UPSC टॉपर इशिता किशोर ने इस स्ट्रेटजी से किया था ऑल इंडिया टॉप, जानें क्या था वो खास फॉर्मूला
trendingNow11986606

UPSC टॉपर इशिता किशोर ने इस स्ट्रेटजी से किया था ऑल इंडिया टॉप, जानें क्या था वो खास फॉर्मूला

UPSC Topper Ishita Kishore Strategy: साल 2022 में नोएडा की रहने वाली इशिता किशोर ने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में ऑल इंडिया टॉप किया था. आज हम आपको उनके द्वारा साझा की गई उन टिप्स के बारे में बता रहे हैं, जिसे फॉलो कर उन्होंने ऑल इंडिया रैंक 1 हासिल की थी.

UPSC टॉपर इशिता किशोर ने इस स्ट्रेटजी से किया था ऑल इंडिया टॉप, जानें क्या था वो खास फॉर्मूला

UPSC Topper Ishita Kishore Strategy: यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 में ग्रेटर नोएडा की रहने वाली इशिता किशोर ने टॉप किया था. इशिता ने अपनी इस सफलता का सारा श्रेय अपनी मां को दिया है. इशिता ने सिविल सेवा परीक्षा में सफलता अपने तीसरे प्रसास में हासिल की थी. वह अपने पहले दो प्रयासों में तो प्रीलिम्स परीक्षा भी क्रैक नहीं कर पाई थीं. 

रह चुकी हैं नेशनल फुलबॉल प्लेयर

इशिता नेशनल लेवल की फुलबॉल प्लेयर भी रह चुकी हैं, उन्होंने साल 2012 में सुब्रतो कप फुटबॉल टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था. इशिता मूल रूप से बिहार के पटना जिले की रहने वाली हैं. उनके पिता एयरफोर्स में विग कमांडर थे. साल 2004 में वह ऑन ड्यूटी शहीद हो गए थे. जिसके बाद इशिता की मां ज्योति ने ही पूरे घर को संभाला था. इशिता की मां दिल्ली के एयरफोर्स बाल भारती स्कूल, लोदी रोड में पढ़ाती थी. साल 2021 में ही उनकी मां सेवानिवृत्त हुई थीं. इशिता कहती है कि उनकी मां ने उन्हें परीक्षा की तैयारी के दौरान काफी सपोर्ट किया था.

नौकरी छोड़ शुरू की UPSC की तैयारी
इशिता की स्कूलिंग भी दिल्ली के एयरफोर्स बाल भारती स्कूल लोदी रोड से ही हुई है. इसके बाद साल 2017 में उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स में इकोनॉमिक्स ऑनर्स में एडमिशन ले लिया. यहां से पास आउट होने के बाद उन्होंने दुनिया में Big 4 की कैटेगरी में आने वाली कंपनी Ernst & Young में दो साल काम किया. इस दौरान इशिता यह समय नहीं पा रही थीं कि वह MBA करे या फिर इकोनॉमिक्स में ही पोस्ट ग्रेजुएशन करे, लेकिन उन्होंने इन दोनों को ही ना चुनते हुए, सीधा यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने का फैसला ले लिया.

रोजाना इतने घंटे की तैयारी
इस फैसले के बाद उन्होंने दो साल नौकरी करने के बाद साल 2019 में अपनी नौकरी छोड़ दी और परीक्षा की तैयारी में जुट गई. उन्होंने परीक्षा की तैयारी के लिए ऑनलाइन कोचिंग का सहारा लिया. इशिता ने परीक्षा के लिए ईमानदारी से तैयारी की. वह रोजाना 8 से 9 घंटे पढ़ाई किया करती थीं. उन्होंने अपनी सभी कमजोरियों को दूर किया और हर विषय पर अपनी पकड़ मजबूत की.

इंटरव्यू में पूछे गए यह सवाल
इशिता बताती है कि इंटरव्यू में उनसे पंचायती राज सिस्टम, रिसर्च और खेल समेत कई तमाम मुद्दों पर सवाल पूछे गए. उनसे अरुणाचल प्रदेश को लेकर चीन के स्टैंड पर भी सवाल पूछा गया था, जिसमें उन्होंने कहा कि वैश्विक दबाव के बीच भारत को अपना स्टैंड रखना चाहिए.

इसे चुना अपना ऑप्शनल सब्जेक्ट
इशिता कहती हैं कि आपकी जिस विषय में रूची हो आप उसी विषय को अपने ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में चुने. इशिता ने इकोनॉमिक्स ऑनर्स में डिग्री हासिल करने के बावजूद, इकोनॉमिक्स को अपने ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में नहीं चुना. इशिता ने बताया कि उन्हें पढ़ने-लिखने में बड़ा मजा आता है और उन्हें राजनीति में भी काफी रूचि है, इसलिए उन्होंने अपने ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में पॉलिटिकल साइंस एंड इंटरनेशनल रिलेशन को चुना था.

इशिता किशोर ने दी यूपीएससी सिविल सेवा उम्मीदवारों को निम्नलिखित सलाह

1. उम्मीदवार ईमानदारी से परीक्षा की तैयारी करें.
2. अपनी कमजोरी और मजबूती को पहतानें
3. दूसरों से अपनी तुलना ना करें.
4. जहां हो सकें दूसरों की मदद जरूर लें.
5. सेल्फ स्टडी पर ज्यादा से ज्यादा फोकस करें

Trending news