Canada में राम मंदिर की दीवारों पर लिखे गए भारत विरोधी नारे, भारतीय दूतावास ने की कार्रवाई की मांग
trendingNow11572310

Canada में राम मंदिर की दीवारों पर लिखे गए भारत विरोधी नारे, भारतीय दूतावास ने की कार्रवाई की मांग

Canada Hindu Temple: यह पहली बार नहीं है कि कनाडा में एक हिंदू मंदिर को भारत विरोधी चित्रों से विरूपित किया गया है. इसी साल जनवरी में कनाडा के ब्रैम्पटन में एक प्रसिद्ध हिंदू मंदिर पर भारत विरोधी भित्तिचित्र बनाकर उसे विरूपित किया गया.

फोटो - ANI

Canada  News: कनाडा में एक बार फिर हिंदू मंदिर को भारत विरोधी नारों और भित्तिचित्रों से विरुपित किया गया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक मंगलवार (स्थानीय समय) को टोरंटो में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने इस घटना की कड़ी निंदा की है और कनाडा के अधिकारियों से घटना की जांच करने और अपराधियों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई करने का अनुरोध किया.

टोरंटो में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने ट्वीट किया, ‘हम मिसिसॉगा में भारत विरोधी भित्तिचित्रों के साथ राम मंदिर को विरुपित करने की कड़ी निंदा करते हैं. हमने कनाडा के अधिकारियों से घटना की जांच करने और दोषियों पर त्वरित कार्रवाई करने का अनुरोध किया है.

हिंदू मंदिरों को विरुपित करने के कई मामले आए सामने
बता दें यह पहली बार नहीं है कि कनाडा में एक हिंदू मंदिर को भारत विरोधी चित्रों से विरूपित किया गया है. इसी साल जनवरी में कनाडा के ब्रैम्पटन में एक प्रसिद्ध हिंदू मंदिर पर भारत विरोधी भित्तिचित्र बनाकर उसे विरूपित किया गया.

टोरंटो में भारतीय महावाणिज्य दूतावास ने गौरी शंकर मंदिर में तोड़फोड़ की घटना की निंदा करते हुए कहा था कि मंदिर को विरूपित करने से कनाडा में भारतीय समुदाय की भावनाओं को गहरी ठेस पहुंची है.

इससे पहले सितंबर 2022 में, कनाडा में BAPS स्वामीनारायण मंदिर को 'कनाडाई खालिस्तानी चरमपंथियों' द्वारा भारत विरोधी चित्रों के साथ विरूपित किया गया था. इसके अलावा, ग्रेटर टोरंटो एरिया (जीटीए) में रिचमंड हिल में विष्णु मंदिर में महात्मा गांधी की एक प्रतिमा को जुलाई 2022 में विरूपित किया गया था.

सितंबर में विदेश मंत्रालय ने जारी किया था बयान
भारतीय विदेश मंत्रालय ने पिछले साल सितंबर में एक बयान जारी कर कहा था कि भारतीयों के खिलाफ घृणा अपराधों और कनाडा में अन्य ‘भारत विरोधी गतिविधियों में तेजी से बढ़ोतरी’ हुई है. भारत ने कनाडा सरकार से घटनाओं की ठीक से जांच करने का आग्रह भी किया था.

(इनपुट - एजेंसी)

हिंदी ख़बरों के लिए भारत की पहली पसंद  Zeenews.com/Hindi - सबसे पहले, सबसे आगे

Trending news