trendingPhotos,recommendedPhotos/india/up-uttarakhand/uputtarakhand1987986
photoDetails0hindi

सर्दी में कितने लीटर पानी पीना है जरूरी, कहीं लापरवाही न पड़ जाए भारी

पानी हमारे शरीर के लिए कितना महत्वपूर्ण है. यह बात तो हम सभी भलीभांति जानते हैं. पानी के बिना हम अपने जीवन की परिकल्पना तक नहीं कर सकते हैं. गर्मी के समय तो हम पानी पीने पर खूब ध्यान देते हैं. लेकिन सर्दी के समय पानी पीने को लेकर लापरवाह हो जाते हैं. सर्दीयों में कम पानी पीना शुरू कर देतो है. सभी ऐसा लगता है कि सर्दी  में हमारे शरीर को कम पानी की आवश्यकता होती है. लेकिन यह जानना बेहद जरूरी है कि सर्दी के समय हमें कितना पानी पीना चाहिए. 

3 से 3.5 लीटर

1/8
 3 से 3.5 लीटर

हमारे बॉडी की मेकानिज्म ऐसी नहीं है कि गर्मी में ज्यादा पानी पीना होता है और ठंडी में कम पानी पीना चाहिए. हमें सर्दी के दिन में भी लगभग 8 से 10 गिलास पानी तो पीना ही चाहिए मतलब 3 से 3.5 लीटर.

 

मरुअत

2/8
 मरुअत

सर्दी का मौसम शुरू हो गया है. इस मौसम में सबसे ज्यादा मरुअत हम पानी पीने में करते हैं. अक्सर लोग ऐसा सोचते है कि ठंडी के मौसम मे गर्मी के मुकाबले कम पानी की आवश्यकता होती है

कम प्यास

3/8
 कम प्यास

ठंडे वातावरण के कारण हमें सर्दी में कम प्यास लगती है. लेकिन हमारे शरीर को तो पानी की उतनी ही आवश्यकता होती है जितनी की गर्मियों में है.

 

वातावरण

4/8
 वातावरण

पानी की प्यास कई बात पर निर्भर करती है. हमारे आसपास के वातावरण से इसका सीधा संबंध है. क्योंकि जहां गर्म प्रदेशों में लोग ज्यादा पानी पीते हैं वहीं ठंडे प्रदेशों में कम पानी पीते हैं. 

हाइड्रेट

5/8
हाइड्रेट

गर्मी के समय हमारे शरीर से पसीने के तौर पानी निकल जाता है. इसलिए बॉडी को हाइड्रेट रखने के लिए ज्यादा पानी पीते वहीं सर्दियों में ऐसा नहीं होता है.

 

उम्र

6/8
उम्र

उम्र का भी प्यास से सीधा संबंध है, क्योंकि जहां कम उम्र के बच्चे भागते दौड़ते रहते हैं और ज्यादा शारीरिक गितिविधि करते हैं, तो उन्हें ज्यादा पानी की आवश्यकता होती है. वहीं उम्र बढ़ने के साथ हमें कम पानी की जरूरत होती है.

गर्म दवाओं

7/8
गर्म दवाओं

कई तरह की बीमारियों में मरीज को ज्यादा पानी की आवश्यकता होती है. गर्म दवाओं के सेवन से उनका पानी इनटेक बढ़ जाता है.

disclaimer:

8/8
disclaimer:

यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. ZEE UP/UK इसकी पुष्टि नहीं करता है.