Rajasthan Tourism: राजस्थान में मौसम हुआ सुहावना, हुआ देसी-विदेशी पर्यटकों का इजाफा
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1982806

Rajasthan Tourism: राजस्थान में मौसम हुआ सुहावना, हुआ देसी-विदेशी पर्यटकों का इजाफा

Rajasthan Tourism: राजस्थान में अक्टूबर महीने के बाद पर्यटन सीजन की शुरुआत हो जाती है, जिसके चलते पर्यटन स्थलों पर देसी-विदेशी पर्यटकों में इजाफा होने लगता है. 

Rajasthan Tourism: राजस्थान में मौसम हुआ सुहावना, हुआ देसी-विदेशी पर्यटकों का इजाफा

Jaipur News: राजस्थान में अक्टूबर महीने के बाद पर्यटन सीजन की शुरुआत हो जाती है. प्रदेश के विभिन्न पर्यटन स्थलों पर रोजाना लाखों की तादाद में पर्यटकों की चहल कदमी बढ़ जाती है. दिसंबर और जनवरी में बड़ी तादाद में पर्यटकों की आवाजाही से पर्यटन स्थलों समेत शहर में ट्रैफिक जाम के हालात बन जाते है. 

साथ ही पर्यटन उधोग होटलियर्स, टूर एंड ट्रैवल्स और गाइडों समेत अन्य एडवांस बुकिंग होना शुरू हो गई है. दिसंबर महीने में प्रदेश के सभी होटल फूल हो जाने पर पर्यटकों को होटल में ठहरने के लिए काफी मशक्कत करना पड़ सकता है. 

यह भी पढ़ेंः Jaisalmer News: पोकरण में बारिश के बाद शीत लहर का कहर, सूर्य भगवान के दर्शन नहीं हुए

राज्य सरकार की ओर से प्रदेश में पर्यटन के लिहाज से नए-नए पर्यटन सर्किट विकसित किए गए हैं, जिससे प्रदेश में किले-महल और संग्रहालय के अलावा अब राजस्थान नेचर और वाटर पर्यटन को भी बढ़ाया है, जिससे प्रदेश में अक्टूबर महीने से ही बडी संख्या में देशी पर्यटन की आवाजाही बढ़ जाती है. 

वहीं, विदेशी पर्यटन की बात करें तो प्रदेश में नवंबर महीने में सर्दी का असर बढ़ने से विदेशी पर्यटन की चहल कदमी बढ़ना शुरू हो जाती है. दिसंबर महीने में बडी संख्या में पूरी दुनिया के विदेशी पर्यटन क्रिसमस और न्यू ईयर सेलिब्रेट करने के लिए राजस्थान पहली पसंद बना रहे हैं. इसके साथ ही राजस्थान के विभिन्न जिलों के सभी होटल्स,गाइड और ट्रेवल्स एंजेसियों की अभी से बुकिंग होना शुरू हो गई है. 

दिसंबर महीने के अंतिम सप्ताह और जनवरी महीने में कड़ाके की ठंडक होने से विदेशी पर्यटकों की संख्या में ओर इजाफा कर देता है. प्रदेश में दिसंबर और जनवरी महीना प्रदेश के लिए गोल्डन महीना माना जाता है. इन दो महीनों में प्रदेश में टूर एंड ट्रेवलस, गाइड, होटल एडवांस बुक हो जाते हैं, तो वहीं प्रदेश के रेस्टोरेंट, ई-रिक्शा समेत 13 लोगों को पर्यटन रोजगार बढ़ा देता है. प्रदेश का 60 प्रतिशत व्यवसाय पर्यटन पर टिका हुआ है. 

यह भी पढ़ेंः Rajasthan Weather: राजस्थान में कार्तिक में आया सावन, हो रही जोरदार बारिश

प्रदेश के जिलों समेत जयपुर शहर में यातायात व्यवस्था सुचारू करने की आवयकता है. जयपुर के विभिन्न पर्यटन स्थलों तक जाने के लिए ट्रैफिक पुलिस को पहले से ही यातायात व्यवस्था करने के लिए प्लान बनाना होगा ताकि पर्यटन के साथ स्थानीय राहगीरों की आवाजाही सुचारू हो सके. देश-दुनिया में पिंकसिटी जयपुर समेत प्रदेश की पर्यटन के लिहाज से एक अच्छी छवि बनी हुई है. इस छवि को बनाए रखने के लिए प्रदेश सहित जयपुर आने वाला पर्यटक सुचारू रूप से भ्रमण करके जा सकें. 

Trending news