उज्जैन रेप पीड़िता के पिता ने क्या कहा?

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रेप पीड़िता के पिता ने बताया वह एग्जाम देने के लिए स्कूल गई थी. उन्होंने बताया कि उन्हें उनकी बच्ची के बारे में तब पता लगा जब उनके एक रिश्तेदार उन्हें वह वायरल वीडियो दिखाया. लड़की के पिता सतना जिले के रहने वाले हैं.

8वीं क्लास में पढ़ती है पीड़िता

पिता ने बताया कि वह 8वीं क्लास में पढ़ती है और उसका स्कूल एक किलोमीटर की दूरी पर है. 24 तारीख को जब पीड़िता वापस नहीं आई तो उनके पिता ने आसपास के इलाकों में ढूंढने की कोशिश की, लेकिन उसका कुछ पता नहीं लग पाया. 25 सिंतबर को पीड़िता के परिवार ने रिपोर्ट दर्ज कराई. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पीड़िता के अंकल ने उनके पिता को इसकी जानकारी दी.

पुलिस के मुताबिक, सीसीटीवी कैमरों में उसे उज्जैन की सड़कों पर चलते हुए देखा गया, उसके शरीर से खून बह रहा था और उसने बमुश्किल कपड़े से खुद को ढका हुआ था. इससे पहले वह जीवन खेड़ी में एक ऑटो में चढ़ी थी. नाबालिग के साथ कथित तौर पर बलात्कार किया गया और उसे शहर के दांडी आश्रम के पास फेंक दिया गया. इस मामले में पुलिस ने एक ऑटो ड्राइवर को गिरफ्तार किया था.

सीएम शिवराज ने क्या कहा?

इस मसले को लेकर गुरुवार को मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह का बयान आया. उन्होंने जानकारी दी,"जिसने मासूम बिटिया के साथ ये अपराध किया है, उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपी उज्जैन का रहने वाला है और उसका नाम भरत है. वह पकड़ने में चोटिल हो गया है. उसे सख्त सजा दी जाएगी. हम उसे सजा दिलाने में कसर नहीं छोड़ेंगे. मैं हर घंटे हालात का जायजा ले रहा था. इस तरह के अपराधी समाज में रहने के लायक नहीं है. उसने मध्यप्रदेश की आत्मा को घायल किया है."

Trending news