हमास का सपोर्टर है तो खुलकर सामने आ जाए पाकिस्तान... ये जुर्माना माफ करने का क्या है इशारा?
trendingNow11982820

हमास का सपोर्टर है तो खुलकर सामने आ जाए पाकिस्तान... ये जुर्माना माफ करने का क्या है इशारा?

Pakistan Cricket Controversy: इजरायल-हमास युद्ध के दौरान दूसरी बार पाकिस्तान के किसी खिलाड़ी ने खुलेआम हमास का सपोर्ट किया. पहले मोहम्मद रिजवान ने भारत में खेले गए आईसीसी वर्ल्ड कप (ODI World Cup-2023) के दौरान हमास को अपना शतक डेडिकेट किया था. अब आजम खान ने अपने बल्ले पर फिलीस्तीनी झंडा लगा लिया.

हमास का सपोर्टर है तो खुलकर सामने आ जाए पाकिस्तान... ये जुर्माना माफ करने का क्या है इशारा?

Azam Khan Controversy : पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कुछ ऐसा कर दिया, जिससे उस पर सवाल खड़े हो रहे हैं. कभी शतक हमास को डेडिकेट करना करना तो कभी खुलेआम फिलीस्तीन का झंडा लगाना, कभी बेवजह की बातों से क्रिकेट को बदनाम करना, कभी फिक्सिंग तो कभी ऊलजलूल बयानबाजी... ये सब पाकिस्तान के पूर्व और मौजूदा क्रिकेटर करते रहे हैं. पाकिस्तान के ही एक युवा बल्लेबाज आजम खान (Azam Khan) ने अपने बल्ले पर फलीस्तीनियों को सपोर्ट करने के लिए स्टिकर चिपका लिया. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने पहले एक्शन लिया, अब माफी दे दी. 

फिलीस्तीनी झंडा लगाया

पाकिस्तान के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज आजम खान (Azam Khan) ने कराची में राष्ट्रीय टी20 टूर्नामेंट के दौरान अपने बल्ले पर फिलीस्तीनी झंडा चिपकाया. उन्होंने इसका स्टिकर चिपकाया जिसके बाद उन पर एक्शन हुआ. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने पहले तो आजम पर जुर्माना ठोका लेकिन बाद में जुर्माना माफ कर दिया. 

माफ कर दिया जुर्माना

पीसीबी ने बल्ले पर फिलस्तीन के झंडे का इस्तेमाल करने पर आजम खान पर लगाए गए 50 प्रतिशत मैच फीस के जुर्माने को मंगलवार को पूरी तरह से माफ कर दिया. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान मोईन खान के बेटे आजम पर 2 दिन पहले पीसीबी मैच रेफरी ने मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना ठोका था क्योंकि उन्होंने अपने बल्ले से फिलस्तीन के झंडे का स्टीकर हटाने से इनकार कर दिया था. आजम मैच के दौरान अंपायर के निर्देशों का पालन करने में बार-बार विफल रहे. ये पीसीबी के खिलाड़ियों और खिलाड़ियों के सहायक कार्मिक के लिए आचार संहिता के अनुच्छेद 2.4 का उल्लंघन है.

पीसीबी ने नहीं बताया कोई कारण

पाकिस्तानी बोर्ड ने जुर्माना पूरी तरह से माफ करने का कोई कारण नहीं बताया. बोर्ड ने इस बारे में भी कोई जानकारी नहीं दी कि आजम आगामी मैचों में अपने बल्ले से स्टिकर हटाने के लिए सहमत हुए हैं या नहीं. पीसीबी ने कहा, ‘मैच अधिकारियों द्वारा आजम खान पर लगाए गए 50 प्रतिशत जुर्माने की बोर्ड ने समीक्षा की और उसे माफ कर दिया है. कराची व्हाइट्स टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज को नेशनल बैंक टी20 कप 2023-24 मैच के दौरान कराची स्टेडियम में ‘लाहौर ब्लूज’ के खिलाफ लेवल-1 के अपराध का दोषी पाया गया था. इसके कारण मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना ठोका था.’

लाइव टेलीकास्ट हो रहा था मैच

कमाल तो ये है कि इस मैच का टेलीविजन पर लाइव टेलीकास्ट हो रहा था. आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) के नियमों के अनुसार, खिलाड़ियों और टीम अधिकारियों को अपने उपकरण या पहनाने पर बिना अनुमति के किसी तरह के प्रदर्शन या व्यक्तिगत संदेश देने की अनुमति नहीं है. इसके लिए पीसीबी क्रिकेट संचालन विभाग की ओर से पहले से मंजूरी की जरूरत होती है. पहले तो पीसीबी की आलोचना हुई लेकिन अगर हमास का सपोर्ट करने की अनुमति है तो फिर पाकिस्तान खुलकर क्यों नहीं सामने आ जाता है.

वर्ल्ड कप में रिजवान की हुई थी आलोचना

25 साल के आजम खान ने पाकिस्तान के लिए 5 टी20 मैच खेले हैं. हालांकि इस दौरान उनके बल्ले से केवल 7 रन निकले. आजम ने पाकिस्तान के लिए अपना पिछला मैच 2021 में खेला था. उनकी पहचान सहजता से बड़े शॉट लगाने वाले खिलाड़ी की है. भारत में हाल ही में हुए वनडे वर्ल्ड कप के दौरान भी पाकिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान ने गाजा में रह रहे फिलीस्तीन के लोगों के सपोर्ट में एक्स पर पोस्ट शेयर किया था. आईसीसी ने हालांकि इसे उनकी निजी राय मानते हुए उन पर जुर्माना नहीं ठोका था. (PTI से इनपुट)

Trending news