Kisan Andolan: 'WTO से बाहर आए भारत', आंदोलनकारी किसानों ने उठाई नई मांग
Advertisement

Kisan Andolan: 'WTO से बाहर आए भारत', आंदोलनकारी किसानों ने उठाई नई मांग

Kisan Andolan Live Updates: पंजाब और हरियाणा के बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी है. किसान MSP की कानूनी गारंटी समेत कई मांगों पर अड़े हुए हैं. किसान पुतला दहन करके विरोध प्रदर्शन करने का प्लान कर रहे हैं.

Kisan Andolan: 'WTO से बाहर आए भारत', आंदोलनकारी किसानों ने उठाई नई मांग
LIVE Blog

Farmers Protest Latest News: हरियाणा-पंजाब बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शन (Farmers Protest) का आज 13वां दिन है. किसान MSP की गारंटी समेत कई मांगों पर अड़े हुए हैं. शनिवार को किसानों ने कैंडल मार्च निकालकर विरोध प्रदर्शन किया. आज किसान देशभर में युवाओं से बातचीत करेंगे. उन्हें किसानों के मुद्दों के बारे में जागरूक करेंगे. वहीं, सोमवार को देशभर के गांवों में सरकार के पुतला दहन की तैयारी है. किसान 29 फरवरी को बैठक के बाद दिल्ली कूच पर अंतिम फैसला लेंगे. किसान नेताओं का कहना है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होंगी उनका आंदोलन जारी रहेगा. दूसरी तरफ, किसानों के प्रदर्शन को लेकर सियासत भी शुरू हो गई है. सरकार की तरफ से किसानों के साथ बैठक की जा रही है. वहीं, विपक्ष प्रदर्शनकारियों के साथ खड़े रहने की बात कर रहा है. किसानों आंदोलन के लेटेस्ट अपडेट यहां जानिए.

25 February 2024
17:46 PM

Kisan Andolan News: 'पंजाब सरकार शुभकरण मामले में FIR दर्ज करे', प्रदर्शनकारी किसानों की चेतावनी

किसानों ने प्रेसवार्ता करके कहा, जो फसलें एमएसपी से ऊपर खरीदी जा रही हैं, वे केवल 6 प्रतिशत ही हैं. भारत सरकार के मुताबिक 13 फीसदी खरीद एमएसपी पर होती है लेकिन बाकी लोगों का शोषण हो रहा है. डब्ल्यूटीओ का खुले बाजार का दृष्टिकोण भारत के लिए कभी भी उपयोगी नहीं रहा. जब तक भारत सरकार WTO से बाहर नहीं आती, तब तक कृषि क्षेत्र प्रगति नहीं कर सकता. प्रीतपाल सिंह को 14 लोगों ने पीटा और गले में रस्सी डालकर खींचा. उन्होंने दिल्ली की सीमाएं खोल दीं उसके बारे में भी बताइये पंजाब हरियाणा में कई जगहों पर इंटरनेट सेवाएं बहाल कर दी गई हैं वह अच्छा है. शुभकरण के मामले में पंजाब सरकार ने अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं की है, इसलिए हमारी सरकार को चेतावनी है कि जल्द से जल्द एफआईआर दर्ज करें.'

17:44 PM

Andolan Update: 'WTO से बाहर आए भारत', आंदोलनकारी किसानों की नई मांग

शंभू बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे पंजाब के किसानों ने प्रेसवार्ता करके कहा, 'हमने तय कर लिया था कि आज हम WTO को लेकर एक सेमिनार करेंगे. इस पर आज एक सेमिनार आयोजित किया. भारत 1995 में विश्व व्यापार संगठन में शामिल हुआ. इससे पहले भारत स्वतंत्र कृषि नीति पर चलता था लेकिन उसके बाद डब्ल्यूटीओ सीधे कृषि क्षेत्र में हस्तक्षेप करता है. wto की वजह से हमारे देश के किसान जो रोज सुसाइड कर रहे है. wto की वजह से किसान के बच्चे बाहर जा रहे है. सरकार कार्पोरेट खेती का मॉडल लागू करना चाहती है. हम बहुत बड़ी लड़ाई लड़ रहे है. ये लड़ाई देश ही नहीं, दुनिया की बड़ी ताकतों और लोगों के खिलाफ है. यूरोप में अब बस सवा प्रतिश्त लोग खेती कर रहे हैं. हम कह रहे है कि भारत wto से बाहर आ जाए.'

