Pakistan's Nuclear Bomb: अपने 'पाव-किलो' वाले एटम बम से भी हाथ धो बैठेगा PAK? छीन लेगा ये ताकतवर देश, जो हुआ ऐसा
trendingNow11554797

Pakistan's Nuclear Bomb: अपने 'पाव-किलो' वाले एटम बम से भी हाथ धो बैठेगा PAK? छीन लेगा ये ताकतवर देश, जो हुआ ऐसा

Pakistan economic crisis 2023: कर्ज में डूबा पाकिस्तान अगर दिवालिया हो गया तो उसके परमाणु बमों का क्या होगा? क्या वो किसी गलत हाथों में चले जाएंगे? ये कुछ ऐसे सवाल हैं जिनके बारे में दुनियाभर के थिंक टैंक के लंबे मंथन के बाद शायद ऐसी स्थितियों से निपटने का मास्टर प्लान पहले ही बन चुका है.

Pakistan's Nuclear Bomb: अपने 'पाव-किलो' वाले एटम बम से भी हाथ धो बैठेगा PAK? छीन लेगा ये ताकतवर देश, जो हुआ ऐसा

Pakistan Financial Crisis/US snatch and grab plan: पाकिस्तान दिवालिया होने के कगार पर है. सऊदी और यूएई ने नई खैरात देने से मना कर दिया है. कंगाल पाकिस्तान के PM शहबाज शरीफ और उनका परिवार अरबपति है और देश की जनता को दो वक्त की रोटी के लाले पड़े हैं. पड़ोसी देश के राजनेता अपनी कुर्सी बचाने में व्यस्त हैं और मुल्क की इकॉनमी कर्ज के दलदल में बुरी तरह से धंस चुकी है. इस तरह के हालात पाकिस्तान को गृह युद्ध (Civil War) की ओर ले जा रहे हैं. 

पाकिस्तान के परमाणु बमों का क्या होगा?

ऐसे में गले तक कर्ज में डूबा पाकिस्तान अगर दिवालिया हो गया तो उसके परमाणु बमों का क्या होगा? क्या वो किसी गलत हाथों में चले जाएंगे? ये कुछ ऐसे सवाल हैं जिनके बारे में दुनियाभर के थिंक टैंक के लंबे मंथन के बाद शायद ऐसी स्थितियों से निपटने का मास्टर प्लान पहले ही बन चुका है. दरअसल पाकिस्तान के परमाणु बमों की सुरक्षा हमेशा सवालों के घेरे में रही है. चोरी की तकनीक से एटम बम बना चुका पाकिस्तान इसे बनाने के सीक्रेट दूसरे देशों को बेच चुका है. शायद उसके इसी इतिहास की वजह से भविष्य में ऐसे हालातों को अवाइड करने का प्लान पहले ही बना लिया गया होगा. 

पाव-किलो वाले एटम बम छीन लेगा अमेरिका!

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तान के आर्थिक संकट (Pakistan Economic Crisis) पर अमेरिका (US) की नजर बनी हुई है. ऐसे में अगर पाकिस्तान के अस्थिर होने पर अमेरिका का 'स्नैच एंड ग्रैब' प्लान एक्टिव होगा. यानी अस्थिरता के समय उसके सारे परमाणु बम छीने जा सकते हैं. 

10 करोड़ डॉलर का इमरजेंसी प्लान

अमेरिका के इस प्लान का नाम है  'स्नैच एंड ग्रैब', यानी हथियारों को छीन कर उन्हें अपने कब्जे में ले लो. 9/11 के आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान अमेरिका की नजरों में खटक रहा है. अमेरिका के लोग जानते हैं कि कि पाकिस्तान अकेला इस्लामिक देश है, जिसके पास एटमी हथियार हैं. अगर यह गलत हाथों में चले गए तो पूरी दुनिया के लिए खतरा हो जाएगा. साल 2007 में छपी गार्जियन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के न्यूक्लियर हथियार सुरक्षित रहें, इसके लिए अमेरिका ने 2001 से 2007 तक 10 करोड़ डॉलर खर्च किए हैं.

स्नैच एंड ग्रैब प्लान एक्टिव हुआ तो क्या होगा?

अगर 2023 में पाकिस्तान, आर्थिक संकट के चलते डिफॉल्ट होता है. तो क्या ये प्लान एक्टिव होने पर अमेरिका की फौज पाकिस्तान में घुस कर उसके परमाणु हथियारों को अपने कब्जे में ले लेगी? इसके बारे में कोई डिटेल पब्लिक डोमेन में नहीं है. हालांकि आज के हालातों में ऐसा होना नामुमकिन सा लगता है. क्योंकि 2007 की इसी रिपोर्ट के बाद पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ ने अमेरिका को युद्ध की धमकी तक दे डाली थी. तब मुशर्रफ ने कहा था, 'परमाणु बम को सीज करने की कोशिश पाकिस्तान और अमेरिका के बीच युद्ध शुरु कर देगा. ये हमारी संपत्ति है, जो देशभर के कई सुरक्षित ठिकानों पर हैं. हमारे 20000 से ज्यादा फौजी इनकी सुरक्षा में तैनात हैं.'

भारत की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news