Ghaziabad News: कांग्रेस सांसद यहां करोड़ों की रकम मिलने को लेकर भाजपा जिलाध्यक्ष ने किया प्रदर्शन
trendingNow,recommendedStories0/india/delhi-ncr-haryana/delhiharyana2002726

Ghaziabad News: कांग्रेस सांसद यहां करोड़ों की रकम मिलने को लेकर भाजपा जिलाध्यक्ष ने किया प्रदर्शन

Ghaziabad News: ज्ञापन में उन्होंने लिखा कि अतिमहत्वपूर्ण विषय है और अवगत कराना चाहते हैं कि जैसा सभी समाचार पत्रों में भी प्रकाशित हुआ है कि झारखण्ड राज्य से निर्वाचित कांग्रेस पार्टी के एक राज्यसभा सांसद के परिसरों से लगभग 200 करोड़ रुपयों से अधिक की नकदी बरामद हुई है.

Ghaziabad News: कांग्रेस सांसद यहां करोड़ों की रकम मिलने को लेकर भाजपा जिलाध्यक्ष ने किया प्रदर्शन

Ghaziabad News: झारखंड के कांग्रेस के राज्यसभा सांसद के यहां परिसर 200 करोड़ की नगदी मिलने के विरोध में आज गाजियाबाद की महानगर भाजपा की टीम ने कलेक्टर परिसर के अंदर जिलाधिकारी को राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन दिया, जिसमें महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा ने राष्ट्रपति को ज्ञापन लिखा.

ज्ञापन में उन्होंने लिखा कि अतिमहत्वपूर्ण विषय है और अवगत कराना चाहते हैं कि जैसा सभी समाचार पत्रों में भी प्रकाशित हुआ है कि झारखण्ड राज्य से निर्वाचित कांग्रेस पार्टी के एक राज्यसभा सांसद के परिसरों से लगभग 200 करोड़ रुपयों से अधिक की नकदी बरामद हुई है, किसी के पास इतनी बड़ी मात्रा में नकदी बरामद होना चिंतनीय और गभीर विषय है और वो भी तब जब वो भारतीय संसद के सदस्य हों.

ये भी पढ़ें: Congress MP के घर से मिले 300 करोड़ कैश, 'कांग्रेसियों का स्वभाव जनता का पैसा लूटना'

महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा ने कहा कि हम राष्ट्रपति जी से निवेदन करना चाहते हैं कि कृपया इस अति संवेदनशील विषय पर इस प्रकार के अपराध हेतु समस्त प्राधिकारों प्राप्त अधिकारिक जांच प्राधिकरण से इस प्रकरण से जुड़े सभी लोगों पर चाहे वे किसी राजनीतिक पार्टी से हो, प्रभावशाली हों या अन्य हों, उकी निष्पक्ष एवं विस्तृत जांच कर दोषियों को चिह्नित कर कानून संबंधित कार्रवाई सुनिश्चित कराने की कृपा करें.

ये आर्थिक अपराध की वो श्रेणी है, जिससे राष्ट्र के विकास में अपूर्णीय क्षति होती है और एक चयनित या मनोनीत जनप्रतिनिधि यदि इस प्रकार का आर्थिक अपराध करता है तो वह राष्ट्र की जनता के साथ राष्ट्र के संप्रभुता का भी अपराधी है और यह अपराध अक्षम्य है. इसके लिए वो राजनैतिक दल भी दोषी हैं, जिन्होंने ऐसे देशद्रोही अपराधियों को अपने दल से चयनित कर संसद का सदस्य मनोनीत किया है, ऐसे में उस राजनीतिक दल को भी इस अपराध में शामिल माना जाना चाहिए.

INPUT- PIYUSH GAUR

Trending news