Fame Scheme: सरकार के इस फैसले से महंगी होने वाली हैं 'Electric Vehicles', जल्दी करें बुकिंग!
Advertisement

Fame Scheme: सरकार के इस फैसले से महंगी होने वाली हैं 'Electric Vehicles', जल्दी करें बुकिंग!

Electric Vehicle का शौक रखने वालों के लिए एक बुरी खबर सामने आई है. दरअसल सरकार ने 31 मार्च के बाद से FAME-II स्कीम के तहत मिलने वाली सब्सिडी पर रोक लगा दी है. ऐसे में अब Electric Vehicle खरीदने पर आपकी जेब पर ज्यादा असर पड़ेगा, जानें क्या है पूरा मामला.

 

Fame Scheme:  सरकार के इस फैसले से महंगी होने वाली हैं 'Electric Vehicles', जल्दी करें बुकिंग!

What is Fame Scheme: अगर आप भी हाल-फिलहाल में Electric Vehicle खरीदने की सोच रहे हैं. तो इस काम में बिल्कुल भी देरी ना करें, और 31 मार्च से पहले तक अपनी गाड़ी खरीद लें. क्योंकि 31 मार्च के बाद Electric Vehicle की कीमतों में काफी इजाफा होने वाला है. इस तारीख के बाद FAME-II स्कीम के तहत मिलने वाली सब्सिडी पर सरकार रोक लगाने जा रही है. इसलिए 31 मार्च के बाद बिकने वाली किसी भी Electric Vehicle पर FAME-II स्कीम वाली सब्सिडी लागू नहीं होगी. इसका मतलब साफ है कि अगर आप इस महीने के बाद गाड़ी खरीदते हैं तो आपको गाड़ियां महंगी कीमतों पर मिलेंगी. 

EV पर मिल रहा 20 से 35 हजार रुपये तक का डिस्काउंटः
FAME-II स्कीम बंद हो जाने से ग्राहक के साथ साथ कार कंपनियों को भी भारी नुकसान का सामना करना पड़ेगा. इसलिए कंपनियों ने अपनी स्टॉक में पड़ी सभी गाड़ियों को निकालने के लिए ग्राहकों को भारी डिस्काउंट दे रही हैं. तमाम कंपनियां अपनी गाड़ियों पर 20 से 35 हजार रुपये तक का डिस्काउंट दे रही हैं.

क्या है FAME स्कीमः
FAME यानी फास्टर एडोप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल स्कीम. इसकी शुरुआत केंद्र सरकार ने साल 2015 में FAME India-1 के नाम से किया था, इसका मकसद देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल को बढ़ावा देना था. इसके बाद इसके Expand Version FAME-II स्कीम को 1 अप्रैल 2019 में शुरू किया गया. इस स्कीम के तहत सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों को तेज़ी से अपनाने और उसके Production के लिए कंपनियों को 50 फीसद से ज्यादा की सब्सिडी देती है. लेकिन अगर कंपनियां सरकार के rules को तोड़ती हैं तो उसे जुर्माना भी चुकाना पड़ता है. केंद्र सरकार ने FAME India-1 स्कीम के तहत 800 करोड़ रुपए और Fame 2 के तहत 10 हजार करोड़ रुपए आवंटित किए गए थे. लेकिन अब सरकार इस स्कीम को बंद करने की तैयारी में है. 

 

Trending news