श्रीगंगानगर: नाबालिग लड़की के अपहरण पर भाजपा की सियासत, जानिए पूरा मामला
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1872660

श्रीगंगानगर: नाबालिग लड़की के अपहरण पर भाजपा की सियासत, जानिए पूरा मामला

श्रीगंगानगर: नाबालिग लड़की के अपहरण पर भाजपा की सियासत देखने को मिल रही है, जानिए ये पूरा मामला क्या है और पुलिस की मामले पर क्या कहना है.

श्रीगंगानगर: नाबालिग लड़की के अपहरण पर भाजपा की सियासत, जानिए पूरा मामला

Anupgarh, Sriganganagar news: अनूपगढ़ जिला कलेक्ट्रेट के सामने नाबालिक बच्ची को बरामद करने की मांग को लेकर चला आ रहा अनशन गुरुवार देर शाम पुलिस अधिकारियों के 7 दिनों में नाबालिक लड़की को दस्तयाब करने के आश्वासन के बाद समाप्त हो गया, लेकिन इस अनशन के दौरान भाजपा की तरफ से एक सियासत भी देखने को मिली.

दरअसल छतरगढ़ पुलिस थाना क्षेत्र के एक बूढ़े मां-बाप की नाबालिक बच्ची का साढ़े 3 महीने पहले अपहरण हो गया था. जिसका मामला छतरगढ़ पुलिस थाने में भी दर्ज करवाया गया था और लड़की को बरामद करने की मांग परिजनों के द्वारा की जा रही थी.

लड़की को बरामद करने की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट के सामने चार दिनों से अनशन चल आ रहा था. इस मामले में अनूपगढ़ विधायक संतोष बावरी ने कांग्रेस सरकार पर जमकर निशाने साधे.विधायक बावरी ने कहा कि कांग्रेस के शासन में कानून व्यवस्था बिगड़ चुकी है. वहीं इस मामले में पीड़ित परिवार के लोगों ने बताया कि एक अन्य भाजपा नेता नरसीराम ने हैरानी जनक भरी बात कही.परिजनों ने बताया कि भाजपा नेता नरसी राम ने कहा कि अगर आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई न हो तो डेढ़-दो घंटे में उनकी बेटी को पेश कर दिया जाएगा.

ऐसे में भाजपा नेताओं की सियासत खुलकर सामने आ गई है. एक तरफ तो भाजपा विधायक संतोष बावरी के द्वारा कांग्रेस सरकार पर निशाने साधे जा रहे हैं वहीं दूसरी और भाजपा नेता नरसी राम के द्वारा आरोपियों को बचाने का कार्य किया जा रहा है. मजे की बात यह है कि नरसीराम अनूपगढ़ विधानसभा से भाजपा के सिंबल के लिए अपनी उम्मीदवारी भी जता रहा है.

यह है मामला

बता दें   कि 29 मई की देर रात को छतरगढ़ थाना क्षेत्र के गांव से नाबालिक लड़की का अपहरण हो गया था. जिसका मामला परिजनों के द्वारा तीन नामजद आरोपियों के खिलाफ छतरगढ़ पुलिस थाने में दर्ज करवाया गया था. मगर पुलिस के द्वारा कोई कार्रवाई नहीं किए जाने पर,दर-दर भटकने के बाद परिजनों के द्वारा अनूपगढ़ जिला कलेक्ट्रेट के सामने चार दिन पूर्व बूढ़े मां-बाप और ताई ने अनशन शुरू किया था. परिवार के 12 सदस्यों ने अनशन शुरू कर दिया था.नाबालिक लड़की के परिजनों ने जांच अधिकारी एएसआई हरजीराम पर भी दुर्व्यवहार करने और आरोपियों को बचाने के आरोप लगाए थे.

पुलिस अधिकारियों के आश्वासन पर अनशन हुआ समाप्त

गुरुवार देर शाम खाजूवाला डीएसपी विनोद कुमार,अनूपगढ़ डीएसपी रामेश्वर लाल मौके में पहुंचे और विधायक संतोष बावरी, भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष मुकेश शर्मा परिजनों के साथ वार्ता की. वार्ता में पुलिस अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि एएसआई हरजीराम को लाइन हाजिर किया जाएगा और लड़की को 7 दिनों में दस्तयाब कर लिया जाएगा. पुलिस अधिकारियों के आश्वासन देने के बाद परिजनों ने अपना अनशन खत्म कर दिया.

ये भी पढ़ें-

Rajasthan Politics: सनातन धर्म मामले में गजेंद्र सिंह का भाषण हुआ वायरल, ओवैसी ने मंत्री पर उठाए सवाल

हां, इस उपाय से कभी नहीं होगी डायबिटीज!जिनको है उनकी रहेगी कंट्रोल

Rajasthan Weather Update: चिपचिपी गर्मी से मिलेगी राहत,आज और कल बारिश का अलर्ट

जानिए, हाईवे के इन ट्रैफिक साइन का मतलब और बचा लीजिए 'जान'

Trending news