Danish Ali: BSP ने अमरोहा सांसद कुंवर दानिश अली को पार्टी से निलंबित किया, बताई ये बड़ी वजह
trendingNow,recommendedStories0/india/up-uttarakhand/uputtarakhand2002482

Danish Ali: BSP ने अमरोहा सांसद कुंवर दानिश अली को पार्टी से निलंबित किया, बताई ये बड़ी वजह

Danish Ali Latest News: BSP ने अमरोहा सांसद कुंवर दानिश अली को पार्टी से छह साल के लिए निलंबित कर दिया है.पार्टी ने एक पत्र जारी कर इसकी वजह बताई है.

Amroha MP Kunwar Danish Ali and Mayawati

Danish Ali News in Hindi : BSP ने अमरोहा सांसद कुंवर दानिश अली को पार्टी से निकाल दिया है. बहुजन समाज पार्टी की ओर से जारी एक पत्र में कहा गया है कि अमरोहा सांसद कुंवर दानिश अली को कई बार मौखिक रूप से और शीर्ष नेतृत्व ने पार्टी की नीतियों, विचारधारा और गतिविधियों के खिलाफ जाकर बयानबाजी न करने की नसीहत दी गई थी. लेकिन उन्होंने इसकी अनसुनी की. इसमें यह भी कहा गया है कि 2018 तक दानिश अली कर्नाटक की पार्टी जद एस के संस्थापक एचडी देवेगौड़ा के साथ मिलकर काम कर रहे थे. देवेगौड़ा के कहने पर ही दानिश अली को बहुजन समाज पार्टी ने 2019 में अमरोहा से टिकट देकर लोकसभा चुनाव में जितवाया. लेकिन दानिश अली लगातार पार्टी के आदेशों की अवहेलना कर पार्टी विरोधी गतिविधि में लिप्त पाए गए. 

क्या सपा या कांग्रेस में जाएंगे
कुंवर दानिश अली बसपा से निकाले जाने के बाद कांग्रेस या सपा का दामन थाम सकते हैं. मुस्लिम बहुल इलाके में दानिश अली की मजबूत पकड़ मानी जाती है. अमरोहा में करीब 30 फीसदी आबादी मुस्लिम है. सवाल है कि क्या वे इमरान मसूद की तरह कांग्रेस में जाएंगे या बीजेपी को सबसे कड़ी टक्कर देने वाली सपा के नेता अखिलेश यादव का दामन थामेंगे.

दानिश अली ने पार्टी से निकाले जाने पर कहा, मैं हमेशा बहन मायावती का शुक्रगुजार रहूंगा कि उन्होंने लोकसभा का टिकट देकर मुझे संसद का सदस्य बनाया. बहन जी ने मुझे संसदीय दल का नेता बनाया. उनका हमेशा प्यार और समर्थन मिला है. उनका आज का फैसला जरूर दुर्भाग्यपूर्ण है. अली ने कहा, मैंने अपनी पूरी मेहनत और लगन के साथ बहुजन समाज पार्टी को मजबूत करने का बेहतर प्रयास किया है. कभी भी पार्टी विरोधी काम नहीं किया. इस बात की गवाह अमरोहा की जनता है. मैं भारतीय जनता पार्टी के सरकार की जन्म विरोधी नीतियों का विरोध हमेशा किया है और आगे भी करता रहूंगा

देवेगौड़ा से थी नजदीकी
कुंवर दानिश अली 2019 से अमरोहा से लोकसभा सांसद हैं. दानिश अली ने  2019 में पूर्व प्रधानमंत्री की जनता दल सेक्युलर छोड़ने के बाद बहुजन समाज पार्टी की सदस्यता ली थी. हाल ही में संसद में बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी ने उनको लेकर अमर्यादित टिप्पणियां की थीं. बिधूड़ी के बयान की सभी दलों के सांसदों और नेताओं ने खुले तौर पर निंदा की थी. दानिश अली ने बिधूड़ी के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने पर लोकसभा से इस्तीफा देने की धमकी दी थी. 

हापुड़ में जन्म, जामिया से पढ़ाई
अली की पैदाइश 10 अप्रैल 1975 की हापुड़ में हुई.कुंवर जाफ़र अली और नफ़ीस के घर जन्मे दानिश अली ने नई दिल्ली में जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय से स्नातक किया. दानिश अली ने 15 जनवरी 2005 को जुबिया दानिश से किया. उनका एक बेटा और दो बेटियां हैं.

जनता दल एस से करियर का आगाज
अली ने अपना सियासी करियर जनता दल एस से शुरू किया और पार्टी के महासचिव बने, लेकिन यूपी में पार्टी की सक्रियता कम होने के कारण बसपा में शामिल हो गए. कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और उनके पिता देवेगौड़ा की इस पर सहमति थी.बसपा ने तुरंत ही दानिश अली को अमरोहा से चुनाव लड़वा दिया. दानिश अली लोकसभा चुनाव में भाजपा के कंवर सिंह तंवर को 63 हजार मतों के अंतर से हराकर संसद पहुंचे.

बीएसपी सुप्रीमो मायावती कल करेंगी बड़ी बैठक 
मायावती देश भर के वरिष्ठ एवं विभिन्न राज्यों के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ कल बैठक करेंगी. लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर उम्मीदवारों के चयन पर होगी चर्चा.वर्तमान विधानसभा चुनाव में बीएसपी की परफॉर्मेंस को लेकर चुनौतियों पर चर्चा होगी.बीएसपी सुप्रीमो के जन्मदिन 15 जनवरी 2024 को पार्टी कल्याणकारी दिवस के रूप में मनाएगी बीएसपी. सुबह 11 बजे बीएसपी प्रदेश कार्यालय माल एवेन्यू में ये बड़ी बैठक होगी.

Trending news