राजस्थान में मुख्यमंत्री को लेकर फंसा पेंच, इस नए फॉर्मूले से सुलझा! वोट बैंक और जातीय समीकरण ही फैक्टर
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan2005145

राजस्थान में मुख्यमंत्री को लेकर फंसा पेंच, इस नए फॉर्मूले से सुलझा! वोट बैंक और जातीय समीकरण ही फैक्टर

राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा इसका फैसला मंगलवार को हो जाएगा, लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिर पेंच कहां फंसा हुआ है, क्या बीजेपी जातीय समीकरण पार्टी के वोट बैंक और लोकसभा चुनाव को देखते हुए क्या एक बार फिर वसुंधरा राजे पर दावा खेलेगी या किसी नए चेहरे के हाथ में मरुधरा क

राजस्थान में मुख्यमंत्री को लेकर फंसा पेंच, इस नए फॉर्मूले से सुलझा! वोट बैंक और जातीय समीकरण ही फैक्टर

Rajasthan Next CM: राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा इसका फैसला मंगलवार को हो जाएगा, लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिर पेंच कहां फंसा हुआ है, क्या बीजेपी जातीय समीकरण पार्टी के वोट बैंक और लोकसभा चुनाव को देखते हुए क्या एक बार फिर वसुंधरा राजे पर दावा खेलेगी या किसी नए चेहरे के हाथ में मरुधरा की कमान होगी?

दरअसल गुजरते वक्त के साथ अटकलें का बाजार और बड़ा होता जा रहा है, जहां मुख्यमंत्री की फेहरिस्त में हर रोज नए नाम जुड़ते जा रहे हैं. अब पार्टी सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि हाई कमान जातिय समीकरण को सजाते हुए नया मुख्यमंत्री चुनना चाहती है. माना जा रहा है कि भाजपा मूल ओबीसी या जाट समुदाय से आने वाले किसी चेहरे को भी राजस्थान की जिम्मेदारी दे सकती है.

इसमें एक नाम जाट समुदाय से आने वाले सीकर सांसद सुमेधानंद सरस्वती का भी शामिल हो गया है, फायर ब्रांड हिंदुत्व चेहरे वाले सुमेधानंद सरस्वती भी भाजपा के इस समीकरण में फिट बैठते हैं. वहीं राजपूत समुदाय से भाजपा के पास गजेंद्र सिंह शेखावत और दीया कुमारी जैसे नाम का विकल्प भी है तो वहीं अगर भाजपा एक दलित चेहरे पर दांव खेलती है तो सबसे बड़ा नाम अर्जुन राम मेघवाल का है जो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेहद विश्वस्त नेताओं में भी शुमार है. माना जा रहा है कि अगर मध्य प्रदेश में किसी ओबीसी को मुख्यमंत्री बनाया जाता है तो फिर राजस्थान में सामान्य वर्ग से किसी व्यक्ति को सीएम की कुर्सी पर बिठाया जा सकता है. 

गौरतलब है कि हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 200 में से 115 सीटों पर जीत हासिल की है. हालांकि पिछले एक सप्ताह से मुख्यमंत्री के चेहरे पर फैसला नहीं हो सका है, इसके लिए मंगलवार को 11:00 बजे विधायक दल की बैठक जयपुर स्थित भाजपा मुख्यालय पर बुलाई गई है. इस दौरान दिल्ली से केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहेंगे. माना जा रहा है कि बैठक में मुख्यमंत्री का ऐलान हो सकता है.

ये भी पढ़ें-

Jhunjhunu Chunav Result: झुंझुनूं की इस सीट पर पहली बार खिला कमल, तीन दशक बाद बृजेंद्र ओला ने भी तोड़ा मिथक

Jaipur Chunav Result: जयपुर की 19 में से 12 सीट पर भाजपा का कब्जा, इन सीटों पर जनता ने दिया हाथ को साथ

Trending news