Rajasthan election 2023 : राजेश पायलट पर PM मोदी के बयान के बाद CM गहलोत बोले- गुर्जरों को भड़काने का हो रहा प्रयास
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1974919

Rajasthan election 2023 : राजेश पायलट पर PM मोदी के बयान के बाद CM गहलोत बोले- गुर्जरों को भड़काने का हो रहा प्रयास

Rajasthan Assembly Election : एक सभा के दौरान पूर्ण उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के पिता राजेश पायलट पर पीएम मोदी ने बयान दिया था, जिसको लेकर राजस्थान की राजनीति गर्मा गई है. पीएम के बयान पर अब राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कड़ा ऐतराज जताया है.

 

Rajasthan election 2023 : राजेश पायलट पर PM मोदी के बयान के बाद CM गहलोत बोले- गुर्जरों को भड़काने का हो रहा प्रयास

Ashok Gehlot on PM Modi : राजस्थान के पूर्ण उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के पिता राजेश पायलट को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए बयान के खिलाफ पहले खुद सचिन पायलट ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी. अब PM मोदी के बयान पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. सीएम गहलोत ने कहा, कि पीएम मोदी अपनी हार की वजह से इतना बौखला गए हैं, कि उन्होंने स्वर्गीय राजेश पायलट को चुनाव का मुद्दा बना दिया. गहलोत ने कहा, कि PM मोदी गुर्जर समुदाय को भड़काने का प्रयास कर रहे हैं. 

ये था पीएम मोदी का बयान

दरअसल, PM नरेंद्र मोदी ने भीलवाड़ा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, कि राजेश पायलट (Rajesh Pilot) एक बार कांग्रेस के इस परिवार की भलाई के लिए चुनौती दी थी, लेकिन यह ऐसा परिवार है, कि राजेश को तो सजा दी ही, साथ ही अब उनके बेटे सचिन को भी सजा दे रहे हैं.

सचिन पायलट ने दी थी ये प्रतिक्रिया

अपने पिता पर की गई टिप्पणी के विरोध में सचिन पायलट पीएम मोदी को करारा जवाब दिया. पायलट ने कहा, कि पीएम मोदी का बयान तथ्य से परे और लोगों का ध्यान भटकाने वाला है. उन्होंने कहा- "मेरे दिवंगत पिता ने 1998 में शरद पवार (Sharad Pawar) के साथ मिलकर सीताराम केसरी (Sitaram Kesari) के खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा था. उस समय सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) राजनीति में सक्रिय नहीं थीं. केसरी ने वो इलेक्शन जीत लिया, और बाद में पवार और मेरे पिता दोनों को कार्य समिति में नामित किया गया. एक स्वस्थ लोकतांत्रिक संगठन और राजनीतिक दल को इस तरह का काम करना चाहिए."

यह भी पढ़ें...

किस मछली को गुजरात की स्टेट फिश घोषित किया गया है?

सचिन पायलट ने आगे कहा, "जहां तक मेरा सवाल है, मुझे बहुत कम उम्र में संसद सदस्य बनने का अवसर दिया गया. मैंने कई सालों तक केंद्र और प्रदेश स्तर पर कई जिम्मेदारियां निभाई हैं. किसी को भी उनकी और उनके सियासी फ्यूचर की चिंता नहीं करनी चाहिए. मुझे पार्टी और लोगों की चिंता है, और मुझे भरोसा है कि वह मेरे भविष्य का अच्छे से ख्याल रखेंगे."

Trending news