विश्वकर्मा योजना: पीएम मोदी ने लॉन्च किया PM Vishwakarma Yojana, बेहद कम ब्याज पर इन कामगारों को मिलेगा लाखों का लोन
trendingNow,recommendedStories0/india/up-uttarakhand/uputtarakhand1875132

विश्वकर्मा योजना: पीएम मोदी ने लॉन्च किया PM Vishwakarma Yojana, बेहद कम ब्याज पर इन कामगारों को मिलेगा लाखों का लोन

PM Vishwakarma Yojana: पीएम मोदी के द्वारा लॉन्च की गई इस योजना के तहत बायोमेट्रिक पीएम विश्वकर्मा पोर्टल (PM Vishwakarma portal) का इस्तेमाल भी किया जा सके जिसके जरिए कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) से विश्वकर्माओं का फ्री रजिस्ट्रेशन हो पाएगा.

PM Vishwakarma Yojana 2023

PM Vishwakarma Yojana: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के द्वारा आज यानी 17 सितंबर, 2023 को विश्वकर्मा जयंती (Vishwakarma Jayanti) के मौके पर 'पीएम विश्वकर्मा' (PM Vishwakarma) योजना को लॉन्च कर दिया गया. इसी साल स्वतंत्रता दिवस के पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना (PM Vishwakarma Yojana) को लेकर घोषणा की थी.

आर्थिक मदद 
इस योजना को लेकर केंद्रीय बजट 2023-24 में भी घोषणा की थी. मोदी सरकार का फोकस पारंपरिक शिल्प में जुटे शिल्पकारों और कारीगरों की सहायता करने पर तो रहा ही है इसके साथ ही कारीगरों और शिल्पकारों को आर्थिक मदद देने पर भी सरकार का फोकस रहा है, इस योजना के लॉन्च को उसी फोकस पर ध्यान देते हुए कदम बढ़ाने के तौर पर देखा जा  सकता है. 

फ्री रजिस्ट्रेशन
पीएम विश्वकर्मा (PM Vishwakarma) की पूरी फंडिंग केंद्र सरकार के द्वारा की जाएगी जिसके लिए 13,000 करोड़ रुपये का आउटले तैयार किया गया है. इस योजना के जरिए पीएम विश्वकर्मा पोर्टल (PM Vishwakarma portal) को इस्तेमाल में लाया जाएगा जो बायोमेट्रिक आधारित होगा. इस पोर्टल के तहत कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) के जरिए लाभार्थियों का फ्री में ही रजिस्ट्रेशन किया जा सकेगा. 

क्या क्या दिया जाएगा
इस योजना के तहत लाभार्थियों को क्या क्या दिया जाए जाए आइए इसकी लिस्ट एक बारे देख लीजिए. 
पीएम विश्वकर्मा सर्टिफिकेट व आईडी कार्ड
बेसिक और एडवांस ट्रेनिंग से जुड़े स्किल अपग्रेडेशन
15,000 रुपये का टूलकिट प्रोत्साहन
पहली किस्त में 5%की रियायती ब्याज दर पर 1 लाख रुपये
दूसरी किस्त पर 2 लाख रुपये तक कोलेटरल फ्री क्रेडिट सपोर्ट
डिजिटल ट्रांजेक्शन के लिए इन्सेंटिंव
मार्केटिंग सपोर्ट के जरिए मान्यता 
स्किल ट्रेनिंग और 500 रुपये प्रतिदिन स्टाइपेंड मिलेंगे.

किस-किस को मिलेगा लाभ
पूरे भारत में यह योजना ग्रामीण व शहरी इलाकों के के कारीगरों और शिल्पकारों की मदद करेगी. इस योजना के अंतर्गत 18 पारंपरिक व्यवसायों को लिस्ट में रखा गया है. 
कारपेंटर, नाव बनाने वाले
अस्त्र बनाने वाले, लोहार
ताला बनाने वाले
हथौड़ा और टूलकिट निर्माता
सुनार, कुम्हार, मूर्तिकार
मोची, राज मिस्त्री, डलिया
चटाई, झाड़ू बनाने वाले
पारंपरिक गुड़िया और खिलौने बनाने वाले
नाई, मालाकार, धोभी
दर्जा, मछली का जाल बनाने वाले

Trending news