Long Covid: WHO ने लॉन्ग कोविड के बारे में जारी किया डरा देने वाला डाटा, जानें क्या?
topStories1hindi1351586

Long Covid: WHO ने लॉन्ग कोविड के बारे में जारी किया डरा देने वाला डाटा, जानें क्या?

Long Covid: कोरोना से पीड़ित होने के बाद लोग अब लॉन्ग कोविड यानि पोस्ट कोविड से परेशान हो रहे हैं. लोग इस बीमारी से 2-3 महीने तक पीड़ित रहते हैं. इसी बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने हाल ही में लॉन्ग कोविड से जुड़ा एक डरा देने वाला डाटा शेयर किया है.

Long Covid: WHO ने लॉन्ग कोविड के बारे में जारी किया डरा देने वाला डाटा, जानें क्या?

Long Covid: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने हाल ही में कहा है कि यूरोपीय क्षेत्र में कम से कम 17 मिलियन (1.7 करोड़) लोग लॉन्ग कोविड (Post Covid) से पीड़ित हुए हैं. ग्लोबल हेल्थ एजेंसी ने रिसर्च, रिकवरी और रिहैबिलिटेशन में तत्काल निवेश करके कोविड-19 की स्थिति को गंभीरता से लेने के लिए देशों से आग्रह किया है कि आने वाले वर्षों में लाखों लोगों को पोस्ट कोविड के साथ रहना पड़ सकता है. डब्ल्यूएचओ ने पिछले साल पहली बार कोरोना के बाद की स्थितियों का संज्ञान लिया था. दिसंबर 2021 में, डब्ल्यूएचओ ने लॉन्ग कोविड की स्थितियों पर एक रिपोर्ट जारी की थी और इससे संबंधित सभी लक्षणों के बारे में जानकारी दी थी.

इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ मेट्रिक्स एंड इवैल्यूएशन (IHME) द्वारा डब्ल्यूएचओ/यूरोप के लिए किए गए नए मॉडलिंग से पता चलता है कि कोरोना महामारी के पहले दो सालों में 17 मिलियन व्यक्ति ने लॉन्ग कोविड के लक्षणों को अनुभव किया है. इन लोगों ने कम से कम तीन महीने लॉन्ग कोविड से पीड़ित रहे हैं. डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट कहती है कि  2020 और 2021 के बीच नए लॉन्ग कोविड मामलों में 307 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

महिलाएं ज्यादा लंबे समय तक हो रहीं पीड़ित
डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार, महिलाएं पुरुषों की तुलना में लंबे समय तक कोविड से ज्यादा सबसे पीड़ित हुई है. रिसर्च से यह भी पता चला है कि महिलाएं लंबे समय तक कोविड से पीड़ित होने की संभावना पुरुषों की तुलना में दोगुनी होती है.

लॉन्ग कोविड के लक्षण
थकान, सांस फूलना, भ्रम, भूलने की बीमारी, मेंटल फोकस और स्पष्टता की कमी लॉन्ग कोविड के कुछ लक्षण हैं. लक्षणों की प्रकृति पर, डब्ल्यूएचओ ने लोगों को चेतावनी दी है कि ये लक्षण लंबे समय तक बने रहते हैं. वास्तव में ये ये  समय के साथ आ और जा सकते हैं.

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.

Trending news