ब्यावर: कांग्रेस से बागी मनोज चौहान ने निर्दलीय से भरा नामांकन, समर्थकों ने दिखाया दमखम
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1947833

ब्यावर: कांग्रेस से बागी मनोज चौहान ने निर्दलीय से भरा नामांकन, समर्थकों ने दिखाया दमखम

Beawar, Ajmer News: कांग्रेस पार्टी से टिकट नहीं मिलने पर पूर्व विधानसभा प्रत्याशी मनोज चौहान ने नामांकन दाखिल किया. इस दौरान समर्थकों के साथ रैली निकाली गई. 

ब्यावर: कांग्रेस से बागी मनोज चौहान ने  निर्दलीय से भरा नामांकन, समर्थकों ने दिखाया दमखम

Beawar, Ajmer News: कांग्रेस पार्टी से विधानसभा टिकट नहीं मिलने से नाराज चल रहे पूर्व विधानसभा प्रत्याशी ने आखिर सोमवार को कांग्रेस पार्टी से बगावत करते हुए निर्दलयी के रूप में अपना नामांकन दाखिल कर ही दिया, जो निर्वाचन अधिकारी कार्यालय में नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए मनोज चौहान समर्थकों के साथ रैली के रूप में पहुंचे. 

शहर के गिब्सन हास्टल से शुरू हुई रैली में बडी संखया में चौहान समर्थकों ने भाग लिया. हाथों में तिरंगा झंडा और मनोज चौहान के बैनर-तख्तियां लिए समर्थक मनोज चौहान जिंदाबाद और ब्यावर की एक ही आवाज-मनोज चौहान, मनोज चौहान सरिके नारे लगाते हुए चल रहे थे. 

यह भी पढ़ेंः Diwali 2023: राजस्थान में त्योहारी सीजन पर ट्रैफिक पुलिस की नई पहल, जान लें वरना कट सकता है चालान

रैली के साथ-साथ पैदल चल रहे चौहान ने शहरवासियों, व्यापारियों और दुकानदारों से मिलकर उनका अभिवादन करते हुए आशीर्वाद लिया. इस दौरान शहरवासियों ने उनका फूल मालाएं पहनाते हुए समर्थन भी किया. नामांकन रैली में समर्थकों को दमखम भी देखने को मिला. गिब्सन हास्टल से शुरू हुई नामांकन रैली शहीद पार्क, चांग गेट, पाली बाजार, लौहारान चौपड, एकता सर्किल, फतेहपुरिया चौपड, अजमेरी गेट, सुभाष सर्किल, एसबीआई चौराहा से होते हुए न्यायालय परिसर पहुंची.

इस दौरान मनोज चौहान ने अपने कुछ समर्थकों और अपनी दो जुडवां बेटियों अवि तथा अभि के साथ जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय पहुंचकर निर्दलीय के रूप में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. नामांकन पत्र दाखिल करवाने के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान किन मुद्दों पर चुनाव लड़ने के लिए सवाल पर चौहान ने कहा कि शहर विकास के हर एक मुद्दें पर वे चुनाव लड़ रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः कांग्रेस ने जारी की स्टार प्रचारकों की सूची, गहलोत पायलट के साथ ममता भूपेश को भी मिली जगह

वहीं, कांग्रेस से बगावत के सवाल पर उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में चुनाव लड़ने का सबको हक है और कांग्रेस लोकतंत्र की जननी रही है. अशोक गहलोत को भगवान मानने और बागी के रूप में चुनाव लड़ने की बात पर चौहान ने कहा कि भगवान के सामने भी तो नाराजगी प्रकट की जा सकती है. इस बार हर कार्यकत्र्ता का हक मारा गया है और कार्यकर्ताओं के कहने और समर्थन के चलते ही वे चुनाव लड़ रहे हैं. कांग्रेस पार्टी की और से उन्हें मनाने के लिए कोई प्रयास के सवाल पर चौहान ने कहा कि वे किसी के मोहताज नहीं है. 24 घंटे आमजन के बीच में रहते है और उनकी सीधी पकड़ है. 

Trending news