ट्रेनों में खत्म होगी वेटिंग लिस्ट की झंझट, सामने आया रेलवे का ये मेगा प्लान, अश्विनी वैष्णव बोले..
trendingNow11984954

ट्रेनों में खत्म होगी वेटिंग लिस्ट की झंझट, सामने आया रेलवे का ये मेगा प्लान, अश्विनी वैष्णव बोले..

Indian Railways: अगर आपने ट्रेन से यात्रा की है तो आपका वेटिंग लिस्ट की समस्या से सामना जरूर हुआ होगा. रेलवे के लिए वेटिंग लिस्ट एक बहुत बड़ी समस्या है. जिसका हल अब निकल गया है. रेल मंत्रालय रेलवे के लिए मेगा प्लान लागू कर रहा है.

ट्रेनों में खत्म होगी वेटिंग लिस्ट की झंझट, सामने आया रेलवे का ये मेगा प्लान, अश्विनी वैष्णव बोले..

Indian Railways: अगर आपने ट्रेन से यात्रा की है तो आपका वेटिंग लिस्ट की समस्या से सामना जरूर हुआ होगा. रेलवे के लिए वेटिंग लिस्ट एक बहुत बड़ी समस्या है. जिसका हल अब निकल गया है. रेल मंत्रालय रेलवे के लिए मेगा प्लान लागू कर रहा है. प्लान के पूरी तरह से लागू होने के बाद रेलवे से जुड़ी कई समस्याएं पुराने दिनों की बात हो जाएंगी. इस प्लान में ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट को खत्म करना भी शामिल है. आइये आपको बताते हैं रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रेलवे के मेगा प्लान के बारे में क्या कहा.

2029 तक खत्म हो जाएगी वेटिंग लिस्ट

रेल मंत्री अश्विनी वैष्वण ने बुधवार रेलवे के मेगा प्लान के बारे में कहा कि यात्रियों की सुविधा के लिए कई योजनाएं जल्द ही पूरी हो जाएंगी. उन्होंने बुलेट ट्रेन की शुरुआत, हादसों को रोकने के लिए कवच सिस्टम और ट्रेनों की संख्या बढ़ाने समेत कई जरूरी योजनाओं की चर्चा की. साथ ही उन्होंने कहा कि 2029 तक ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट खत्म हो जाएगी.

रेलवे का मेगाप्लान

वैष्णव के बयान से कुछ दिन पहले सूत्रों के हवाले से आई उस खबर की भी पुष्टि हो गई, जिसमें कहा गया था कि रेलवे वेटिंग लिस्ट खत्म करने की दिशा में ट्रेनों की संख्या बड़े स्तर पर बढ़ाने की योजना तैयार कर रहा है. खबर में कहा गया था कि इंडियन रेलवे टिकटों की वेटिंग लिस्ट खत्म करने के लिए अगले पांच सालों में अपने नेटवर्क में 3,000 और यात्री ट्रेनें जोड़ने की योजना बना रहा है. हालांकि, रेल मंत्री के बुधवार को आए बयान में ट्रेनों की संख्या का जिक्र नहीं है. लेकिन उन्होंने 2029 तक ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट खत्म करने की बात जरूर कही.

कवच पर काम जोरों पर

इसके अलावा रेल मंत्री ने कहा कि 2026 में बुलेट ट्रेन शुरू हो जाएगी. रेल एक्सीडेंट रोकने के लिए दिल्ली-कोलकाता और दिल्ली-मुंबई रूट पर अगले साल तक कवच सिस्टम लगाने का काम पूरा हो जाएगा. गजराज तकनीक से ट्रैक पर आए हाथियों की जान बचाई जाएगी. इसके लिए हाथियों की संख्या वाले 8 राज्यों के 700 किलोमीटर रेलवे ट्रैक पर गजराज तकनीक लगाई जा रही है.

वंदे भारत में स्लीपर कोच 2024 तक

रेल मंत्री ने कहा कि पिछले साल देश में 5243 किलोमीटर रेल ट्रैक बिछाए गए. इस साल 5500 किलो मीटर से लेकर 6 हजार किलोमीटर लंबा ट्रैक बना लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि रेल हादसों को रोकने के लिए 2016 में पहली बार कवच को अप्रूव किया गया था. इसके बाद कवच का नया वर्जन लाया गया. 2022 में इसको लगाना शुरू किया गया. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पहली स्लीपर वंदे भारत मार्च 2024 तक आ जाएगी.

Trending news