Advertisement
photoDetails1mpcg

Mahashivratri 2024: महाशिवरात्रि को लेकर MP के इन 10 शिव मंदिरों में जुटेंगी भक्तों की भीड़, देखिए PHOTOS

Mahashivratri 2024: महाशिवरात्रि को लेकर शिव भक्तों में काफी उत्साह है. हर साल फाल्गुन मास में कृष्ण पक्ष की चुतर्दशी की तिथि को ये पर्व मनाया जाता है. हमारे पंचांग के मुताबिक फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी 8 मार्च को है. महाशिवरात्रि पर्व को लेकर मध्यप्रदेश के प्रसिद्ध मंदिरों में तैयारियां शुरू हो गई है.

उज्जैन का महाकालेश्वर मंदिर

1/10
उज्जैन का महाकालेश्वर मंदिर

उज्जैन के विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर भगवान शिव के बाहर ज्योतिर्लिंग में प्रमुख है. मध्यप्रदेश में ये शिव का सबसे प्रमुख स्थान है. जहां शिवरात्रि को लेकर तैयारी शुरू हो गई है.

खंडवा का ओंकारेश्वर मंदिर

2/10
खंडवा का ओंकारेश्वर मंदिर

नर्मदा नदी के तट पर ओंकारेश्वर मंदिर स्थित है. ये 12 ज्योतिर्लिंग में से एक ज्योतिर्लिंग है. यहां शिव  को ओंकारेश्वर और ममलेश्वर के नाम से जाता है. यहां पर शिवरात्रि की तैयारी तेज है.

मंदसौर का पशुपतिनाथ मंदिर

3/10
मंदसौर का पशुपतिनाथ मंदिर

मंदसौर का भगवान पशुपतिनाथ को आठ मुखी शिवलिंग के लिए विश्व भर में प्रसिद्ध है. यह हिंदू धर्म का प्रमुख तीर्थ स्थल है. यहां शिवरात्रि को लेकर तैयारियां शुरू हो गई है.

 

भोपाल का भोजपुर मंदिर

4/10
भोपाल का भोजपुर मंदिर

भोपाल के पास भोजपुर गांव में भोजेश्वर मंदिर स्थित है. जहां विश्व का सबसे प्राचीन और बड़ा शिवलिंग स्थापित है. यहां पर दूर-दूर से लोग दर्शन करने आत हैं. यहां महाशिवरात्रि को लेकर तैयारी तेज हो गई है.

पचमढ़ी का चौरागढ़ महादेव मंदिर

5/10
पचमढ़ी का चौरागढ़ महादेव मंदिर

पचमढ़ी में चौरागढ़ सतपुड़ा की तीसरी सबसे ऊंची चोटी है, यहां पर भगवान शिव का अद्भुत मंदिर है. यहां पर शिव को त्रिशुल अर्पित किए जाते हैं. माना जाता है यहां भगवान शिव का निवास है.

ग्वालियर का अचलेश्वर महादेव मंदिर

6/10
ग्वालियर का अचलेश्वर महादेव मंदिर

ग्वालियर के अचलेश्वर महादेव मंदिर में सबसे प्राचीन शिव लिंग विराजमान है. कहा जाता है कि सिंधिया शासन काल ने इसे स्थापित किया गया था. यहां पर महाशिवरात्रि को लेकर तैयारियां शुरू हो गई है.

 

महेश्वर का जलेश्वर शिव मंदिर

7/10
महेश्वर का जलेश्वर शिव मंदिर

महेश्वर का जलेश्वर शिव मंदिर विश्व प्रसिद्ध है. नर्मदा के तट पर बहुत सारे शिव मंदिर निर्मित है, ये भी काफी खास है. मध्यप्रदेश का ये सबसे फेमस शिव मंदिर है. यहां तैयारियां शुरू हो गई है.

जबलपुर का गुप्तेश्वर महादेव मंदिर

8/10
जबलपुर का गुप्तेश्वर महादेव मंदिर

जबलपुर का गुप्तेश्वर महादेव मंदिर काफी प्रसिद्ध है. इसे रामेश्वरम का उपलिंग भी माना जाता है, और ये शिव की जबलपुर की सबसे बड़ी प्रतिमा है.

खजुराहो का मंतगेश्वर महादेव मंदिर

9/10
खजुराहो का मंतगेश्वर महादेव मंदिर

खजुराहो का मंतगेश्वर महादेव मंदिर बलुआ पत्थर से निर्मित एक मात्र शिव मंदिर है. यहां की वास्तुकला देखने योग्य है. यहां पर शिवरात्रि को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई है.

अमरकंट का महेश्वर महादेव मंदिर

10/10
अमरकंट का महेश्वर महादेव मंदिर

अमरकंटक से लगभग 10 किमी दूर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सीमा पर स्थित ज्वालेश्वर महादेव मंदिर है.  कहा जाता है कि भगवान शिव ने स्वयं इस मंदिर को स्थापित किया था. यहां पर महाशिवरात्रि को लेकर तैयारियां शुरू हो गई है.