Coronavirus: एक बार फिर आ सकती है कोरोना की नई लहर, WHO ने ओमिक्रॉन के XBB वेरिएंट को लेकर चेताया
topStories1hindi1404288

Coronavirus: एक बार फिर आ सकती है कोरोना की नई लहर, WHO ने ओमिक्रॉन के XBB वेरिएंट को लेकर चेताया

Omicron sub-variant XBB: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोविड-19 के ओमिक्रॉन वेरिएंट के एक्सबीबी सब-वेरिएंट को लेकर चेतावनी दी है और कहा है कि इसकी वजह से कुछ देशों में कोरोना वायरस संक्रमण की एक और लहर आ सकती है.

Coronavirus: एक बार फिर आ सकती है कोरोना की नई लहर, WHO ने ओमिक्रॉन के XBB वेरिएंट को लेकर चेताया

Coronavirus New Wave: भारत समेत दुनियाभर के कई देशों में कोरोना वायरस (Covid-19) का संक्रमण बढ़ता जा रहा है और लगातार नए-नए वेरिएंट सामने आ रहे हैं. इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोविड-19 के ओमिक्रॉन वेरिएंट के एक्सबीबी सब-वेरिएंट (Omicron sub-variant XBB) को लेकर चेतावनी दी है और कहा है कि इसकी वजह से कुछ देशों में कोरोना वायरस संक्रमण की एक और लहर आ सकती है.

WHO ने एक्सबीबी सब-वेरिएंट को लेकर चेताया

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की मुख्य वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथ ने कहा कि सार्स-कोव-2 वायरस (SARS-CoV-2 Virus) के ओमीक्रोन स्वरूप के एक्सबीबी सब-वेरिएंट (Omicron sub-variant XBB) के कारण कुछ देशों में ‘‘कोविड-19 संक्रमण की एक और लहर (Coronavirus New Wave) आ सकती है.

कितना खतरनाक है कोरोना का नया वेरिएंट

पुणे में विकासशील देश टीका निर्माता नेटवर्क (DCVMN) की वार्षिक आम बैठक के इतर पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने स्पष्ट किया कि अभी तक किसी भी देश से ऐसे आंकड़े नहीं मिले हैं, जिससे पता चले कि संक्रमण के ये नए स्वरूप चिकित्सीय रूप से अधिक गंभीर हैं.

ओमिक्रॉन के 300 सब-वेरिएंट हैं मौजूद

डॉ. स्वामीनाथन ने कहा, 'ओमीक्रोन के 300 से अधिक सब-वेरिएंट (Omicron) हैं. मुझे लगता है कि अभी जो चिंता का सबब है, वह एक्सबीबी है, जो पुन: संयोजित वायरस है. हमने पहले भी कुछ पुन: संयोजित वायरस देखे थे. यह प्रतिरक्षा तंत्र से बचने की क्षमता रखता है, जिसका मतलब है कि एंटीबॉडी का भी इस पर असर नहीं पड़ता. इसलिए हम धीरे-धीरे एक्सबीबी के कारण कुछ देशों में संक्रमण की एक नयी लहर देख सकते हैं.

भीड़ वाली जगहों पर मास्क पहनना जारी रखें लोग : विशेषज्ञ

दिल्ली सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपये का जुर्माना नहीं लगाने का फैसला किया है. इसके बाद एक्सपर्ट्स ने लोगों को भीड़ वाली जगहों पर मास्क पहनना जारी रखने के लिए कहा है. इसके साथ ही प्रमुख सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों के डॉक्टरों ने भी लोगों को अतिरिक्ट सावधानी बरतने का सुझाव दिया है. डॉक्टर्स का कहना है कि दिल्ली में भले ही कोविड-19 के मामलों में कमी दर्ज की गई है, लेकिन वायरस का एक नया स्वरूप देखा जा रहा है, जो बेहद संक्रामक है.

ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर

Trending news