Rajasthan Election Result 2023: भीलवाड़ा की 6 सीटों पर बीजेपी ने मारी बाजी, जानिए बाकी 2 सीटों पर किसकी हुई जीत
trendingNow11989204

Rajasthan Election Result 2023: भीलवाड़ा की 6 सीटों पर बीजेपी ने मारी बाजी, जानिए बाकी 2 सीटों पर किसकी हुई जीत

Bhilwara Vidhan Chunav Result 2023: भीलवाड़ा में इस बार कांटे का मुकाबला होने की बात कही जा रही थी. आइए जानते हैं. जिले की सभी आठ सीटों के नतीजों का सियासी कैलकुशेन.

Rajasthan Election Result 2023: भीलवाड़ा की 6 सीटों पर बीजेपी ने मारी बाजी, जानिए बाकी 2 सीटों पर किसकी हुई जीत

Bhilwara Vidhan Chunav Result 2023: भीलवाड़ा सीट का सियासी मिजाज बीजेपी और कांग्रेस दोनों के पक्ष में जाता रहा है. राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में इस बार 75.56% वोटिंग हुई. भीलवाड़ा लोकसभा में 8 विधानसभा क्षेत्र हैं. जिनमें 1.आसींद, 2. मांडल, 3.सहाड़ा, 4.भीलवाड़ा, 5. शाहपुरा, 6.जहाजपुर, 7.मांडलगढ़, 8.हिण्डौली चुनाव आयोग (Election Commision) की निगरानी में है. 

भीलवाड़ा: भीलवाड़ा विधानसभा सीट पर अब तक 16 बार चुनाव (एक उपचुनाव समेत) हुआ है. इन 16 बार के चुनाव में BJP को 8 बार और कांग्रेस को 7 बार जीत मिली. एक बार ये सीट जनता पार्टी के खाते में गई. हालांकि 20 सालों से ये सीट BJP का गढ़ बन गई है. यहां बीते 4 चुनाव से कमल ही खिल रहा है. बीजेपी के विट्ठल शंकर अवस्थी यहां से MLA हैं. अवस्थी बीते तीन चुनाव से डटे हैं. कांग्रेस बीस साल से यहां जीत नहीं पाई है. इस बार भीलवाड़ा की जनता का प्यार निर्दलीय कैंडिडेट अशोक कुमार कोठारी को मिला है.

2018 में ऐसे थे नतीजे: 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में इस सीट से 17 कैंडिडेट थे. जीत विट्ठल शंकर अवस्थी (बीजेपी) की हुई. कांग्रेस प्रत्याशी अनिल डांगी हार गए थे. बीएसपी से शंकर लाल सेन को 529, AAP के कैंडिडेट सुनील आगीवाल को 1388 वोट मिले थे.

जीत का फैक्टर: भीलवाड़ा शहर विधानसभा क्षेत्र में जीत किसको मिलेगी इसे ब्राह्मण, वैश्य जिसमें (माहेश्वरी, अग्रवाल और जैन) वोटर तय करते हैं. जिस तरफ इन दोनों वर्ग का झुकाव हो जाता है, जीत का सेहरा उसके सिर बंध जाता है.

मांडलगढ़: 2023 के विधानसभा चुनाव में मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर 79.82 प्रतिशत मतदान हुआ. बीजेपी ने गोपाल लाल शर्मा पर बाजी लगाई है. 2018 में मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर 78.90 प्रतिशत मतदान हुआ था, तुलनात्मक रूप से इस बार ज्यादा मतदान हुआ है. मांडलगढ़ से इस बार कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में विवेक धाकड़ पर विश्वास जताया है. बीएसपी से यहां बख्तावर खटिक मैदान में हैं. जनता ने गोपाल लाल शर्मा को ही विधायक चुना है.

आसींद: 2023 के विधानसभा चुनाव में आसींद विधानसभा में 74.2% वोटिंग हुई. पिछली बार से ज्यादा मतदान हुआ है. आसींद से इस बार कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में हंगामी लाल मेवाड़ा पर विश्वास जताया है. बीजेपी ने जब्बर सिंह सांखला को उतारा है. इस सीट पर 236014 मतदाता हैं. आसींद सीट पर 2018 में बीजेपी ने जीत दर्ज की थी. आसींद विधानसभा सीट पर 2018 में बीजेपी से जब्बर सिंह सांखला जीते थे. उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी कांग्रेस ने तीन बार चुनाव लड़ चुके पूर्व विधायक हंगामीलाल मेवाड़ा के स्थान पर उनके ही बेटे मनीष मेवाड़ा को 154 वोटों से हराया था. जब्बर सिंह सांखला को फिर से जनता ने जीताया है.

