Jaat Akhada Murder Case: आरोपी सुखविंदर को फांसी की सजा, मासूम के सिर में मारी थी गोली
Advertisement

Jaat Akhada Murder Case: आरोपी सुखविंदर को फांसी की सजा, मासूम के सिर में मारी थी गोली

Jaat Akhada Murder Case:  उत्तरप्रदेश की मथुरा की रहने वाली पूजा तोमर रोहतक के जाट कॉलेज में अखाड़े में ट्रेनिंग करती थीं, जहां उन्होंने मुख्य कोच से शियाकत दी थी कि कोच सुखविंदर द्वारा उसे परेशान किया जा रहा है और उसे शादी के लिए दबाव बनाया जा रहा है.

Jaat Akhada Murder Case: आरोपी सुखविंदर को फांसी की सजा, मासूम के सिर में मारी थी गोली

Jaat Akhada Murder Case: हरियाणा के रोहतक में हुए जाट अखारा हत्याकांड के मामले में कोर्ट ने सुखविंदर कोच को फांसी की सजा सुनाई है. वहीं इस मामले में मनोज फौजी को 3 साल की जेल की सजा हुई है. बीते 21 फरवरी बुधवार को इस मामले में कोर्ट ने फैसला नहीं सुनाया था, जिसके बाद आज दोषियों को सजा सुनाई गई है.

21 फरवरी के दिन हुई थी सुनवाई
बीते 21 फरवरी के दिन इस केस के दोषियों की दलीलें सुनीं गई थी. इस दौरान करीब 25 मिनट तक बहस चली थी. इसके बाद शुक्रवार का दिन सजा सुनाने के लिए तय की गई थी, जिसके बाद आज कोर्ट का फैसला आया है. इस केस में सुरविंदर कोच पर 6 लोगों की हत्या करने का आरोप लगा था, जिसमें ढाई साल की एक मासूम भी शामिल था. यह पूरी घटना 12 फरवरी 2021 की है.

अदालत से मांगी रहम
दूसरी ओर आरोपी पक्ष ने कोर्ट का फैसला आने के बाद अदालत से रहम की भीख मांगी थी. इसके साथ ही अपना जुर्म भी कबूला था, लेकिन कोर्ट की ओर से उनकी सजा में कोई कमी नहीं की गई थी. ऊल्टे कोर्ट ने आरोपित पक्ष से कहा कि ढाई साल का सरताज क्या किसी का बेटा नहीं था.

जाट कॉलेज में करती थी ट्रेनिंग
बता दें रिकॉर्ड के मुताबिक उत्तरप्रदेश की मथुरा की रहने वाली पूजा तोमर रोहतक के जाट कॉलेज में अखाड़े में ट्रेनिंग करती थीं, जहां उन्होंने मुख्य कोच से शियाकत दी थी कि कोच सुखविंदर द्वारा उसे परेशान किया जा रहा है और उसे शादी के लिए दबाव बनाया जा रहा है. पूजा की शिकायत के बाद मुख्य कोच ने आरोपी सुखविंदर को इस मामले में चेतावनी दी और अखाड़ा छोड़ने की बात कही.

ये भी पढ़ें: Sonipat: महिला से शादी करने के चक्कर में प्रेमी ने दो बच्चों को उतारा मौत के घाट

छह लोगों की हुई थी मौत
इस बात से नाराज होकर आरोपी सुखविंदर ने 12 फरवरी 2021 की शाम को अखाड़े में पहुंचा इसके बाद उसने रिवाल्वर से कोच मनोज मलिक, उनकी पत्नी साक्षी मलिक, मथुरा निवासी पूजा तोमर, मांडोठी निवासी कोच सतीश और मोखरा निवासी प्रदीप को गोली मार दी.  इसके बाद आरोपी सुखविंदर मनोज मलिक के बेटे सरताज के सर में गोली मार दी. तीन दिन इलाज चलने के बाद सरताज की मौत हो गई. इसके साथ ही कॉलेज के बाद निडाना निवासी अमरजीत को भी उसने गोली मारी. इस घटना के बाद दिल्ली पुलिस ने कोच सुखविंदर को दिल्ली के बादली से गिरफ्तार किया गया. वहीं जांच में सामने आया कि यूपी के मुजफ्फर नगर निवासी मनोज ने आरोपी को हथियार अपलब्ध कराए थे.

Trending news