पुतिन ने ऐसा क्‍या कह दिया कि बाइडेन बोले- 'हममें से कोई मूर्ख नहीं बनेगा'
topStorieshindi

पुतिन ने ऐसा क्‍या कह दिया कि बाइडेन बोले- 'हममें से कोई मूर्ख नहीं बनेगा'

अमेरिका ने रूस के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि रूस के दो बड़े वित्तीय संस्थानों पर प्रतिबंध लगाए गए हैं. इसके अलावा, रूस को पश्चिमी देशों से मिलने वाली आर्थिक सहायता पर भी रोक लगाई जाएगी.

पुतिन ने ऐसा क्‍या कह दिया कि बाइडेन बोले- 'हममें से कोई मूर्ख नहीं बनेगा'

वॉशिंगटन: पूर्वी यूक्रेन (Ukraine) के दो प्रांतों को अलग देश के रूप में मान्यता देने के रूसी कदम से तनाव बढ़ गया है. अमेरिका (America) सहित दुनिया के तमाम देश और संगठन रूस (Russia) के खिलाफ उतर आए हैं. मॉस्को के विरुद्ध कड़े एक्शन भी शुरू हो गए हैं. यूएस प्रेसिडेंट जो बाइडेन (Joe Biden) ने मंगलवार को घोषणा की कि अमेरिका रूसी बैंकों और कुलीन वर्गों के खिलाफ कड़े वित्तीय प्रतिबंध लगाने के आदेश दे रहा है.

‘नहीं सुधरे, तो और प्रतिबंध’

जो बाइडेन (Joe Biden) ने कहा कि मॉस्को ने यूक्रेन के मामले में अंतरराष्ट्रीय कानूनों का सरेआम उल्लंघन किया है. उन्होंने आगे कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के यूक्रेन संबंधी दावों से हममें से कोई मूर्ख नहीं बनेगा. राष्ट्रपति बाइडेन ने यह भी स्पष्ट किया कि यदि पुतिन आगे कोई कार्रवाई करते हैं तो और प्रतिबंध लगाए जाएंगे.

ये भी पढ़ें -अगर यूक्रेन में घुसा रूस तो इन लोगों को दी जाएगी शर्तिया मौत, हिट लिस्‍ट तैयार

आर्थिक सहायता पर लगेगी रोक

बाइडेन ने कहा कि हम रूस के दो बड़े वित्तीय संस्थानों VEB और सैन्य बैंक पर प्रतिबंध लागू कर रहे हैं. इसके अलावा, रूस को पश्चिमी देशों से मिलने वाली आर्थिक सहायता पर भी रोक लगाई जाएगी. US प्रेसिडेंट ने कहा कि हम स्थिति का लगातार आकलन कर रहे हैं. यदि रूस अपनी हरकतों से बाज नहीं आता, तो आगे भी सख्त कार्रवाई होगी.

अतिरिक्त बल भेज रहा US

बाइडेन ने कहा कि रूस के पूर्व में मौजूदगी बढ़ाने के मद्देनजर अमेरिका नाटो बाल्टिक सहयोगियों की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त बल भेज रहा है. बता दें कि यूक्रेन के साथ युद्ध जैसे हालात के बीच रूस ने पूर्वी यूक्रेन के डोनेत्स्क (Donetsk) और लुहांस्क (Luhansk) को अलग देश के रूप में मान्यता दे दी है. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने राष्ट्र के नाम संबोधन में इसकी घोषणा की थी.

युद्ध के बहाने तलाश रहा रूस

रूस के इस कदम की हर तरफ आलोचना हो रही है. ब्रिटेन ने इसे अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन और यूक्रेन की संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता पर हमला बताया गया है. इसी तरह, एस्टोनिया की प्रधानमंत्री काजा कल्लास ने भी रूसी फैसले की निंदा करते हुए उसे यूक्रेन की अखंडता का उल्लंघन बताया है. एस्टोनिया की प्रधानमंत्री ने कहा है कि रूस कूटनीतिक दरवाजे बंद कर युद्ध के लिए बहाने तलाश रहा है.

 

Trending news