Lok Sabha Election 2024: 'मोदी झूठों के सरदार हैं...', क्या कांग्रेस अध्यक्ष ने तेजस्वी की पूरी मेहनत पर पानी फेर दिया?
Advertisement

Lok Sabha Election 2024: 'मोदी झूठों के सरदार हैं...', क्या कांग्रेस अध्यक्ष ने तेजस्वी की पूरी मेहनत पर पानी फेर दिया?

Lok Sabha Election 2024: रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रधानमंत्री मोदी पर व्यक्तिगत हमला करते हुए उन्हें 'झूठों का सरदार' बता दिया. अब राजनीतिक पंडितों का कहना है कि कांग्रेस अध्यक्ष को पीएम मोदी पर व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी. उनका कहना है कि कांग्रेसी नेताओं ने जब-जब पीएम मोदी पर निजी हमला किया है, तब-तब उन्हें करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा.

मल्लिकार्जुन खड़गे

Lok Sabha Election 2024: बिहार में इंडिया ब्लॉक की ओर से लोकसभा चुनाव का शंखनाद कर दिया गया है. पटना के गांधी मैदान में आज (रविवार, 3 मार्च) को राजद की ओर से जन विश्वास महारैली का आयोजन किया गया था. इसमें राजद सुप्रीमो लालू यादव और तेजस्वी यादव के साथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मलिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस सांसद राहुल गांधी, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य, सीपीआई नेता डी. राजा भी शामिल हुए. इस महारैली में उमड़ी भीड़ को देखकर महागठबंधन के नेता गदगद हो गए. इस रैली को सफल बनाने का पूर श्रेय लालू यादव के छोटे बेटे और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को जाता है. उन्होंने पूरे बिहार में जन विश्वास यात्रा निकालकर इस महारैली का आयोजन किया था. रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे थोड़ा ज्यादा ही उत्साहित हो गए और उन्होंने पीएम मोदी पर व्यक्तिगत टिप्पणी कर दी. अब कहा जा रहा है कि खड़गे ने तेजस्वी की पूरी मेहनत पर पानी फेर दिया.

दरअसल, रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री मोदी पर व्यक्तिगत हमला करते हुए उन्हें 'झूठों का सरदार' बता दिया. खड़गे ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी झूठों के सरदार हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने जनता से झूठ बोला है. लोगों को धोखा देना ही प्रधानमंत्री मोदी की गारंटी है. प्रधानमंत्री ने हर साल दो लाख नौकरियां देने, सभी के बैंक खाते में 15 लाख रुपये जमा करने और हर परिवार को पक्का मकान देने का वादा किया था. उन्होंने पूछा कि क्या अब तक जनता को ये सुविधाएं मिल पाई हैं? खड़गे ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि नौकरी के अभाव के कारण मोदी के शासनकाल में पिछले तीन वर्षों में 25 हजार लोगों ने आत्महत्या कर ली है. 

ये भी पढ़ें- Jan Vishwas Rally: राहुल गांधी ने पटना में खोली 'मोहब्बत की दुकान', बोले- एक तरफ हिंसा-अहंकार दूसरी तरफ प्यार-भाईचारा

पीएम मोदी पर निजी हमला करने में राजद अध्यक्ष लालू यादव भी पीछे नहीं रहे. महारैली में लालू यादव अपने पुराने अंदाज में दिखे और पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि ये नरेंद्र मोदी आजकल परिवारवाद पर हमला कर रहा है. तुमको क्यों कोई संतान नहीं हुआ बताओ. परिवारवाद पर प्रधानमंत्री को जवाब देते हुए राजद अध्यक्ष ने कहा कि ज्यादा संतान होने वाले लोगों को बोलता है कि परिवार के लिए लोग लड़ रहे हैं. तुम्हारे पास परिवार नहीं है. लालू यादव यहीं नहीं रुके. उन्होंने आगे कहा कि मोदी कोई असल हिंदू नहीं है. उन्होंने आगे कि मोदी जी कि जब माता जी का देहांत हुआ तो हर हिन्दू अपनी मां के शोक में बाल-दाढ़ी बनवाता है, लेकिन मोदी ने यह क्यों नहीं किया?

बीजेपी ने इसे मुद्दा बना लिया है. भाजपा ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. निखिल आनंद ने कहा कि देशभर के विपक्षी नेताओं ने पटना में इंडी गठबंधन की विफलता पर सामूहिक शोकगीत गाया. पीएम नरेंद्र मोदी पर व्यक्तिगत लांक्षण लगाए गए हैं. आज महागठबंधन के नेताओं ने अपनी हार स्वीकार कर ली है. इससे नरेंद्र मोदी के तीसरी बार पीएम बनने का रास्ता साफ हो गया है. बीजेपी नेता ने कहा कि रैली में राजद ने सभी भ्रष्ट, निराश और सेवानिवृत्ति के कगार पर पहुंच चुके नेताओं को इकट्ठा करके अपनी छवि बदलने की असफल कोशिश की. लेकिन लोकसभा चुनाव से पहले ही इंडी अलायंस का अस्तित्व खत्म हो चुका है. 

ये भी पढ़ें- Jan Vishwas Rally: BJP से हमेशा हारने वाले अखिलेश ने भी दिया मोदी को हराने का फॉर्मूला, क्या तेजस्वी की मेहनत से कुछ सीखेंगे सपा अध्यक्ष?

वहीं राजनीतिक पंडितों का कहना है कि कांग्रेस अध्यक्ष को पीएम मोदी पर व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी. उनका कहना है कि कांग्रेसी नेताओं ने जब-जब पीएम मोदी पर निजी हमला किया है, तब-तब उन्हें करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा. पिछले साल पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में भी कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर निजी हमला किया था. राहुल गांधी ने राजस्थान चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी को 'पनौती' कहकर संबोधित किया था. जब रिजल्ट आया था तब हिंदीभाषी तीनों राज्यों में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया था. कुछ ऐसा ही राहुल की मां सोनिया गांधी ने गुजरात चुनावों के दौरान पीएम मोदी को 'मौत का सौदागर' बता दिया था. कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने 2014 और 2019 में मोदी पर निजी टिप्पणी की थी. उसके बाद का परिणाम सबको पता है.

Trending news