Sri Ganganagar में नशे के कारोबार पर प्रहार, मेडिकल स्टोर से 634 प्रतिबंधित गोलियां बरामद
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1780858

Sri Ganganagar में नशे के कारोबार पर प्रहार, मेडिकल स्टोर से 634 प्रतिबंधित गोलियां बरामद

Sri Ganganagar News Today: राजस्थान में श्री गंगानगर के अनूपगढ़ के बिजली बोर्ड के पास औषधि नियंत्रण विभाग की तरफ से नशे के कारोबार पर प्रहार करते हुए एक मेडिकल स्टोर पर कार्रवाई की गई. कार्रवाई के दौरान औषधि नियत्रंण विभाग ने मौके से 634 प्रतिबंधित गोलियां तथा 27 हजार 300 रूपए जब्त किए हैं.

Sri Ganganagar में नशे के कारोबार पर प्रहार, मेडिकल स्टोर से 634 प्रतिबंधित गोलियां बरामद

Anupgarh, Sri Ganganagar News: अनूपगढ़ के बिजली बोर्ड के पास औषधि नियंत्रण विभाग की तरफ से नशे के कारोबार पर प्रहार करते हुए एक मेडिकल स्टोर पर कार्रवाई की गई. कार्रवाई के दौरान औषधि नियत्रंण विभाग ने मौके से 634 प्रतिबंधित गोलियां तथा 27 हजार 300 रूपए जब्त किए हैं.

कार्रवाई के दौरान सामने आया कि रोमन मेडिकल स्टोर के संचालक यह दवाइयां रायसिंहनगर की एक फर्म से खरीद कर लाया था. शुक्रवार देर रात्रि तक रायसिंहनगर फर्म पर कार्रवाई जारी थी. अनूपगढ़ में हुई कार्रवाई के दौरान अनूपगढ़ पुलिस थाने के एएसआई प्रीति सिंह नरूका भी मौजूद रहे.

यह भी पढ़ें- जयपुर में मालगाड़ी के डिब्बे पटरी से उतरे,अजमेर-जोधपुर जाने वालीं 7 ट्रेनें रद्द

 

मिली जानकारी के अनुसार, औषधि नियंत्रण श्रीगंगानगर की तरफ से बिजली बोर्ड के सामने स्थित रोमन मेडिकल स्टोर से 634 प्रतिबंधित गोलियां एवं बिक्री के 27300 रूपए बरामद किए हैं. ड्रग इंस्पेक्टर ने बताया कि कुछ दिन पूर्व औषधि नियंत्रण विंग को शिकायत मिली थी कि अनूपगढ़ में रोमन मेडिकल स्टोर पर प्रतिबंधित दवाएं बिक रही हैं. इंस्पेक्टर अमनदीप ने बताया कि उच्चाधिकारियों के निर्देशानुसार शुक्रवार को ड्रग इंस्पेक्टर अमृता सोनगरा और पुलिस टीम के सहयोग से मेडिकल स्टोर पर जांच की गई. निरीक्षण के दौरान मेडिकल स्टोर पर प्रतिबंधित दवाइयां मिली थी. मेडिकल स्टोर के संचालक कुलदीप सिंह से जब इन दवाइयों के बिल मांगे गए तो नशे में दुरूपयोग हो सकने वाली दवाइयों के क्रय-विक्रय बिल प्रस्तुत नहीं किए गए. 

और क्या बोले ड्रग इंस्पेक्टर 
ड्रग इंस्पेक्टर ने बताया कि बिल नहीं प्रस्तुत करने के कारण परिसर में विक्रयार्थ संग्रहित स्टॉक को फार्म 15 में अंकित कर फ्रीज किया गया है. निरीक्षण के दौरान फर्म पर लाईसेंस की शर्तों की अन्य अनियमितताएं करना भी पाया गया है. ड्रग इंस्पेक्टर अमनदीप ने बताया कि पूछताछ के दौरान स्टोर के संचालक से पता चला कि वह दवाइयां रायसिंहनगर की एक फर्म से खरीद कर लाया था. ड्रग इंस्पेक्टर ने बताया कि शुक्रवार देर रात्रि तक रायसिंहनगर की फर्म पर भी कार्रवाई की जा रही है.

क्या कहना है एएसआई पृथ्वी सिंह का
एएसआई पृथ्वी सिंह ने बताया कि इस मामले में कुलदीप सिंह (35) पुत्र निर्मल सिंह निवासी पतरोडा, कुलदीप सिंह (31) पुत्र पलविंदर सिंह, कुलदीप सिंह (30) पुत्र गुरमीत सिंह निवासी पतरोड़ा को गिरफ्तार किया गया है.

 

Trending news