देहरादून में बनेंगे 300 प्लास्टिक बैंक, कचरे का ईंधन में होगा बदलाव
trendingNow,recommendedStories0/zeesalaam/zeesalaam1997703

देहरादून में बनेंगे 300 प्लास्टिक बैंक, कचरे का ईंधन में होगा बदलाव

हेदरादून में पर्यावरण की रक्षा के लिए बड़ा कदम उठाने पर विचार चल रहा है. यहां पर 300 प्लास्टिक बैंक स्थापित करने की योजना पर काम हो रहा है.

देहरादून में बनेंगे 300 प्लास्टिक बैंक, कचरे का ईंधन में होगा बदलाव

पर्यावरण रक्षा के लिए काम कर रहा देहरादून स्थित एसडीसी फाउंडेशन और एयरोस्पेस क्षेत्र की बड़ी कंपनी एयरबस संयुक्त रूप से मार्च 2025 तक शहर में 300 प्लास्टिक बैंक स्थापित करेगी. इससे प्लास्टिक कचरे के पुनर्चक्रण और इसे ईंधन में बदलने में मदद मिलेगी. एसडीसी फाउंडेशन के प्रमुख अनूप नौटियाल ने बुधवार को कहा, "शहर में अगले छह माह में 70-80 और मार्च 2025 तक 300 प्लास्टिक बैंक खोलने का लक्ष्य है." 

नौटियाल ने दोनों संगठनों के बीच सहयोगात्मक उद्यम की घोषणा करते हुए कहा कि ये प्लास्टिक बैंक स्कूलों, कॉलेजों, छात्रावासों, शोरूम, सरकारी कार्यालयों, अस्पतालों, धार्मिक स्थानों, होटलों और अपार्टमेंट वाले परिसर में स्थापित किए जाएंगे. एसडीसी फाउंडेशन प्लास्टिक कचरे को ईंधन में बदलने के लिए पहले प्लास्टिक कचरे को एकत्र करेगा फिर इसे अलग-अलग करके संसाधित करेगा. 

ख्याल रहे कि सरकारें पहले से ही प्लास्टिक से होने वाले नुक्सान के बारे में बताती रही हैं. उनका कहना है कि प्लास्टिक का जितना हो सके कम इस्तेमाल करें. इससे पर्यावरण प्रदूषण होता है. यह जानवरों के लिए भी नुकसानदेह है. गाय और कुत्ते इसे खाकर बीमार हो जाते हैं और मर जाते हैं. इसलिए सिंगल यूज प्लास्टिक का कम से कम इस्तेमाल करें. 

हालांकि लोगों का कहना है कि सरकार की तरफ से सिंगल यूज प्लास्टिक का विकल्प देना चाहिए, क्योंकि सिंगल यूज प्लास्टिक आसान और सस्ती पड़ती है. जबकि दूसरी चीजें इसके मुकाबले काफी महंगी पड़ती हैं.

इस तरह की खबरें पढ़ने के लिए zeesalaam.in पर जाएं.

Trending news