Siddharthnagar: ईसाई समुदाय के प्रार्थना स्थल पर पहुंचे दबंग की जमकर तोड़फोड़, जांच में जुटी पुलिस
trendingNow,recommendedStories0/india/up-uttarakhand/uputtarakhand1579794

Siddharthnagar: ईसाई समुदाय के प्रार्थना स्थल पर पहुंचे दबंग की जमकर तोड़फोड़, जांच में जुटी पुलिस

UP News: सिद्धार्थनगर में विशेष धर्म की प्रार्थना सभा में धर्म परिवर्तन का आरोप लगाते हुए कुछ लोगों ने प्रार्थना स्थल पर तोड़फोड़ की. इसके अलावा वहां मौजूद लोगों के साथ हाथापाई भी की. आइए बताते हैं पूरा मामला...

Siddharthnagar: ईसाई समुदाय के प्रार्थना स्थल पर पहुंचे दबंग की जमकर तोड़फोड़, जांच में जुटी पुलिस

सलमान आमिर/सिद्धार्थनगर: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सिद्धार्थनगर (Siddharthnagar) जिले में एक विशेष धर्म की प्रार्थना सभा में धर्म परिवर्तन का आरोप लगाते हुए, कुछ लोगों ने प्रार्थना स्थल पर जमकर तोड़फोड़ की. इस दौरान वहां मौजूद लोगों के साथ हाथापाई भी की. इस मामले से जुड़ा वीडियो भी वायरल हो रहा है. बताया जा रहा है कि वायरल वीडियो कल का है. वहीं, सूचना मिलने पर तत्काल पुलिस मौके पर पहुंची. इसके बाद पूरे हालात पर काबू पाया गया. वहीं, मौके पर प्रार्थना कर रहे पक्ष की तरफ से तहरीर मिलने के बाद भी अभी मुकदमा तक नहीं लिखा गया. हालांकि, पुलिस मामले में जांच करने की बात कह रही है.

प्रार्थना सभा में मौजूद लोगों के साथ हुई मारपीट
आपको बता दें कि ईसाई धर्म स्थल पर तोड़फोड़ और पिटाई का ये मामला सिद्धार्थनगर जिले के महंगा पिपरी टोली का है. इस मामले में प्रार्थना के संयोजक सत्यम विश्वकर्मा ने बताया कि लगभग 15 साल से यहां प्रार्थना कर रहे हैं. हर संडे को वह अपने सहयोगी और अनुयायियों के साथ प्रभु की प्रार्थना करते हैं. उन्होंने बताया कि इतवार को जब करीब 50-60 की संख्या में महिलाएं, बच्चे और पुरुष हॉल में प्रार्थना सभा में शामिल थे. तभी हिन्दू वादी संगठन के अज्ञात 40 से 50 लोग अचानक वहां पहुंच गए. धार्मिक नारे लगाते हुए उन्होंने प्रार्थना सभा में मौजूद लोगों के साथ मारपीट करते हुए तोड़फोड़ की.

संयोजक ने दी जानकारी
संयोजक ने बताया कि वहां मौजूद कुर्सी, पंखा, प्रार्थना के सामान के साथ ही उन्होंने जमकर तोड़फोड़ की और मौजूद लोगों की लाठी-डंडों से पिटाई भी की. पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस के आने पर वो लोग शांत हुए, तब लोगों की जान बची. उन्होंने कहा कि घटना के फौरन बाद ही उन्होंने अज्ञात लोगों के खिलाफ सदर थाने में तहरीर दी थी, लेकिन 24 घंटे से ज्यादा बीत जाने के बावजूद अभी तक मुकदमा पंजीकृत नहीं किया गया है.

मामले में सीओ सदर ने दी जानकारी
वहीं, इस मामले में सीओ सदर अखिलेश वर्मा ने जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मामले की जानकारी जैसे ही स्थानीय पुलिस को हुई, तत्काल पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई. इस मामले में उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है. जांच पड़ताल की जा रही है.

Trending news