चीनी 'जासूस' को भारत में घुसते ही दबोचा, बॉर्डर का बाजार घूमना था.. या इरादा कुछ और?
Advertisement

चीनी 'जासूस' को भारत में घुसते ही दबोचा, बॉर्डर का बाजार घूमना था.. या इरादा कुछ और?

Raxaul Border: उसके मोबाइल से चीन का पासपोर्ट एवं नागरिकता कार्ड का सॉफ्टकॉपी पाया गया. वह अवैध रूप से भारत में एंट्री मारने की फिराक में था. फिलहाल उसे रक्सौल पुलिस थाना को सुपुर्द किया गया है.

चीनी 'जासूस' को भारत में घुसते ही दबोचा, बॉर्डर का बाजार घूमना था.. या इरादा कुछ और?

Chinese National Arrested: भारत-नेपाल पर रक्सौल बॉर्डर के पास से एक चीनी नागरिक को उस समय अरेस्ट किया गया है जब वह अवैध रूप से भारत में एंट्री मारने की फिराक में था. गुरुवार की सुबह इस चीनी नागरिक 57 वर्षीय फेंग जैनशान पिता फेंग जिन जियांग को नेपाल से रक्सौल के रास्ते भारत में प्रवेश के दौरान एसएसबी रक्सौल एवं इमीग्रेशन रक्सौल द्वारा संयुक्त रूप से रोका गया. इसके बाद कागजात जांच के लिए उसे स्थानीय इमीग्रेशन कार्यालय में लाया गया.

असल में जांच के दौरान पाया गया कि चीनी नागरिक के पास कोई पासपोर्ट एवं वीजा नहीं था. उसके मोबाइल से चीन का पासपोर्ट एवं नागरिकता कार्ड का सॉफ्टकॉपी पाया गया, पासपोर्ट नंबर ईजे 0385551 दर्ज था. जो कि योनहसिंग शहर, वेशी कंट्री हेनान प्रोविंस, चीन का रहने वाला है. जानकारी के अनुसार दिनांक 28.02.2024 को काठमांडू से वह बीरगंज बस से आया और भारत के बॉर्डर का बाजार घूमने जा रहा था.

बिना पासपोर्ट एवं वीजा के प्रवेश की कोशिश..
इसी कड़ी में नेपाल से भारत में बिना पासपोर्ट एवं वीजा के प्रवेश के दौरान पकड़ा गया. चीनी नागरिक को बिना पासपोर्ट एवं वीजा के अनाधिकृत रूप से भारत में प्रवेश करने के विरुद्ध उचित कानूनी कार्रवाई हेतु हरैया ओ.पी अंतर्गत रक्सौल पुलिस थाना को सुपुर्द किया गया है. यह भी बात सामने आई कि इस चीनी नागरिक की पहचान 57 वर्षीय फेंग जैनशान पिता फेंग जिन जियांग के रूप में हुई है.

मामले में जांच शुरु हो गई..
बता दें कि इससे पहले भी कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जब बॉर्डर पर अवैध रूप से घुस रहे लोगों को दबोचा गया है. कुछ साल पहले तो भारत-नेपाल सीमा से जासूसी के संदेह में गिरफ्तार किए गए दो चीनी नागरिकों से पूछताछ के दौरान पता चला था कि वे गौतम बुद्ध नगर की एक सोसाइटी में करीब दो सप्ताह तक रहे थे. यह घटना दो साल पहले हुई थी इसके बाद हड़कंप मच गया था. फिलहाल इस नए मामले में भी जांच शुरु हो गई है कि इस चीनी नागरिक की सच्चाई क्या है.

Trending news