इस छोटे बजट की हॉरर फिल्म को बनाने में लग गए 21 साल, एक्टर ने बेच डाला घर-कार सबकुछ
trendingNow11985974

इस छोटे बजट की हॉरर फिल्म को बनाने में लग गए 21 साल, एक्टर ने बेच डाला घर-कार सबकुछ

Small Budget Horror Movie: कई बार दोबारा लिखने और दोबारा शूट करने के बाद यह हॉरर फिल्म शानदार समीक्षाओं के साथ रिलीज हुई. यह बॉक्स ऑफिस पर सफल साबित हुई. हालांकि, इस फिल्म को शुरू होने से लेकर रिलीज होने तक कई मुसीबतों का सामना करना पड़ा था.

 इस हॉरर फिल्म का पहला ड्रॉफ्ट 1997 में लिखा गया था और रिलीज हुई 2018 में

Small Budget Horror Movie: बॉलीवुड में हॉरर फिल्में बहुत कम बनती हैं और बनती भी हैं तो उन्हें बहुत सफलता नहीं मिल पाती है. केवल कुछ ही फिल्में दर्शकों को डराने में सच्चा न्याय कर पाती हैं. भारत में हॉरर मूवीज काफी पसंद की जाती है, ऐसे में द कॉन्ज्यूरिंग, एनाबेल और सॉ जैसी विदेशी फिल्मों ने भारत ने बाजार ढूंढ लिया है. ऐसे में हम एक ऐसी फिल्म के बारे में बात कर रहे हैं, जिसे अब एक कल्ट हॉरर फिल्म माना जाता है. यह फिल्म दूसरी भारतीय हॉरर फिल्मों से बिल्कुल अलग थी. यह फिल्म बिल्कुल एक लोक कहानी की तरह है, जिसे हम बचपन में अपनी दादी-नानी से सुनना चाहते हैं. 

लालच, स्वार्थ और वफादारी की अवधारणाओं को इस फिल्म की कहानी में खूबसूरती से बुना गया था. 'तुम्बाड' नाम की यह फिल्म दुनियाभर के दर्शकों के मन में सच में डर पैदा कर देती है. 'तुम्बाड' एक हॉरर क्लासिक है, लेकिन इस बनाने की कहानी और भी दिलचस्प है.

'तुम्बाड' को बनने में लग थे 21 साल
आपको जानकर हैरानी होगी कि लेखक-निर्देशक राही अनिल बर्वे ने 1997 में 'तुम्बाड' का पहला ड्राफ्ट लिखा था. इस फिल्म का शीर्षक श्रीपद नारायण पेंडसे के मराठी उपन्यास 'तुम्बाडचे खोत' से लिया गया था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 2009-2010 में राही ने 700 पन्नों का स्टोरीबोर्ड लिखा था.

प्रोडक्शन में आई बहुत-सी परेशानियां
कई निर्माताओं द्वारा इस प्रोजेक्ट को सपोर्ट करने से इनकार करने के बाद आखिरकार 2012 में 'तुम्बाड' की शूटिंग शुरू हुई. हालांकि, एडिटिंग के दौरान अनिल फिल्म से संतुष्ट नहीं थे. इसलिए फिल्म को 2015 में दोबारा लिखा गया और दोबारा शूट किया गया.

5 साल और 4 मानसून में हुई शूटिंग
'तुम्बाड' की परिकल्पना के बाद से ही कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. दोबारा शूट के दौरान फिल्म का बजट ओवर हो गया. निर्माता और लीड एक्टर सोहम शाह इससे काफी निराश हो गए थे और वह लगभग इस प्रोजेक्ट को छोड़ने की कगार पर थे. लेकिन अंत में उन्होंने हार नहीं मानी और 'तुम्बाड' को 5 साल और 4 मानसून में शूट किया गया था.

 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Sohum Shah (@shah_sohum)

'तुम्बाड' के लिए सोहम शाह ने बेच दिया सबकुछ
आजतक के साथ एक इंटरव्यू में सोहम शाह ने खुलासा किया कि फिल्म को पूरा करने के लिए उन्होंने अपना घर और यहां तक ​​कि अपनी कार भी बेच दी थी. उन्होंने बताया था, "जब तक फिल्म बनी, मैं आर्थिक रूप से काफी कमजोर हो चुका था. इन सात सालों में मुझे अपना फ्लैट बेचना पड़ा, फिर कुछ और प्रॉपर्टी बेचीं और आखिरकार अपनी कार भी बेच दी."

 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Sohum Shah (@shah_sohum)

15 करोड़ की कमाई
अंततः, फिल्म निर्माता आनंद एल राय ने 'तुम्बाड' का समर्थन किया और फिल्म 5 अक्टूबर, 2018 को सिनेमाघरों में रिलीज हुई. 5 करोड़ में बनी इस फिल्म को अच्छी सफलता मिली. शानदार रिव्यूज के साथ इस फिल्म ने 15 करोड़ रुपये कमाए.

Trending news