15:29 PM

Kisan Andolan Live: आंदोलन में बंदूक, बरछी भाले लाना गलत- नरेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन अध्यक्ष नरेश टिकैत बागपत पहुंचे ,जहां उन्होंने किसान आंदोलन के दौरान हिंसा को लेकर बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा कि आंदोलन में हिंसा ठीक बात नहीं है. आंदोलन में बंदूक ,बरछी,भाले और जेसीबी से सरकार से मुकाबला नहीं किया जा सकता. साथ ही अन्होंने कहा कि शांति प्रिया आंदोलन के दौरान सरकार को ही किसानों से बातचीत कर हल निकालना चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने आने वाली 26 और 27 तारीख को प्रदर्शन करने का भी ऐलान किया. उन्होंने कहा कि किसान यूनियन हरिद्वार से लेकर दिल्ली तक ट्रैक्टर श्रृंखला बनाकर विरोध दर्ज कराएगी.

14:59 PM

Kisan Andolan News: आंदोलन तेज करने के लिए हरियाणा में बनी 51 सदस्यीय कमेटी

हरियाणा में दादरी के स्वामी दयाल धाम पर दर्जनभर खापों के अलावा किसान व सामाजिक संगठनों की पंचायत फोगाट खाप प्रधान बलवंत नंबरदार की अध्यक्षता में आयोजित की गई. इस दौरान 51 सदस्यीय कमेटी का गठन करते हुए आगामी किसान आंदोलन को तेज करने का निर्णय लिया. 

14:14 PM

Kisan Andolan News: किसानों का नया एक्शन प्लान

चरखी दादरी में किसान आंदोलन को लेकर किसान संगठनों की रणनीति बन गई है. खापों की अगुवाई में महिलाएं मोर्चा सभालेंगी. हजारों ट्रैक्टरों के साथ किसान मार्च निकालेंगे. दादरी-दिल्ली रोड जाम करने का फैसला फोगाट खाप प्रधान बलवंत नंबरदार की अध्यक्षता में संयुक्त कमेटी की पंचायत में लिया गया. एसकेएम की कॉल आते ही नेशनल हाईवे 152डी को भी रोड जाम करेंगे. सोमवार को होने वाले रोड जाम को लेकर हर गांवों से ट्रैक्टर लाने की जिम्मेदारी लगाई गई है.

13:40 PM

Farmers Protest: सचिन पायलट का केंद्र पर निशाना

सचिन पायलट ने किसान आंदोलन को लेकर कहा कि किसानों पर गोली और आंसू गैस चलाना दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा को ऐतिहासिक बताया. पायलट ने कहा कि केंद्र सरकार इंडिया गठबंधन से डरी हुई है.

13:17 PM

Kisan Samman Nidhi: किसान सम्मान निधि योजना से कौन बाहर?

देश के कई राज्यों के किसान आय अधिक होने के कारण किसान सम्मान निधि योजना से बाहर हो गए हैं. इसमें महाराष्ट्र के 11.5 फीसदी, राजस्थान के 15.5 फीसदी, उत्तर प्रदेश के 16.5 फीसदी, तमिलनाडु के 30.8 फीसदी, गुजरात में 18.7 फीसदी और झारखंड में 30.4 फीसदी किसान शामिल हैं. कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा की तरफ से ये पूरी जानकारी पिछले संसद सत्र में विस्तार से दी गई थी.

12:44 PM

Priyanka Gandhi On Farmers: क्या किसानों का सम्मान नहीं- प्रियंका गांधी

अलीगढ़ में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि बीजेपी 10 साल से सत्ता में है. जी20 समिट जैसे कई बड़े आयोजन हुए. सभी ने कहा कि ऐसे आयोजनों से देश का मान-सम्मान बढ़ रहा है. हम भी इस बात से खुश होते हैं लेकिन मैं पूछना चाहती हूं कि क्या देश का सम्मान युवाओं, हमारे पुलिसकर्मियों और छात्रों से नहीं जुड़ा है? युवाओं के लिए रोजगार नहीं हैं. किसान अभी भी सड़कों पर बैठे हैं.

