Advertisement
photoDetails1hindi

जेब में नहीं है पैसा और घूमने का भी है मन? तो ये हैं दिल्ली की सबसे कम बजट में घूमने वाली जगहें

देश की राजधानी दिल्ली ऐतिहासिक इमारत और नेचुरल ब्यूटी का खजाना है. दिल्ली एक टूरिज्म रिच स्टेट है यहां घूमने के लिए बहुत सी जगहें हैं. बहुत लोगों को लगता है दिल्ली घूमने के लिए बहुत पैसा खर्च करना होता है, लेकिन ऐसा सिर्फ कुछ जगहों के लिए है. यहां बहुत कम पैसे में भी घुमा जा सकता है. अगर आप कम बजट में दिल्ली घूमना चाहते हैं, तो दिल्ली में कई बेहतरीन जगहें हैं जहां आसानी से घूम सकते हैं. आइए दिल्ली की 5 सबसे चीप एंड बेस्ट प्लेस के बारे में जानते हैं.

 

1. हुमायूं का मकबरा

1/5
1. हुमायूं का मकबरा

हुमायूं का मकबरा एक बहुत आकर्षक ऐतिहासिक इमारत है. इसको 1572 में बनवाया गया था. आज भी इस इमारत की खूबसूरती देख कर आंखें थोड़ी देर ठहर जाती हैं. यह स्मारक दिल्ली का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है. इसे UNESCO ने वर्ल्ड हेरीटेज साइट यानी विश्व धरोहर घोषित किया है. यहां की एंट्री फीस ₹50 है. ऑनलाइन पेमेंट करने पर कुछ छूट मिल सकता है. यहां आप सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक रह सकते हैं.

2. कुतुब मीनार

2/5
2. कुतुब मीनार

कुतुब मीनार दुनिया की सबसे ऊंची ईंटों से बना हुआ मीनार है. यह दिल्ली का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है. इसे भी UNESCO ने विश्व धरोहर स्थल घोषित किया है. यहां की एंट्री फीस ₹50 है. ऑनलाइन पेमेंट करने पर कुछ छूट मिल सकता है.

3. इंडिया गेट

3/5
3. इंडिया गेट

इंडिया गेट एक वॉर मेमोरियल है. ये फर्स्ट वर्ल्ड वार और तीसरे एंग्लो-अफगान युद्ध में शहीद हुए भारतीय सैनिकों को समर्पित है. यह दिल्ली का एक टूरिस्ट प्लेस है और यहां घूमने का कोई फीस नहीं लगता है.

4. सुंदर नर्सरी

4/5
4. सुंदर नर्सरी

वैसे तो नर्सरी में पेड़-पौधे उगाने का काम होता है लेकिन सुंदर नर्सरी, नर्सरी होने के साथ-साथ फेमस टूरिस्ट प्लेस भी है. ये दिल्ली खूबसूरत पर्यटन स्थलों में से एक है. इसे 16वीं शताब्दी में हुमायूं ने बनवाया गया था. यहां की एंट्री फीस ₹50 है. ऑनलाइन पेमेंट करने पर कुछ छूट मिल सकता है.

5. अग्रसेन की बावली

5/5
5. अग्रसेन की बावली

अग्रसेन की बावली कनॉट प्लेस के बहुत नजदीक है. उस भिड़-भाड़ वाले इलाके में ये एक ऐसी जगह जहां शांति से थोड़ी देर समय बिताया जा सकता है. ये टूरिस्ट प्लेस लगभग 600 साल पुराना है. इसे राजा अग्रसेन ने 14वीं शताब्दी में बनवाया था. यहां घूमने का कोई चार्ज नहीं लगता है.

ट्रेन्डिंग फोटोज़