UP News: रोडवेज विभाग में ये क्या हो रहा है? जनरथ AC बसें बन गईं 'साधारण', हैरान कर देगा मामला
trendingNow12000570

UP News: रोडवेज विभाग में ये क्या हो रहा है? जनरथ AC बसें बन गईं 'साधारण', हैरान कर देगा मामला

UP Roadways: यूपी में रोडवेज विभाग की भीषण लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां एक अप्रत्याशित घटनाक्रम की वजह से दर्जनों AC जनरथ बसें साधारण बसों में तब्दील हो गईं. 

UP News: रोडवेज विभाग में ये क्या हो रहा है? जनरथ AC बसें बन गईं 'साधारण', हैरान कर देगा मामला

UPSRTC Janrath Online Bus Ticket Booking: उत्तर प्रदेश में रोजाना बस से सफर करने वाले यात्रियों के लिए बुरी खबर है. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि सूबे में यात्रियों को सस्ता और किफायती सफर कराने वाली AC जनरथ बसों (Janrath Bus) की सुविधा जल्द ही खत्म होने जा रही है. इस अप्रत्याशित घटनाक्रम की शुरुआत पश्चिमी यूपी के कमर्शियल हब गाजियाबाद से हुई जहां क्षेत्र की 42 AC जनरथ बसों के AC की मरम्मत के लिए मैकेनिक न मिलने से उन महंगी बसों को साधारण बसों की तरह चलाया जा रहा है.

सभी 650 बसें बन जाएंगी जनसाधारण?

परिवहन विभाग के सूत्रों के मुताबिक ऐसी समस्या कई और जिलों में भी देखने को मिली है. ऐसे में अब पूरे सूबे की सभी 650 जनरथ बसों को साधारण बनाकर चलाने की भी तैयारी है. आपको बताते चलें कि 2016 में तब समाजवादी पार्टी की सरकार थी जिसके मुखिया अखिलेश यादव थे. जब उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की ओर से यात्रियों को सस्ती व किफायती एसी बसों की सुविधा देने के मकसद से इस सेवा की शुरुआत हुई थी. इसके तहत शुरुआत में पूरे यूपी के लिए 650 एसी जनरथ बसें खरीदी गईं. इन बसों का रंग हरा था और इनका किराया साधारण बसों की तुलना में 40% ज्यादा था.

1625 रूट पर अब होगा ये इंतजाम

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपी में अब बस से सफर को प्राथमिकता देने वाले मुसाफिरों को सरकार नया तोहफा देने जा रही है. ऐसे में जल्द ही गाजियाबाद समेत 1625 नए रूटों पर बसें दौड़ाने की तैयारी हैं. मेट्रो शहरों से लेकर गांवों तक मुसाफिरों का सफर आसान करने के लिए कराए गए एक सर्वे में रूट तय हो चुके हैं, जहां बसों को चलाने की जरूरत बताई गई है. इस सिलसिले में राज्य परिवहन प्राधिकरण को प्रस्ताव जा चुका है, जिसमें गाजियाबाद, झांसी, चित्रकूट, सहारनपुर और वाराणसी का रूट भी शामिल हैं.

 

Trending news