12:13 PM

Famers Protest: किसान निधि के दायरे से क्यों बाहर हुए किसान?

पांच एकड़ से कम जमीन वाले किसानों को मिलने वाली प्रधानमंत्री किसान निधि योजना से पंजाब के करीब 7.74 लाख किसान बहार हो गए हैं. किसानों को हर साल इस निधि से 6 हजार रुपये तीन किस्तों में मिलते हैं. साल 2022-2023 में इस निधि के तहत पंजाब में 17.07 लाख किसानों को फायदा मिलता था. जो इस साल 2023-2024 में करीब 45 फीसदी कम होकर 9.33 लाख किसानों तक ही पहुंच रही है. कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा की ओर से ये पूरी जानकारी पिछले संसद सत्र में विस्तार से दी गई थी.

11:35 AM

Gehlot On Kisan Andolan: गहलोत ने उठाया किसानों पर अत्याचार का मुद्दा

राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि भाजपा की सरकारें जनता को भ्रमित कर रही हैं. उनसे हाथ जोड़कर अपील करता हूं कि हमारी जनहित की योजनाओं को बंद नहीं करें. गहलोत ने किसानों पर अत्याचार का भी आरोप लगाया.

11:09 AM

Kisan Andolan: किसानों के मुद्दे पर राहुल गांधी ने केंद्र पर साधा निशाना

राहुल गांधी ने कहा कि नफरत के बाजार में मोहब्बत की दुकान का नारा हम लोगों ने दिया है. नफरत-हिंसा फैलाने का कारण क्या है? किसानों-मजदूरों ने बताया कि हिंसा-नफरत का कारण अन्याय है. 24 घंटे गरीब, किसान, दुकानदार और सड़कों पर महिलाओं के साथ अन्याय होता है. इसीलिए हमारी दूसरी यात्रा में हमने भारत जोड़ो न्याय यात्रा नाम रखा.

10:39 AM

Sanjay Raut On Farmers Protest: संजय राउत का बीजेपी पर निशाना

संजय राउत ने संदेशखाली में बीजेपी के प्रदर्शन पर कहा कि दिल्ली के बार्डर पर किसानों के साथ क्या बर्ताव किया जा रहा है पहले किसानों पर बीजेपी के नेता बोलें. फिर हमास गाजा पर बात करें. जहां पर बीजेपी का शासन नहीं है वहां पर बीजेपी ऐसा कर रही है. महाविकास अघाड़ी में सभी को बराबर का दर्जा मिल रहा है.

10:13 AM

Haryana Internet News: हरियाणा में इंटरनेट बहाल

हरियाणा में इंटरनेट सेवाओं को बहाल किया गया है. 7 जिलों में बंद इंटरनेट सेवा फिर से चालू हो गई है. किसान आंदोलन के चलते इंटरनेट सेवाओं पर पाबंदी लगाई गई थी. बीते 11 फरवरी से सात जिलों में इंटरनेट अंबाला, कुरुक्षेत्र, जींद, कैथल, हिसार, सिरसा और फतेहाबाद में बंद था.

09:39 AM

Farmers Protest: पुतला फूंकने की तैयारी में किसान

किसान नेता सरवन सिंह पंढेर ने कहा है कि 26 फरवरी को देश के गांवों में सुबह-सुबह WTO के पुतले फूंके जाएंगे. इसके अलावा दोपहर 3 बजे WTO के बड़े पुतले शंभू और खनौरी बॉर्डर पर फूंके जाएंगे. WTO के अलावा सरकार और कारपोरेट हाऊस के पुतले भी फूंके जाएंगे.

09:15 AM

Kisan Andolan: पवार का केंद्र पर निशाना

NCP नेता शरद पवार ने कहा कि आजकल किसान संकट में हैं. मनमोहन सिंह के कार्यकाल के दौरान, जब हमें पता चला कि किसान लोन के कारण आत्महत्या कर रहे हैं, तो प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने किसानों का 70,000 करोड़ रुपये का कर्ज माफ कर दिया था. किसान सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन यह सरकार उनकी बात नहीं सुन रही है. यह सरकार हमारे किसानों का सम्मान नहीं करती है इसलिए हमें उन्हें सत्ता से हटाना होगा.

