Sleep Apnea : ज्यादातर भारतीयों को मोटापे के कारण होता है स्लीप एपनिया का खतरा, अध्ययन में हुआ खुलासा
trendingNow,recommendedStories0/india/bihar-jharkhand/bihar2002743

Sleep Apnea : ज्यादातर भारतीयों को मोटापे के कारण होता है स्लीप एपनिया का खतरा, अध्ययन में हुआ खुलासा

Sleep Apnea :  स्लीप एपनिया एक बहुत खतरनाक स्थिति है जिसे नींद के दौरान सांस लेने में बाधा होती है. इसका निदान नींद के अध्ययन से किया जा सकता है और इसमें शारीरिक गतिविधि की कमी और फास्ट फूड का सेवन भी एक कारक हो सकता है.

Sleep Apnea : ज्यादातर भारतीयों को मोटापे के कारण होता है स्लीप एपनिया का खतरा, अध्ययन में हुआ खुलासा

Sleep Apnea : मोटापा कई समस्याओं से जुड़ा हो सकता है जैसे कि ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया, नींद संबंधी विकार, टाइप 2 मधुमेह, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग और ऑस्टियोआर्थराइटिस आदि. अमेरिका में 42% लोगों को मोटापा है और इसमें से कम से कम 30% लोग नींद से पीड़ित हैं, जो अधिकतम वजन के लोगों के लिए आम समस्या है. मोटापा से ग्रस्त लोगों में ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया का खतरा अधिक होता है, जो एक विकार है जिससे कई स्वास्थ्य समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं.

एक अध्ययन के अनुसार अमेरिका में मोटापे की व्यापकता बढ़ रही है और इससे नींद संबंधी समस्याओं के मामले भी बढ़ रहे हैं. डॉक्टरों के अनुसार यह मोटापे की महामारी हमारे लिए खतरे की घंटी है, क्योंकि इससे स्लीप एप्निया के मामले बढ़ रहे हैं. भारत में भी मोटापा की समस्या बढ़ रही है, जैसा कि एक 2023 का अध्ययन दिखाता है, जिसमें 18-54 वर्ष की आयु के कम से कम 13.8% लोग मोटापे से प्रभावित हैं.

स्लीप एपनिया एक बहुत खतरनाक स्थिति है जिसे नींद के दौरान सांस लेने में बाधा होती है. इसका निदान नींद के अध्ययन से किया जा सकता है और इसमें शारीरिक गतिविधि की कमी और फास्ट फूड का सेवन भी एक कारक हो सकता है. डॉक्टर ने बताया कि वजन कम करना इस समस्या का प्रबंधन करने में महत्वपूर्ण है और यह लंबे समय तक स्वास्थ्य पर प्रभाव डाल सकता है.

मोटापे के कारण से ऊपरी वायुमार्ग में वसा जमा होने से स्लीप एपनिया हो सकता है, जिससे व्यक्ति को नींद के दौरान सांस लेने में कठिनाई होती है. इसका प्रबंधन वजन कम करने के साथ-साथ नियमित वायुमार्ग दबाव चिकित्सा और अन्य उपायों के माध्यम से किया जा सकता है. इस सभी का मुख्य संदेश है कि स्वस्थ जीवनशैली, सही आहार और नियमित व्यायाम के माध्यम से हम मोटापे और संबंधित समस्याओं से बच सकते हैं. इससे न केवल वजन कम होगा, बल्कि सारे शारीरिक समस्याओं का भी समाधान हो सकता है.

Disclaimer: यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि इस पर विशेषज्ञ की सलाह ली जाए और व्यक्तिगत स्वास्थ्य स्थिति के आधार पर उपयुक्त उपायों को अपनाया जाए.

ये भी पढ़िए-  विशेष राज्य के दर्जे के लिए सीएम नीतीश ने फिर बुलंद की आवाज, गिनाए इसके फायदे

 

Trending news