trendingPhotos2005797
photoDetails1hindi

गांव, खेत, किसान, साहूकार पर बनी थी ये फिल्म, 66 साल पहले कमाई की थी 8 करोड़, मालामाल हो गए थे मेकर्स

Low Budget Hit Movie: 66 साल पहले आई इस फिल्म को खूब पसंद किया गया. फिल्म ने उस साल 5 फिल्मफेयर अवॉर्ड में अपनी झोली में डाले तो मेकर्स को भी मालामाल कर दिया था.  

25 अक्टूबर, 1957 को हुई थी रिलीज

1/5
25 अक्टूबर, 1957 को हुई थी रिलीज

आजादी के बाद सिनेमा का विकास और समाज से जुड़े मुद्दों को पर्दे पर दिखाए जाने की कोशिश होने लगी. समाज की एक हकीकत को बयां करती ऐसी ही एक फिल्म थी. मदर इंडिया. जो 66 साल पहले 25 अक्टूबर 1957 के दिन रिलीज हुई थी. फिल्म के डायरेक्टर थे महबूब खान.

मदर इंडिया का बजा खूब डंका

2/5
मदर इंडिया का बजा खूब डंका

फिल्म उस दौर के दिग्गज सितारों से सजी थी. नरगिस, सुनील दत्त, राजेंद्र कुमार. हैरानी की बात ये कि नरगिस ने फिल्म में सुनील दत्त और राजेंद्र कुमार की मां का रोल निभाया था जबकि वो उनकी हमउम्र थीं. फिल्म गांव, किसान, खेत, साहूकाल, अकाल जैसे उस दौर के सबसे बड़े मुद्दे पर बनी थी.

फिल्म ने कमाए थे 8 करोड़

3/5
फिल्म ने कमाए थे 8 करोड़

लिहाजा उस वक्त इस कहानी को पर्दे पर देख लोग इससे रिलेट कर पाए तो ये दिलों को भा गई. देखते ही देखते फिल्म का डंका बॉक्स ऑफिस पर ऐसा बजा कि महज 60 लाख के बजट में बनी फिल्म ने उस वक्त 8 करोड़ से ज्यादा कमा डाले. 50 के दशक में ये कोई मामूली बात नहीं थी. फिल्म में नरगिस की अदाकारी ने जादू सा चला दिया था.

कमाई के आगे मुट्ठीभर ही था बजट

4/5
कमाई के आगे मुट्ठीभर ही था बजट

कहा जाता है कि ये उस वक्त इतनी पसंद की गई कि भारत की तरह से इसका नाम ऑस्कर के लिए भी भेजा गया. फिल्म कितनी जबरदस्त इसका अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि इसे हिंदी की बेस्ट फीचर फिल्म की कैटेगरी में 5वां नेशनल अवॉर्ड भी मिला.

जीते थे 5 फिल्मफेयर अवॉर्ड

5/5
जीते थे 5 फिल्मफेयर अवॉर्ड

हैरानी की बात ये कि उस साल फिल्मफेयर अवॉर्ड में भी मदर इंदिया की ही तूती बोली. बेस्ट फिल्म, बेस्ट डायरेक्टर, बेस्ट एक्ट्रेस, बेस्ट सिनेमेटोग्राफी, बेस्ट साउड डिजाइन की कैटेगरी में सारे अवॉर्ड मदर इंडिया की झोली में ही गए. फिल्म के गानों ने भी मानो जादू सा कर दिया था. आज भी फिल्म के गाने प्रांसगिक लगते हैं.

ट्रेन्डिंग फोटोज़