Kanhaiya Kumar: 'जितना लव लेटर लीक नहीं होता, उतने पेपर लीक होते हैं', कन्हैया कुमार ने मोदी सरकार पर बोला हमला
Advertisement

Kanhaiya Kumar: 'जितना लव लेटर लीक नहीं होता, उतने पेपर लीक होते हैं', कन्हैया कुमार ने मोदी सरकार पर बोला हमला

Kanhaiya Kumar Hindi News: देश में पेपर लीक की बढ़ती घटनाओं पर कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार ने मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है. कन्हैया ने कहा कि जितना लव लेटर लीक नहीं होता, उतने पेपर लीक होते हैं.

 

Kanhaiya Kumar: 'जितना लव लेटर लीक नहीं होता, उतने पेपर लीक होते हैं', कन्हैया कुमार ने मोदी सरकार पर बोला हमला

Kanhaiya Kumar on Modi government: कांग्रेस के छात्र संगठन NSUI के राष्ट्रीय प्रभारी कन्हैया कुमार ने देश में पेपर लीक की बढ़ती घटनाओं और बेरोजगारी को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है. कन्हैया ने कहा कि जितना लव लेटर लीक नहीं होता, उतने पेपर लीक होते हैं. कन्हैया ने कहा कि रूस में भारतीय नौजवानों को बंधक बनाकर रखा गया है, क्योंकि अपने देश में नौजवानों के लिए 'मृत काल' चल रहा है. कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर मोदी सरकार हर साल 2 करोड़ नौकरियां देती तो नौजवानों को विदेश न जाना पड़ता. कन्हैया कुमार ने कहा कि रूस के पास स्थायी सेना नहीं है और वहां की सेना कांट्रैक्ट पर चलती है. उसी तरह अब हमारे देश में भी 'अग्निवीर' का मॉडल लाया गया है. 

'रूस में 20 भारतीय बने हैं बंधक'

दिल्ली में कांग्रेस कार्यालय पर प्रेसवार्ता करते हुए कन्हैया कुमार ने कहा कि गुजरात का एक नौजवान सिविलियन वर्क के लिए रूस गया था, जहां उसकी मौत हो गई है. इसके बावजूद इस संवेदनशील मुद्दे पर चारों तरफ चुप्पी बनी हुई है. उन्होंने आरोप लगाया कि रूस में 20 भारतीय नौजवानों को बंधक बनाकर रखा गया है. फिर भी सरकार के कानों पर उन्हें छुड़ाने के लिए जूं नहीं रेंग रही.

'दूसरे देश के लिए हम क्यों शहीद हों'

कांग्रेस नेता ने सवाल उठाया कि अगर देश के नौजवान अपने देश के लिए शहादत दे रहे हैं तो बात समझ में आती है लेकिन दूसरे देश के लिए वो जंग में शहीद हो रहे हैं ये कैसे ठीक है. कन्हैया कुमार ने आगे कहा, 'भारत न्याय यात्रा के दौरान इलाहबाद में एक नौजवान ने हमारे नेता राहुल गांधी से कहा था कि इस देश में लव लेटर लीक नहीं होता उससे ज़्यादातर पेपर लीक हो जाता है.'

'देश में बेरोजगारी दर दोगुनी हुई'

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कन्हैया कुमार ने कहा, 'आंकड़े हैं कि देश में 1 घंटे से कम समय में 2 नौजवान आत्महत्या कर रहे हैं. हमारे देश में नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है. देश में पिछले 10 साल में बेरोजगारी दर दोगुनी हो गई है. केंद्रीय विभागों में लाखों पद खाली हैं और सरकारी क्षेत्रों की हालत काफी खराब है.'

'युवाओं के जीवन के साथ खिलवाड़'

इजरायल के अनुरोध पर अच्छी सैलरी पर वहां भेजे जा रहे मजदूरों के मुद्दे पर सवाल उठाते हुए कन्हैया ने कहा, 'वहां इज़रायल को लेबर नहीं मिल रही है, इसलिए बहुत से माफिया यहां सक्रिय हो गए हैं. देश के नौजवानों की मजबूरी का फायदा उठाकर, विदेश के सपने दिखाकर युवाओं को इजराइल में मजदूरी के लिए भेजा जा रहा है. इस तरह देश के युवाओं के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है.'

'आप विश्व गुरु नहीं, विष गुरु हैं'

केंद्र सरकार पर बरसते हुए कन्हैया कुमार ने कहा, 'मां- बाप अपना पेट काटकर बच्चों को पढ़ने के लिए बाहर भेजते हैं. उसके बाद आए दिन खबर मिलती है किसी को अमेरिका में मार दिया गया तो किसी पर हमला कर दिया गया. उन्होंने दावा किया, ‘इन सबके बीच भारत के विश्वगुरु होने का दावा किया जाता है, लेकिन आप ‘विष गुरु हैं, क्योंकि आप नौजवानों के भविष्य में जहर घोल रहे हैं.’

कौन हैं कन्हैया कुमार?

कन्हैया कुमार जेएनयू स्टूडेंट्स यूनियन के पूर्व अध्यक्ष और वामपंथी नेता हैं. वे बिहार में कम्युनिस्ट पार्टी के एक्टिव लीडर थे और अपने विवादित भाषणों के लिए चर्चित हैं. यूनिवर्सिटी की राजनीति पूरी होने के बाद उन्होंने अपनी कम्युनिस्ट पार्टी के झंडे तले बिहार में राजनीति करने की कोशिश की थी लेकिन नाकामयाब रहे. इसके बाद उन्होंने पाला बदल करते हुए कांग्रेस का हाथ थाम लिया. कांग्रेस ने उनमें संभावनाएं देखकर पार्टी की छात्र शाखा NSUI का अध्यक्ष बना दिया. हालांकि कांग्रेस में भी वे अब तक कोई कमाल नहीं दिखा पाए हैं और दल में कुल मिलाकर साइडलाइन ही चल रहे हैं. 

Trending news