Pankaj Udhas Passes Away: पंकज उधास की पहली कमाई जान चौंक जाएगें; अपने पीछे छोड़ी इतने करोड़ की जायदाद
Advertisement

Pankaj Udhas Passes Away: पंकज उधास की पहली कमाई जान चौंक जाएगें; अपने पीछे छोड़ी इतने करोड़ की जायदाद

Pankaj Udhas Passes Away: पंकज उधास अपने पीछे करोड़ों की संपत्ति और परिवार में बीवी फरीदा उधास और दो बेटियों, रिवा उधास और नयाब उधास को छोड़ गए हैं. क्या आप जानते हैं, पंकज उधास की पहली कमाई कितनी थी. अगर नहीं जानते हैं, तो ये खबर आप के लिए है. 

Pankaj Udhas Passes Away: पंकज उधास की पहली कमाई जान चौंक जाएगें; अपने पीछे छोड़ी इतने करोड़ की जायदाद

Pankaj Udhas Passes Away: देश के सबसे मशहूर गजल गायक पंकज उधास अब इस दुनया को अलविदा कह दिया है. उन्होंने अपने पीछे करोड़ों की संपत्ति और परिवार में बीवी फरीदा उधास और दो बेटियों, रिवा उधास और नयाब उधास को छोड़ गए हैं. उनके जीवन से जुड़े कई रोचक बातें है, जो उनको खास बनाती है. क्या आप जानते हैं, पंकज उधास की पहली कमाई कितनी थी. अगर नहीं जानते हैं, तो ये खबर आप के लिए है. 

उनकी पहली कमाई 51 रुपये थी
पंकज उधास के बारे में बाताया जाता है कि उनकी पहली कमाई 51 रुपये थी. दरअसल, उन्होंने ऐसे वक्त में अपने भाई के साथ गाना गाने की शुरुआत की थी, जिस वक्त भारत और चीन के बीच जंग का माहौल था. उस वक्त देश में चारों तरफ देशभक्ति का रंग छाया था. इस समय एक कार्यक्रम पंकज उधास ने 'ऐ मेरे वतन के लोगों' गाना गाकर लोगों को अपना दिवाना बना लिया था. इस कार्यक्रम में गाने गाने के लिए पंकज उधास को बतौर 51 रुपये का ईनाम दिया गया था. गाना के क्षेत्र में उनकी ये पहली कमाई थी, फिर इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और गजल के दुनिया में एक अलग मुकाम हासिल किया. 

अपने पीछे करोड़ की संपत्ति छोड़ी
पंजक उधास का जन्म 17 मई 1951 में एक गुजराती परिवार में हुआ था. उनकी निधन की खबर से पूरी बॉलीवुड में शोक की लहर हैं. अपनी गजल से अफराद को दिवाना बनाने वाले पंकज उधास की संपत्ति की बात की जाए, तो एक रिपोर्ट के मुताबिक, 25 करोंड से ज्यादा की संपत्ति अपने पीछे छोड़ गए हैं. वह इवेंट्स के साथ-साथ फिल्मों के लिए भी गाना गाते थे. इसके अलावा वह अपने यूट्यूब से भी कमाई करते थे. 

उनके गाने हमेशा के लिए हो गए अमर
पंकज उधास ने 1980 में अपने ग़ज़ल गायन की शुरुआत की थी, और उन्होंने लगातार 43 सालों तक अपनी गायकी से न सिर्फ भारत के लोगों का बल्कि दुनिया भर के लोगों का मनोरंजन किया. ग़ज़ल गायन के साथ ही उन्होंने हिंदी फिल्मों में भी कई गाने गाये, जो बेहद लोकप्रिय साबित हुए.. 'नाम' फिल्म का गीत 'वतन से चिट्ठी आई है', 'साजन' फिल्म का ' जिए तो जिए कैसे', 'दिल आशना है' का 'आज फिर किसी भी ने न देखा निगाह भर के मुझे', 'मोहरा' का 'न कजरे की धार न मोतियों की हार' , 'दयावान' का 'आज फिर तुमपे प्यार आया है' और 'फिर तेरी कहानी याद आयी' का गीत 'दिल देता है रो- रो दुहाई किसी ने कोई प्यार ने करे' जैसे उनके गाने हमेशा के लिए अमर हो गए.  

भारत सरकार ने पद्मश्री से नवाजा था 
संगीत की दुनिया में अपनी छाप छोड़ने वाले पंकज उधास को साल 2006 में भारत सरकार ने पद्मश्री से नवाजा था. उनकी बीवी फरीदा एक एयरलाइंस में एयरहोस्टेज थीं, लेकिन उनकी दोनों बेटियां म्यूजिक से जुड़ी हैं. उनकी एक बेटी नायाब उधास मशहूर भारतीय संगीतकार ओजस अधिया से विवाह किया है. वहीं, उनकी दूसरी बेटी रिवा भी अपने वालिद के इंडस्ट्री से जुड़ी हुई हैं.

Trending news