Narendra Modi: 'बीच में ही लूट लेते थे किसानों का पैसा', यवतमाल में I.N.D.I. गठबंधन पर खूब बरसे PM मोदी
Advertisement

Narendra Modi: 'बीच में ही लूट लेते थे किसानों का पैसा', यवतमाल में I.N.D.I. गठबंधन पर खूब बरसे PM मोदी

PM Modi Hindi News: अपना दक्षिण दौरा खत्म करने के बाद पीएम मोदी बुधवार को महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में पहुंचे और लाखों किसानों के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि की राशि ट्रांसफर की. 

 

Narendra Modi: 'बीच में ही लूट लेते थे किसानों का पैसा', यवतमाल में I.N.D.I. गठबंधन पर खूब बरसे PM मोदी

PM Modi Maharashtra Yavatmal Visit: लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी मिशन मोड में आ गए हैं. वे लगातार देश के अलग- अलग हिस्सों का दौरा करके जनता से सीधा कनेक्ट कर रहे हैं. एक ओर जहां वे बीजेपी सरकार की उपलब्धियों को गिना रहे हैं, वहीं विपक्षी पार्टियों पर एक- एक करके प्रहार करने से भी परहेज नहीं कर रहे हैं. तमिलनाडु- केरल का दौरा पूरा करने के बाद वे आज महाराष्ट्र में पहुंचे और यवतमाल में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया. इसके बाद जनसभा में बोलते हुए उन्होंने बीजेपी सरकार की उपलब्धियां जमकर गिनाईं.

'किसानों के खाते में करोड़ों रुपये जमा'

पीएम मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, 'अभी तक महाराष्ट्र के किसानों के पास डबल इंजन की डबल गारंटी है. महाराष्ट्र के किसानों को 3800 करोड़ मिले हैं और पीएम किसान सम्मान निधि के 3 लाख करोड़ रुपये किसानों के खाते में जमा हो गए हैं. महाराष्ट्र के किसानों को 30 हजार करोड़ और यवतमाल के किसानों को 900 करोड़ मिले हैं और सोचिए कि छोटे किसानों के कितनs काम आ रहे हैं. कुछ दिन पहले ही गन्ने के मूल्य में वृद्धि कर 340 रू प्रति क्विंटल कर दिया गया है. इससे महाराष्ट्र के गन्ना किसानों और खेत मजदूरों को भी लाभ होगा. हमने कुछ दिन पहले दुनिया की सबसे बड़ी अनाज की गोदाम बनाने की योजना शुरू की है. इससे छोटे किसानों को लाभ होगा और उन्हें मजबूरी में अपने उत्पादों को कम दाम में नहीं बेचना होगा.'

'अबकी बार... 400 पार!'

यवतमाल जिले से अपने रिश्तों को याद करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'मैं 10 साल पहले जब ‘चाय पर चर्चा’ करने यवतमाल आया था, तो आपने बहुत आशीर्वाद दिया और देश की जनता ने NDA को 300 पार पहुंचा दिया. फिर मैं 2019 में फरवरी के महीने में ही यवतमाल आया था. तब भी आपने हम पर खूब प्रेम बरसाया. देश ने भी तब NDA को 350 पार करा दिया. आज जब 2024 के चुनाव से पहले मैं विकास के उत्सव में शामिल होने आया हूं, तब पूरे देश में एक ही आवाज गूंज रही है. अबकी बार... 400 पार!'

'संकल्प से सिद्धि का प्रण'

अपने प्रण के बारे में लोगों को याद दिलाते हुए पीएम ने कहा, 'हम देश बनाने के लिए, देशवासियों का जीवन बदलने के लिए एक मिशन लेकर निकले हुए लोग हैं. इसलिए बीते 10 वर्ष में जो कुछ किया, वो आने वाले 25 वर्ष की नींव है. मैंने भारत के कोने-कोने को विकसित बनाने का संकल्प लिया है. इस संकल्प की सिद्धि के लिए शरीर का कण-कण, जीवन का क्षण-क्षण समर्पित है.'

'बीच में लूट लेते थे किसानों का पैसा'

किसानों से अपना नाता जोड़ते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'आप याद कीजिए, ये जो इंडी गठबंधन है, इसकी जब केंद्र में सरकार थी तब क्या स्थिति थी? तब तो कृषि मंत्री भी यहीं महाराष्ट्र से ही थे. उस समय दिल्ली से विदर्भ के किसानों के नाम पर पैकेज घोषित होता था और उसे बीच में ही लूट लिया जाता था. गांव, गरीब, किसान, आदिवासी को कुछ नहीं मिलता था. आज देखिए, मैंने एक बटन दबाया और देखते ही देखते, पीएम किसान सम्मान निधि के 21 हजार करोड़ रुपये देश के करोड़ों किसानों के खाते में पहुंच गए. यही तो मोदी की गारंटी है.'

'कारीगरों के लिए पीएम विश्वकर्मा योजना'

पीएम ने कहा, 'जिनको कभी किसी ने नहीं पूछा, उनको मोदी ने पूछा है, उनको पूजा है. विश्वकर्मा साथियों के लिए, बलुतेदार समुदायों के कारीगरों के लिए, कभी कोई बड़ी योजना नहीं बनी. मोदी ने पहली बार 13 हजार करोड़ रुपये की पीएम विश्वकर्मा योजना शुरु की है.'

जलसंकट पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, पीने का पानी हो या सिंचाई का पानी, पहले कितना हाहाकार था. इंडी गठबंधन को इसकी चिंता नहीं थी. आजादी के बाद 100 में से सिर्फ 15 घर थे, जिनमें नल से पानी आता था. माताओं और बहनों के लिए गंभीर संकट रहता था. हमने इस संकट को दूर करने के लिए लाल किले से गारंटी दी थी और आज 100 में 75 ग्रामीण परिवारों में पाइप से जल पहुंचता है. महाराष्ट्र में 50 लाख से कम परिवारों के पास नल का जल कनेक्शन था. आज वो सवा करोड़ है, इसलिए देश कहता है कि मोदी की गारंटी मतलब गारंटी पूरा होने की गारंटी है. 

Trending news