Opinion: 'अतिथि देवो भव' पर ऐसा बट्टा मत लगाइए, झारखंड में स्पेनिश महिला संग गैंगरेप से हम सब शर्मसार हैं...!
Advertisement

Opinion: 'अतिथि देवो भव' पर ऐसा बट्टा मत लगाइए, झारखंड में स्पेनिश महिला संग गैंगरेप से हम सब शर्मसार हैं...!

Spanish Woman Rape Case: स्पेनिश महिला और उसका पति कई देशों की यात्रा पर निकले हैं और वे भारत में पिछले कुछ समय से घूम रहे हैं. वे बाइक से ही कई देशों की यात्रा कर चुके हैं. फिलहाल टूरिस्ट वीजा पर भारत में हैं. भारत में ही उनके साथ वो हुआ जो कतई नहीं होना चाहिए था.

Opinion: 'अतिथि देवो भव' पर ऐसा बट्टा मत लगाइए, झारखंड में स्पेनिश महिला संग गैंगरेप से हम सब शर्मसार हैं...!

अतिथि देवो भव.. वसुधैव कुटुम्बकम.. जैसी तमाम सूक्तियां हैं, जिन्हें हम गाहे-बगाहे अपने कसीदों के खातिर पढ़ते रहते हैं. हालांकि इसका बखूबी पालन भी करते हैं और दुनिया में नाम भी कमाते हैं. लेकिन कई बार ऐसी शर्मनाक घटनाएं हो जाती हैं जिसके कारण इस साख पर बट्टा लग जाता है. ताजा उदाहरण झारखंड का है. यहां टूरिस्ट बनकर अपने पति के साथ आई एक स्पेनिश महिला के साथ गैंगरेप हो गया. एक तरफ हम जामनगर में दुनियाभर की हस्तियों को अतुल्य भारत दिखा रहे हैं तो इसी बीच झारखंड का यह केस चर्चा में है.

अगर जामनगर का उत्सव भारत की अंतरराष्ट्रीय साख से जुड़ा है तो झारखंड में उस महिला के साथ जो हुआ वह भी इसी से जुड़ा है. महिला और उसके पति का वीडियो सोशल मीडिया के जरिए पूरी दुनिया में गया है और लोग उस पर प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं. झारखंड के दुमका में एक टेंट के अंदर अपने पति के साथ ठहरी महिला के साथ गैंगरेप हुआ. मामले में नई दिली स्थित स्पेन के दूतावास ने भी जानकारी ली है और संभव है कि जल्द ही दूतावास के अधिकारी उस स्पेनिश महिला से मुलाकात करेंगे.

पति के साथ टेंट में थी और..
दरअसल यह पूरा मामला सामने ही तब आ पाया जब पीड़िता महिला ने अपने पति के साथ वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया और अपनी हालत के बारे में लोगों को जानकारी दी. इसके बाद उन्हें पुलिस अस्पताल ले गई. यह घटना तब हुई जब रांची से करीब 300 किलोमीटर दुमका के हंसडीहा थाना के पास ये स्पेनिश कपल अपनी बाइक से घूम रहा था. शुक्रवार की रात ये कपल अपने टेंट में था. महिला ने एक इंस्टाग्राम पोस्ट में घटना को लेकर लिखा है कि हमारे साथ कुछ ऐसा हुआ है कि जो कभी किसी के साथ न हो. सात लोगों ने मेरे साथ उस समय बलात्कार किया है. 

मारपीट और लूटपाट भी..
इस दौरान महिला और उसके पति के साथ मारपीट और लूटपाट भी की गई. घटना के बाद आरोपी फरार हो गए और कपल वहां से सड़क की तरफ आ गए. वहां पेट्रोलिंग पर निकली हंसडीहा थाने की पुलिस ने रात साढ़े दस बजे उन दोनों को देखा और पूछताछ की. इसके बाद पुलिस उन्हें लेकर सरैयाहाट अस्पताल पहुंची, फिर एसपी को सूचना दी गई और धीरे-धीरे पूरी जानकारी पुलिस को मिली है.

कई देशों की यात्रा पर निकले..
जिस महिला के साथ यह घटना हुई है उसके सोशल मीडिया से पता चला कि वह और उसका पति कई देशों की यात्रा पर निकले हैं और वे भारत में पिछले कुछ समय से घूम रहे हैं. वे बाइक से ही कई देशों की यात्रा कर चुके हैं. फिलहाल टूरिस्ट वीजा पर भारत में हैं. इसके बाद वे भागलपुर होते हुए नेपाल जाने वाले थे लेकिन उनके साथ दुमका में ही यह हादसा हो गया.

झारखंड सरकार पर सवालिया निशान..
इधर दुमका पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने कहा कि मामले की जांच चल रही है. इस मामले में और भी आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी. उधर मामले को लेकर झारखंड सरकार पर सवालिया निशान खड़े हो गए, मामला विधानसभा तक पहुंच गया. बीजेपी ने झारखंड विधानसभा में यह मामला उठाया और कार्रवाई की मांग की बीजेपी नेता बाबूलाल मरांडी ने भी चंपई सरकार पर निशाना साधा. 

विधानसभा में उठे तीखे सवाल..
यहां तक कि विधानसभा में कांग्रेस ने भी इस पर तीखे सवाल दागे. कांग्रेस विधायक दीपिका पांडेय सिंह ने शर्मनाक बताया. हालांकि मामले को लेकर सीएम ने जरूरी आदेश दिए हैं. पुलिस ने कहा है कि अपराधियों को जल्द पकड़ा जाएगा. इसी बीच दुमका पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने कहा कि मामले की जांच चल रही है. इस मामले में और भी आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी.

लगे हाथ झारखंड में महिलाओं के खिलाफ आंकड़े भी जान लीजिए
एक रिपोर्ट में आधिकारिक आंकड़ों के बारे में विवरण दिया है जिसमें बताया गया कि इस राज्य में महिलाओं के प्रति हिंसा बहुत ज्यादा हो रही है. झारखंड पुलिस की वेबसाइट के अनुसार झारखंड में डेली औसतन चार से अधिक महिलाओं के साथ रेप होता है. इतना ही नहीं घटना के बाद आरोपियों या दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने भी झारखंड पीछे हैं. 2015 से 2023 के बीच झारखंड में रेप और गैंगरेप की 13,533 घटनाएं अधिकारिक तौर पर दर्ज हैं.

अब सरकार चाहे किसी को हो, राज्य में या केंद्र में लेकिन ये आंकड़े भयभीत करने वाले हैं. स्पेनिश महिला के बहाने ही सही अगर महिलाओं के खिलाफ हम नहीं सुधर रहे हैं तो ये सामूहिक गलती है और इसका जिम्मेदार कौन है, इसके बारे में सोचने की जरूरत है.

Trending news