दिल्ली में छोटा हुआ विंटर ब्रेक, इस बार 15 नहीं इतने दिनों की होगी छुट्टी; जानें कब से कब तक स्कूल रहेंगे बंद
trendingNow,recommendedStories0/zeesalaam/zeesalaam1997812

दिल्ली में छोटा हुआ विंटर ब्रेक, इस बार 15 नहीं इतने दिनों की होगी छुट्टी; जानें कब से कब तक स्कूल रहेंगे बंद

Delhi school Winter Vacation: दिल्ली के स्कूलों में इस बार विंटर ब्रेक छोटा हो गया है. पिछले साल के मुकाबले इस साल स्टूडेंट्स को सर्दियों की छुट्टियां कम मिलेगी. सामान्य तौर पर इससे पहले सर्दियों के मौसम में 15 दिन स्कूल बंद रहते थे, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा.

दिल्ली में छोटा हुआ विंटर ब्रेक, इस बार 15 नहीं इतने दिनों की होगी छुट्टी; जानें कब से कब तक स्कूल रहेंगे बंद

Delhi school Winter Vacation: दिल्ली के स्कूलों में इस बार विंटर ब्रेक छोटा हो गया है. पिछले साल के मुकाबले इस साल स्टूडेंट्स को सर्दियों की छुट्टियां कम मिलेगी. दिल्ली गवर्नमेंट के डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन ( Directorate Of Education ) ने 1 से 6 जनवरी 2024 तक स्कूलों में सर्दियों की छुट्टी देने का ऐलान कर दिया है.

सामान्य तौर पर इससे पहले सर्दियों के मौसम में 15 दिन स्कूल बंद रहते थे, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा. दिल्ली सरकार के डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन के मुताबिक, दिल्ली में 1 से 6 जनवरी 2024 तक स्कूलों में विंटर वेकेशन रहेगा. हालांकि, 7 जनवरी को रविवार होने की वजह से सोमवार 8 जनवरी से स्कूल खुल सकेंगे.

गौरतलब है कि दिल्ली में जनवरी के महीने में कड़ाके की ठंड पड़ती है. इस लिए दिल्ली की ठंड को देखते हुए यहां सभी स्कूलों में सामान्य तौर पर क्लास 1 से 5 तक के बच्चों के लिए सर्दियों की छुट्टियां 25 दिसंबर से 15 जनवरी तक रहती हैं. यदि क्लास 6 से 12वीं तक के स्टीडेंट्स की बात की जाए तो उनके लिए सर्दियों की छुट्टियां आमतौर पर 1 से 15 जनवरी तक रहती हैं.

दीवाली से पहले डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन ने 9 से 18 नवंबर तक स्कूलों की छुट्टी घोषित कर दी थी. दिल्ली में वायु प्रदूषण ( Delhi Pollution ) सूचकांक 500 के आसपास पहुंचने की वजह से  डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन ने 'विंटर ब्रेक' यानी सर्दियों की छुट्टी घोषित करने का फैसला लेना पड़ा था.

अब जनवरी महीने में मिलने वाली सर्दियों की छुट्टियों को कम किया गया है. एजुकेश डिपार्टमेंट ( Delhi Education Department ) के मुताबिक ऐसा इसलिए किया गया है ताकि स्टूडेंट्स की पढ़ाई का नुकसान न हो.

Trending news