Bihar Education: केके पाठक के आदेश का असर, मिशन दक्ष के तहत पढ़ते दिखे बच्चे
trendingNow,recommendedStories0/india/bihar-jharkhand/bihar1988121

Bihar Education: केके पाठक के आदेश का असर, मिशन दक्ष के तहत पढ़ते दिखे बच्चे

Bihar Education: शिक्षा विभाग द्वारा सभी प्रारंभिक एवं माध्यमिक /उच्च माध्यमिक विद्यालयों में एक दिसंबर से टाइम टेबल में बदलाव किया गया है. विभाग ने मिशन दक्ष द्वारा कमजोर बच्चों को शिक्षकों द्वारा विशेष कक्षा लिए जाने का आदेश जारी किया है.

Bihar Education: केके पाठक के आदेश का असर, मिशन दक्ष के तहत पढ़ते दिखे बच्चे

मुंगेर: Bihar Education: शिक्षा विभाग द्वारा सभी प्रारंभिक एवं माध्यमिक /उच्च माध्यमिक विद्यालयों में एक दिसंबर से टाइम टेबल में बदलाव किया गया है. विभाग ने मिशन दक्ष द्वारा कमजोर बच्चों को शिक्षकों द्वारा विशेष कक्षा लिए जाने का आदेश जारी किया है. वहीं विभाग ने मिशन दक्ष के अंतर्गत विशेष कक्षा का समय 3 बजकर 30 मिनट से लेकर 4 बजकर 15 मिनट रखा गया. वहीं इस मिशन के तहत वर्ग 1 -2 के बच्चो को छोड़कर शेष वर्ग के बच्चो के होमवर्क को चेक करना, पाठ टिका तैयार करना एवं मिशन दक्ष की विशेष कक्षा लेना. साप्ताहिक मूल्यांकन के आधार पर छात्र -छात्राओं का प्रोफाइल तैयार करना. इसी क्रम में शहर के जिला स्कूल में साढ़े तीन बजे के बाद एक भी छात्र नजर नहीं आये.

वहीं स्कूल की प्रिंसिपल डॉ निशा कुमारी ने बताया कि बिहार के सरकारी विद्यालयों में मॉडल टाइम टेबल आज से लागू है. जिसको लेकर आज सभी बच्चों को बता दिया गया है की कोई भी कमजोर बच्चा छुट्टी के बाद पढ़ना चाहते है उनके लिए स्कूल में शिक्षक उपलब्ध रहेंगे. वहीं दूसरी तरफ वैजनाथ राजकीय बालिका प्लस 2 स्तरीय विधालय में साढ़े 4 बजे पहुंचे तो दो शिक्षिक स्कूल कैम्पस से निकल कर घर जा रही थी लेकिन जैसे ही कैमरा खुला तो दोनों शिक्षिका वापस स्कूल चली गई. वही स्कूल के प्रिंसिपल राजीव लोचन ने सरकार का यह कदम सराहनीय है. उन्होंने कहा कि सभी क्लास में पढ़ने वाले कमजोर छात्रा को चिन्हित कर जल्द ही छुट्टी के बाद दुबारा पढ़ाई कराया जायेगा.

वही दूसरी ओर धरहरा प्रखंड के राजकीय मध्य विधालय ओड बगीचा का निरीक्षण करने पर वहां छुट्टी के बाद कमजोर बच्चों को पढ़ाया जा रहा था. आठवीं क्लास में पढ़ने वाले छात्र अंकुश कुमार ,करुणा कुमारी और मोनिका कुमारी ने बताया की विद्यालय की छुट्टी समाप्त के बाद कमजोर बच्चो को शिक्षकों द्वारा पढ़ाया जा रहा है जो अच्छा लग रहा है. वही धरहरा प्रखंड के राजकीय मध्य विधालय ओड बगीचा के शिक्षक संजीव कुमार ने बताया की सरकार के आदेश के बाद स्कूल में पढ़ने वाले वैसे बच्चो को चिन्हित किया गया है जो धारा प्रवाह हिंदी नहीं पढ़ पाते है. गणित के मौलिक क्रिया कमजोर है इंग्लिश में कमजोर है वैसे बच्चो को चिन्हित कर पढ़ाया गया.

इनपुट- प्रशांत कुमार

ये भी पढ़ें- Bihar Crime: बगीचे में दबा मिला युवक का शव, पत्नी, ससुर और साले पर हत्या का आरोप

Trending news