मांडल:  2023 के विधानसभा चुनाव में मांडल विधानसभा सीट पर 81.47% वोटिंग हुई. 2018 में मांडल सीट पर 77.20 प्रतिशत मतदान हुआ था.2018 के चुनावी नतीजों की बात करें तो भीलवाड़ा जिले की मांडल विधानसभा सीट पर कांग्रेस के रामलाल जाट ने जीत दर्ज की थी. दूसरे नंबर पर निर्दलीय प्रद्युम्न सिंह थे. यहां कांग्रेस ने रामलाल जाट को टिकट दिया है. बीजेपी ने उदय लाल भड़ाना को टिकट दिया है जिनको जनता ने भारी मतों से विजयी बनाया है.

सहाड़ा: भीलवाड़ा संसदीय सीट के गंगापुर सहाड़ा विधानसभा सीट पर दोनों पार्टियों ने नए चेहरों पर दाव खेलकर मुकाबले को रोचक बना दिया है. बीजेपी ने इस सीट पर पहली लिस्ट जारी करते हुए पूर्व बागी निर्दलीय लादू लाल पितलिया (Ladu Lal Pitaiya) के नाम की घोषणा करके सब को चौका दिया था. वहीं कांग्रेस ने अपनी तीसरी लिस्ट में भाभी का टिकट काटते हुए देवर राजेंद्र त्रिवेदी (Rajendra Trivedi) को प्रत्याशी बनाया. जिससे विधानसभा में चुनावी खेल दिलचस्प हो गया. लेकिन यहां भी बीजेपी ने बाजी मार ली है और लादू लाल पितलिया के सिर पर जीत का सेहरा सजा है.

2018 में सहाड़ा विधानसभा सीट कांग्रेस के पाले में रही. सहाड़ा सीट परकुल 2 लाख 53 हजार 347 वोटर्स हैं. जिसमे पुरुष मतदाता 1 लाख 27 हजार 294 और 1 लाख 26 हजार 053 महिला मतदाता हैं. 2018 में हुए विधानसभा चुनावों में कैलाश त्रिवेदी ने जीत का स्वाद यहां से चखा था, लेकिन कार्यकाल पूर्ण होने से पूर्व ही उनका देहांत हो गया था. 2022 में विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस को सहानुभूति के चलते कैलाश त्रिवेदी की पत्नी गायत्री देवी को 81 हजार 700 वोट प्राप्त हुए इस तरह उन्होंने बीजेपी के प्रत्याशी डॉ. रतनलाल जाट को बड़े अंतर से हरा दिया था.

जहाजपुर: जहाजपुर में 2023 के विधानसभा चुनाव में जहाजपुर विधानसभा सीट पर 80.17% पोलिंग हुई. कांग्रेस ने धीरज गुर्जर को टिकट दिया. वहीं बीजेपी ने गोपीचंद मीना को टिकट दिया है. 2018 में जहाजपुर विधानसभा सीट पर 79.31% पोलिंग हुई थी, वोटर्स की संख्या की बात करें तो इस सीट पर लगभग 202834 मतदाता हैं. 2018 में भीलवाड़ा जिले की जहाजपुर विधानसभा सीट पर बीजेपी के गोपी चंद मीणा ने जीत दर्ज की. उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी धीरज गुर्जर को 13253 वोटों से हराया था. इस बार फिर जनता ने बीजेपी के गोपी चंद मीणा पर भरोसा दिखाया है.

हिण्डौली: हिण्डौली में बीजेपी ने प्रभुलाल सैनी (Prabhu Lal Saini) को टिकट दिया है. कांग्रेस ने अशोक चांदना (AshokChandna) को रिपीट किया है. आपको बताते चलें कि गहलोत के ये वही मंत्री हैं, जो चंद्रयान-3 के यात्रियों को बधाई देकर ट्रोल हुए थे. चंद्रयान की चंद्रमा पर लैंडिंग को लेकर जहां एक ओर पूरा देश जश्न में डूबा था. तभी राजस्थान के खेल मंत्री अशोक चांदना का VIDEO सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. जिसमें चंद्रयान के अभियान की सफलता को लेकर उन्होंने वैज्ञानिकों को बधाई देने के साथ चंद्रयान में गए यात्रियों को भी चंद्रमा पर पहुंचने पर बधाई दे डाली थी, जबकि ये मैन मिशन नहीं था. इसको लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने उन्हें जमकर ट्रोल किया. इस सीट पर कांग्रेस के अशोक चांदना (AshokChandna) भारी मतों से बीजेपी को मात दी है.

शाहपुरा : शाहपुरा में बीजेपी ने लालाराम बैरवा को टिकट दिया है. वहीं कांग्रेस ने नरेंद्र कुमार रैगर पर दांव खेला है. वहीं जनता ने बीजेपी पर भरोसा दिखाते हुए लालाराम बैरवा को अपना विधायक चुना है.

Trending news