08:47 AM

Kisan Andolan: एग्रीकल्चर सेक्टर को WTO से बाहर निकालने की मांग

किसान नेता सरवन सिंह पंढेर ने कहा कि आज शंभू और खनौरी में मोर्चों का 13वां दिन है. आज हम दोनों सीमाओं पर एक सम्मेलन करेंगे क्योंकि WTO पर चर्चा होगी. हमने भारत सरकार से मांग की है कि सरकार एग्रीकल्चर सेक्टर को WTO से बाहर निकालें. हम शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. 26 फरवरी की दोपहर में दोनों बॉर्डरों पर 20 फीट से ऊंचे पुतलों का दहन किया जाएगा. 27 फरवरी को किसान मजदूर मोर्चा, SKM (गैर राजनीतिक) देश भर के अपने सभी नेताओं की बैठक करेगा.

08:16 AM

Farmers Protest: पीएम मोदी से आंदोलन पर बोलने की मांग

किसान नेता सरवन सिंह पंढेर के मुताबिक, 28 फरवरी को किसान मजदूर मोर्चा और SKM (गैर राजनीतिक) दोनों मंच पर बैठेंगे और चर्चा करेंगे. 29 फरवरी को अगले कदम को लेकर फैसला किया जाएगा. हम प्रधानमंत्री मोदी से किसानों के साथ जो कुछ भी हो रहा है उस पर बोलने की मांग कर रहे हैं.

07:31 AM

Kisan Andolan Latest Updates: किसानों का एक्शन प्लान

किसान नेता सरवन सिंह पंढेर ने कहा कि ये आंदोलन मांगें पूरी होने तक जारी रहेगा. अभी तक लिखित में भारत सरकार की तरफ से कोई प्रस्ताव नहीं मिला है. हमने कोई कंडीशन नहीं लगाई है. पंढेर ने एक्शन प्लान के बारे में बताया कि 25 फरवरी को शंभू और खनौरी बॉर्डर पर WTO के मुद्दे पर सम्मेलन करके देशभर के किसानों को जागरूक किया जाएगा.

07:05 AM

Farmers Protest: दिल्लीवासियों को बड़ी राहत

बता दें कि कई दिन से बंद टिकरी बॉर्डर पर नेशनल हाइवे 9 की सड़क पर बैरिकेडिंग हटाई जा रही है. बड़ी-बड़ी मशीनों की मदद से कंक्रीट के बैरिकेड और लोहे के कंटेनर को उठाकर साइड  में रखा गया. हालांकि, बहादुरगढ़ के सेक्टर 9 मोड पर पुलिस ने जो पक्की दीवार सड़क के बीचों बीच बनी है और लोहे के कंक्रीट के बैरिकेड बनाकर पक्का मोर्चा बनाया है वह फिलहाल नहीं हटेगा. एमएसपी पर कानूनी गारंटी के साथ-साथ कई और मांगों को लेकर किसान एक बार फिर सड़कों पर हैं. हालांकि उन्हें शंभू बॉर्डर पर रोका गया है. अब किसान 29 फरवरी को बैठक के बाद दिल्ली कूच के बारे में अंतिम फैसला करेंगे.

07:00 AM

Farmers Protest Traffice Updates: खुल गया सिंघु और टिकरी बॉर्डर

पिछले किसान आंदोलन को देखते हुए सरकार ने इस बार उन्हें रोकने के लिए बड़ी तैयारी की है. हालांकि, दिल्ली की सीमाओं पर बैरिकेडिंग और सुरक्षा के चलते लोगों को जाम से जूझना पड़ रहा है. हालांकि सरकार की ओर से आम लोगों को जाम से मुक्ति दिलाने की कवायद चल रही है. कोर्ट तक मामला पहुंचने के बाद सरकार ने सिंघु और टिकरी बॉर्डर को खोल दिया है. इससे पहले इन बॉर्डर पर पुलिस प्रशासन की ओर से बैरिकेडिंग की गई थी. कंटीले तार लगाए गए थे, जिसकी वजह से NCR के लोगों को जाम की समस्या से दोचार होना पड़ रहा था.

Trending news